जिले भर में 35 हजार से अधिक हैंडपंप खराब

Unnao Updated Sun, 13 May 2012 12:00 PM IST
उन्नाव। गर्मियों के मौसम में इस बार पेयजल की भीषण किल्लत के आसार हैं। 32 लाख की आबादी वाले जिले में 35 हजार से अधिक हैंडपंप खराब हैं। इनकी मरम्मत के लिए जिला प्रशासन के पास धेला नहीं है। 1600 से अधिक गांवों, 15 नगर पंचायतों और तीन नगर पालिकाओं के जिले को मात्र 800 नए हैंडपंप मिले हैं। यह भी तब लग पाएंगे जब शासन से पैसा मिलेगा। आधी मई बीत चुकी है।अगर जल्द पैसा मिला भी तो जून के पहले काम संभव नहीं है। तब तक प्यास कैसे बुझेगी, इसका उत्तर किसी के पास नहीं है।
आने वाला समय जिलावासियों के लिए पीने के पानी की समस्या लेकर आने वाला है। लगातार नीचे गिर रहे भूगर्भ जलस्तर के कारण हजारों हैंडपंपोें ने पानी देना छोड़ दिया है। सरकार ने जिले की 32 लाख जनता की प्यास बुझाने के लिए सिर्फ 800 हैंडपंप ही दिए हैं और इतने ही रिबोर किए जाएंगे। इन हैंडपंपों को पाने के लिए भी अभी इंतजार करना पड़ेगा क्योंकि बजट न होने के कारण विभाग के पास इसके लिए धन नहीं है। जिले का भूगर्भ जल स्तर तीन मीटर प्रतिवर्ष की रफ्तार से गिर रहा है। इस बार भी दस फीट नीचे चला गया है। इससे ग्रामीण और शहरी इलाकों में हैंडपंप व कुओं के कंठ सूख गए हैं। करीब-करीब सभी गांवों से रोज ब्लाक और जिला मुख्यालय पर हैंडपंप खराब होने की शिकायतें आ रही हैं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls