सुरक्षा न होने से बिगड़ रहा झील का स्वरूप

Unnao Updated Sat, 07 Jul 2012 12:00 PM IST
नवाबगंज (उन्नाव)। प्रदेश के मुखिया अखिलेश यादव जहां नवाबगंज की झील को विकसित कराने का प्रयास कर रहे हैं वहीं वन्य जंतु विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी कमल दंड (भसीड) निकलवा एवं मछलियों के अवैध शिकार को बढ़ावा देकर झील के सौंदर्य को तार-तार करने पर आमादा हैं।
पर्यटन मानचित्र में ख्याति पा रही नवाबगंज पक्षी विहार की 22.4 हेक्टेयर भूभाग में फैली झील में देशी विदेशी पक्षियों की चहचहाहट पर्यटकों का मन मोह लेती है। जाड़े ें में यहां साइबेरिया, रूस, चीन, जापान तथा अलास्का सहित सुदूर पश्चिम के देशों की हजारों मील लंबी यात्रा कर पक्षी यहां आते हैं। सूबे के मुखिया झील को प्रदेश की धरोहरों में शामिल कर उसे और मनोरम बनाने का सपना संजोया है। हाल में ही सूबे की कैबिनट बैठक में पक्षी विहार के सुंदरीकरण का निर्देश दिया गया। प्रदेश स्तरीय उच्च अधिकारियों ने पक्षी विहार आकर झील का निरीक्षण भी किया। इस पक्षी विहार की झील की सुरक्षा एवं रखरखाव के लिए यहां तैनात कर्मचारियों का अमला ही यहां की सुंदरता से खिलवाड़ कर रहा है। कथित अवैध कमाई के मोह में कर्मचारियों ने आसपास गांव के अराजकतत्वों को छूट देकर झील में कमल दंड (भसीड) की अवैध खुदाई एवं मछलियों का शिकार कराया जा रहा है। इन दिनों झील में सैकड़ों ग्रामीण भसीड की अवैध खुदाई खुल्लमखुल्ला कर रहे हैं। झील में भसीड की अवैध खुदाई की बाबत वन्य जंतु कर्मियों का कहना है कि झील में मौजूद सैकड़ों ग्रामीण भसीड नहीं खोद रहे, मछलियां पकड़ रहे हैं। मछलियाें के शिकार को विभाग द्वारा अवैध घोषित किए जाने के सवाल पर चुप्पी साध गए। स्थानीय लोगों ने झील की सुरक्षा के कड़े इंतजाम करने की मांग की है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls