नवाचार योजना से चमकेंगी सरकारी परिसंपत्तियां

Unnao Updated Sat, 21 Jul 2012 12:00 PM IST
उन्नाव। शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में मौजूद सार्वजनिक अवस्थापनाओं और परिसंपत्तियोेें के बेहतर इस्तेमाल के लिए नवाचार योजना को लेकर जिलाधिकारी ने मातहतों के साथ बैठक की। कलेक्ट्रेट स्थित पन्नालाल हाल में हुई बैठक में जिलाधिकारी ने योजना के क्रियान्वयन में स्वैच्छिक संस्थाओं और जन सहयोग शामिल कर इन संरचनाओं के अधिकतम दोहन के बारे में जानकारी दी।
जिलाधिकारी रणवीर प्रसाद ने बताया कि योजना के तहत शहर और ग्रामीण क्षेत्रों में पहले से सृजित सरकारी अवस्थापनाएं और परिसंपत्तियाें में केवल संबंधित कार्य ही किए जाएंगे। योजना के तहत आई निधि में गैर सरकारी संस्थाओं के नियंत्रणाधीन परिसंपत्तियों और अवस्थापनाओं से संबंधित कार्य नहीं लिए जाएंगे। श्री प्रसाद ने बताया कि सार्वजनिक अवस्थापनाओं के महत्वपूर्ण कमियोें की पूर्ति स्थानीय समुदाय के सहयोग से पूर्ति करते हुए संबंधित परिसंपत्तियों को उपयेाग में लाया जाएगा। इसके लिए जनसहभागिता के जरिए कम लागत में प्रभावी ढंग से बेहतर बनाने के नए विकल्प खोजे जाएंगे। बताया कि योजना के वित्त पोषण के लिए कार्यों का चयन उनकी अध्यक्षता में गठित समिति द्वारा किया जाएगा। चयन में ऐसे कार्यों को प्राथमिकता दी जाएगी जहां अपेक्षाकृत कम लागत से अधिक और तत्काल लाभ मिल सके। सामान्यतया दस लाख रुपये से कम लागत वाले कार्य इसमें नहीं लिए जाएंगे। चयनित कार्य का 90 प्रतिशत खर्च ही शासन वहन करेगा। बाकी दस प्रतिशत अंश स्थानीय समुदाय अथवा किसी गैर सरकारी संस्था द्वारा लगाया जाएगा। चयनित कार्य की स्वीकृति से पूर्व जन सहभागिता के रूप में अपेक्षित 10 प्रतिशत धनराशि जिला स्तर पर जमा करनी होगी। योजना के लिए गठित समिति की अध्यक्षता जिलाधिकारी करेंगे जबकि सीडीओ सदस्य, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी सदस्य/सचिव के अलावा जिले में कार्यरत दो स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि सदस्य और प्रस्तावित कार्य से संबंधित विभागीय अधिकारी व सहयोगी संस्था विशेष आमंत्री सदस्य के रूप में कार्य करेंगे। बैठक मेें परियोजना निदेशक डीआरडीए जावेद अख्तर जैदी, अधिशासी अभियंता आरईएस एएसएच रिजवी, जिला पंचायत राज अधिकारी नंदनी जैन, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी अमिताभ कुमार, जिला विद्यालय निरीक्षक डा. ओपी गुप्ता, बेसिक शिक्षा अधिकारी मुकेश सिंह के अलावा अपर मुख्य अधिकारी जिलापंचायत और इंजीनियरिंग विभाग के अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018