जरूरी सुविधाओं को तरस रहे चमियानी के मजरे

Unnao Updated Sat, 23 Jun 2012 12:00 PM IST
पुरवा (उन्नाव)। आजादी के कई दशक बीत जाने के बाद भी चमियानी के कई मजरों में मूलभूत सुविधाएं नहीं उपलब्ध कराई जा सकी हैं। आवागमन के लिए रास्ते, पेयजल व्यवस्था, स्वास्थ्य सेवाएं व बिजली की रोशनी तक इन गांववासियों को अब तक नहीं मिल सकी हैं। ग्रामीणों ने विद्युतीकरण समेत अन्य सुविधाएं दिलाए जाने की मांग की हैै।
पुरवा विकास खंड की ग्राम पंचायत चमियानी में 90 मजरे हैं। इनमें से अधिकांश मूलभूत सुविधाओं से वंचित हैं। यहां चार मजरे ऐसे हैं जहां अब तक विद्युतीकरण नहीं हो पाया है। ग्रामीण लालटेन की रोशनी में गुजर-बसर कर रहे हैं। इन मजरों में शुद्ध खड़ंजे व नालियां तक नहीं हैं। कई ग्रामीणों ने अपने पास से रोशनी के लिए सोलर सिस्टम लगवाया है। कायमपुर में करीब डेढ़ हजार की आबादी है। यहां के निवासी अजमेरी, शहबाज, मुकीम, बकील खां, रियाज, अनिल, अयोध्या समेत अन्य ने बताया कि उन्हें शासन और प्रशासन की उपेक्षा के कारण मूलभूत सुविधाएं भी नहीं मिल पा रही हैं। अंगनुवा खेड़ा में ग्रामीणों को इन्हीं अव्यवस्थाओं के बीच रहना पड़ रहा है। एक हजार की आबादी वाले सिंहपुर मजरे की भी हालत कुछ जुदा नहीं है। यहां के निवासी गुड्डू, कृपा, अलोपी, मनोज, नन्हकऊ समेत अन्य लोगों ने क्षेत्रीय विधायक से गांववासियों को मूलभूत सुविधाएं दिलाने की मांग की है। यह गांव पहले भगवंतनगर विधान सभा में था और अब पुरवा में जोड़ दिया गया है। स्थानीय निवासी उम्मीद जता रहे हैं कि नई सरकार में उनकी मूलभूत जरूरतें पूरी हो जाएंगी.

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018