अब चेते न तो बूंद-बूंद को तरसेंगे

Unnao Updated Tue, 17 Jul 2012 12:00 PM IST
उन्नाव। पृथ्वी के पूरे जल का मात्र 2.5 प्रतिशत पानी ही पीने योग्य है। हम इसका प्रयोग भी अंधाधुंध ढंग से कर रहे हैं। यदि इसी ढंग से हम पानी का दुरुपयोग करेंगे तो भविष्य में साफ पानी के लिए तरसना पड़ सकता है। जल संरक्षण के लिए हमें आज ही कारगर कदम उठाने होंगे। यह बात जिलाधिकारी रणवीर प्रसाद ने सोमवार को भूगर्भ जल पर आयोजित गोष्ठी के दौरान कही।
कलेक्ट्रेट स्थित पन्नालाल हाल मेें आयोजित गोष्ठी मेें वक्ताओं ने भूजल स्तर में हो रही गिरावट पर चिंता जताते हुए भूजल संरक्षण के प्रभावी इंतजाम की जरूरत पर बल दिया। जिलाधिकारी ने बताया कि जल प्रदूषण रोकने व उस पर नियंत्रण के प्रभावी कदम शासन और प्रशासन द्वारा उठाए जा रहे हैं। बताया कि जिले में पहले भी 1434 बस्तियों का चिन्हांकन कर वहां के अधिक फ्लोराइड युक्त जल से मुक्ति दिलाने का प्रयास किया गया है। फ्लोराइड मुक्त जलापूर्ति के लिए 73 पेयजल पाइप योजनाएं चलाई जा रही हैं। इसके लिए डीप बोर हैंडपंप भी लगाए गए हैं। श्री प्रसाद ने बताया कि जिले में 1088 बस्तियां हैं जिनमें मानक से अधिक फ्लोराइड है। इनमें अतिरिक्त डीप हैंडपंप लगाए जाएंगे। इसके लिए शासन से 13 करोड़ 94 लाख रुपया भी प्राप्त हो गया है। बताया कि जलस्रोतों की टेेस्टिंग व चिन्हीकरण हेतु शासन स्तर पर एक मसौदा तैयार किया जा रहा है। इनके लिए विशेष परियोजना बनाए जाने का वह प्रयास कर रहे हैं। जिले में रेन वाटर हार्वेस्टिंग की भी कार्ययोजना बनाई जाएगी ओर लोगों को जागरूक कर इसे अमली जामा पहनाया जाएगा। जो भी तालाब बनेंगे उन्हें रेन वाटर हार्वेस्टिंग के दृष्टिकोण से बनाया जाएगा। कहा कि मनरेगा के तहत बनाए गए माडल तालाबों के डिजायन में आसपास की जमीन से अधिक ऊंचा होने की खामी सामने आई है। अब जो भी तालाब बनाए जाएंगे उसके लिए भूमि संरक्षण विभाग से डिजायन तैयार की जाएगी। कृषि क्षेत्र में भी भूजल संरक्षण के लिए ड्रिप और स्प्रिंकलर इरीगेशन विधा के प्रति जागरुकता फैलाई जाएगी। 19 जुलाई केा पूरे जिले में एक साथ विभिन्न सरकारी, अर्धसरकारी, स्वैच्छिक व सामाजिक संगठन मिलकर जिले में वृक्षारोपण करेंगे। भूजल संरक्षण के बारे में जिला प्रशिक्षण अधिकारी डा. सुरेश सिंह द्वारा किए गए प्रेेजेंटेशन की जिलाधिकारी ने तारीफ की।
इस मौके पर सीडीओ राजेंद्र कुमार, डीएफओ प्रतिमा सिंह, सीएमओ डा. डीपी मिश्रा, जिला प्रशिक्षण अधिकारी डा. सुरेश सिंह, सहायक अभियंता लघु सिंचाई आरके पालीवाल, डीपीआरओ नंदनी जैन, पीडी डीआरडीए जावेद अख्तर जैदी, भूमि संरक्षण अधिकारी भीमसेन, अखिलेश , अशोक तिवारी, एसपी मिश्रा, एनआईसी प्रभारी एसके निगम, एसपी मिश्रा, अजय शुक्ला, पीओ डूडा अनूप बाजपेयी, नंद किशोर साहू, कवि रसेंदु, दिनेश उन्नावी, उमा शंकर यादव, जयनारायण शुक्ल, नसीर अहमद आदि थे।

Spotlight

Most Read

Budaun

संरक्षित स्मारक रोजा को मजहबी रंग देने की कोशिश

संरक्षित स्मारक रोजा को मजहबी रंग देने की कोशिश

21 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper