एंबुलेंस से उतारी किशोरी, ऑक्सीन लगाई, इलाज शुरू

Kanpur	 Bureau कानपुर ब्यूरो
Updated Fri, 27 Aug 2021 05:23 PM IST
बांगरमऊ में सीएचसी में एंबुलेंस से उतारकर मरीज को पीकू वार्ड ले जाते स्वास्थ्य कर्मी। संवाद
बांगरमऊ में सीएचसी में एंबुलेंस से उतारकर मरीज को पीकू वार्ड ले जाते स्वास्थ्य कर्मी। संवाद - फोटो : UNNAO
विज्ञापन
ख़बर सुनें
उन्नाव। कोरोना की तीसरी लहर से पहले बच्चों के इलाज के लिए बनाए गए पीकू (पेडियॉट्रिक इंटेंसिव केयर यूनिट) वार्ड में बीमार बच्चों को भर्ती करने की मॉकड्रिल की गई। मौरावां में बने सौ बेड के अस्पताल में विशेष सचिव ने अपनी देखरेख में व्यवस्था परखीं। सरस्वती मेडिकल कॉलेज कोविड एलटू अस्पताल सहित तीन अन्य स्वास्थ्य केंद्रों में एसीएमओ की अगुवाई में एक घंटे तक मॉकड्रिल कराई गई।
विज्ञापन

मौरावां अस्पताल में बने पीकू वार्ड में विशेष सचिव रामनगीना मौर्य व सीएमओ डॉ. सत्यप्रकाश की अगुवाई में मॉकड्रिल कराई गई। स्वास्थ्य विभाग की टीम कोरोना संक्रमित (15) वर्षीय किशोरी एंबुलेंस से अस्पताल लाई जाती है। सीएचसी के बाहर बने रेडजोन में एंबुलेंस खड़ी कर चालक, ईएमटी व पीपीई किट पहने स्वास्थ्य केंद्र के दो कर्मी उसे स्ट्रेचर से ट्राइएज एरिया पहुंचाते हैं। डॉक्टर मरीज को देखते हैं। फिर मरीज को पीकू वार्ड ले जाने को कहते हैं। पीकू वार्ड में मौजूद स्टॉफ मरीज को ऑक्सीजन देती हैं। ब्लड प्रेशर जांचने के बाद इलाज शुरू किया जाता है।

नवाबगंज सरस्वती मेडिकल कॉलेज कोविड एलटू अस्पताल में विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि डॉ. धर्मेंद्र कुमार निगम व डॉ. श्वेतांशु सक्सेना ने ट्राइएज एरिया के साथ पीकू, नीकू व एचडीयू वार्ड के साथ आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण किया। चिकित्सा उपकरणों पीडिया वेटिंलेटर, बाईपेप, इंफ्यूजन पंप, मल्टीपैरामीटर व वेबीवार्मर की क्रियाशीलता देखी। डॉक्टरों के साथ पैरामेडिकल स्टाफ, टेक्निशियन, वार्ड ब्वाय व सफाई कर्मी की कार्य कुशलता व क्षमता को परखने के लिए मॉकड्रिल की गई। एसीएमओ डॉ. विवेक गुप्ता, संस्थान के निदेशक डॉ. सौरभ कंवर, महानिरीक्षक मनोज सिसौदिया, सीएमएस केके राय, सीनियर पीडियाट्रिशियन डॉ. विभा यादव उपस्थित रहीं।
औरास में डिप्टी सीएमओ डॉ. बीके गुप्ता की देखरेख में मॉकड्रिल कराई गई। यहां (15) साल के बच्चे को एंबुलेंस से सीएचसी लाया गया। रेडजोन में एंबुलेंस रुकने के बाद बच्चे को पीपीई किट पहने स्वास्थ्य कर्मियों ने उतारा और ट्राइएज एरिया में ले जाकर जांच की। डॉक्टर की सलाह पर मरीज को पीकू वार्ड में भर्ती किया गया और इलाज शुरू किया।
बिछिया में सीएचसी में पीकू वार्ड में मरीजों के भर्ती करने की मॉकड्रिल एसीएमओ डॉ. ललित कुमार की अगुवाई में हुई। एंबुलेंस से (10) साल के कोरोना मरीज को लाया गया। रेड जोन में एंबुलेंस रुकने के बाद मौजूद स्टॉफ ने ट्राइएज एरिया लेकर पहुंचा। सीएचसी प्रभारी डॉ. आरपी सचान की देखरेख में उसकी जांच हुई और बच्चे को पीकू वार्ड में भर्ती किया गया। वार्ड में बच्चे को भर्ती करने के साथ उसकी मां को भी बेड पर रोका गया। पीडियाट्रिक चिकित्सक डॉ. मुशीर अहमद ने बच्चे को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर का प्रयोग करने के साथ ही अन्य दवाओं के साथ उपचार करना शुरू किया।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00