कटरी के गांवों में फैली बीमारियां

Unnao Updated Thu, 06 Sep 2012 12:00 PM IST
परियर (उन्नाव)। कुछ ही दिनों के लिए सही गंगा में आई बाढ़ ने करीब आधा सैकड़ा गांवों के लोगों को परेशानी में डाल दिया है। बाढ़ कम होने के साथ ही संक्रामक बीमारियां मानव के साथ ही पशुओं को भी चपेट में लेने लगी हैं। पशुओं में बीमारियों को रोकने के लिए पशु चिकित्सक कैंप किए हैं। मंगलवार को एक मवेशी की बीमारी से मौत होने की भी सूचना है।
बीते एक पखवारे में दो बार गंगा में आई बाढ़ ने भीषण तबाही तो नहीं मचाई लेकिन करीब आधा सैकड़ा से अधिक गांवों के आसपास जलभराव हो गया है। इसके साथ ही खुल रही कड़क धूप के चलते संक्रामक बीमारियां फैलने लगी हैं। विभिन्न प्रकार के बुखार के साथ शरीर में दाने भी निकल रहे हैं। क्षेत्र में डायरिया के मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है। पशुओं में भी बीमारियां बढ़ रही हैं। क्षेत्र के ग्राम मरौंदा मझवारा, मरौंदा सूचित, पनपथा, गंगादीन पुरवा, धनकू खेड़ा समेत करीब एक दर्जन गांवों में पशुओं में खुरपका, मुंहपका, थनैला और सर्रा जैसी जानलेवा बीमारियों का प्रकोप है। ग्रामीण पशुओं का टीकाकरण कराने के लिए परेशान हैं।
दूसरी ओर गांवों तक पहुंच चुका पानी अब गंगा के जलस्तर के साथ ही कम होना शुरू हो गया है। पशुओं में बीमारियों को रोकने के लिए पशु चिकित्साधिकारी डा. एसके सिंह अपने सहकर्मियों के साथ मरौंदा मझवारा बाजार के पास कैंप लगाए हैं। वे यहां पर पशुओं का परीक्षण करने के साथ ही दवा बांट रहे हैं। क्षेत्र के किसान संतोष, रामगोपाल, गंगाप्रसाद, लालजी, छोटा, रामदास, श्रीकेशन, रतनू, शिवचरन, रामकुमार समेत अन्य ने बताया कि उनके पशुओं को कई दिन तक एक ही स्थान पर बंधे रहना पड़ा था। इस दौरान कीचड़ व गंदगी के कारण बीमारी बढ़ने लगी थी। फलस्वरूप मरौंदा मझवारा गांव में गनेश अवस्थी की कीमती भैंस ने दो दिन की बीमारी के बाद दम तोड़ दिया। क्षेत्र वासियों ने बाढ़ प्रभावित ग्राम पंचायतों में मनुष्यों और पशुओं को बीमारी से बचाने के लिए शिविर लगवाए जाने की मांग की है।
इस संबंध में पशु चिकित्साधिकारी डा. एसके सिंह ने बताया कि अधिकांश पशुओं में खुरपका, सर्रा, मुंहपका जैसी घातक बीमारियों के लक्षण मिल रहे हैं। उन्होंने इसे वृहद अभियान चलाकर जल्द ही नियंत्रित कर लेने की बात कही।

इनसेट-
बरतें सावधानी
परियर। बीमारियों से बचाव के लिए चिकित्साधिकारी का कहना है कि कीचड़ व गंदगी के बजाए साफ स्थान पर पशुओं को बांधा जाए। इसके अलावा उन्होंने पशुओं कीजीभ, खुर व भोजन ग्रहण करने की स्थिति का अवलोकन करने की सलाह दी। उन्होंने किसी भी प्रकार की समस्या पर तत्काल सूचित करने की बात कही।

Spotlight

Most Read

Champawat

एसएसबी, पुलिस, वन कर्मियों ने सीमा पर कांबिंग की

ठुलीगाड़ (पूर्णागिरि) में तैनात एसएसबी की पंचम वाहिनी की सी कंपनी के दल ने पुलिस एवं वन विभाग के साथ भारत-नेपाल सीमा पर सघन कांबिंग कर सुरक्षा का जायजा लिया।

21 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper