बाबा गुदड़ी हक शाह उर्स में देश विदेश से आए हाफिज

Unnao Updated Mon, 17 Dec 2012 05:30 AM IST
मियागंज (उन्नाव)। दुखियारों की झोलियां खुशियों से भरने वाले हजरत गुदड़ी हक शाह बाबा के उर्स में रविवार को कुल संपन्न हुआ। कुल की फातिहा में सपा जिलाध्यक्ष सहित कई राजनेता और जनप्रतिनिधियों ने शिरकत की। फातिहा के बाद सभी अकीदतमंदों और जायरीनों को सज्जादागान ने शीरनी और तबर्रुक भेंट कर रुखसत किया।
बाबा के 59 वें उर्स में रविवार को कुल की फातिहा हुई। सबसे पहले बाबा की मजार पाक में गागर पेश की गई और कुरआन ख्वानी हुई। इसके बाद कव्वाली और महफिले समा का दौर चला। इस दौरान देश विदेश से आए जायरीनाें ने बाबा की मजार पर फूल, इत्र और चादर पेश कर मन्नतें मांगी और दुआएं कीं। सभी जायरीन और अकीदतमंदों को बाबा के लंगर की दाल रोटी छकाई गई। सज्जादानशीन शुजाउर्रहमान सफवी, फैसल रहमान सफवी, जैद रहमान सफवी, जैद रहमान सफवी और सदर अनवर रहमान जीलानी ने लोगों को खुद ही लंगर बांटा। जुहर (दोपहर) की नमाज के बाद महफिले समा का दौर एक बार फिर शुरू हुआ।
पीरजादा हजरत मोतीउर्रहमान सफवी पुत्तन मियां के आने से अकीदतमंदों का तांत लग गया। सभी आपके हाथ को चूम कर आशीर्वाद लेते रहे। शाम चार बजे मजार ए अकदस पर गुलाबों की चादर पेश की गई और नजराना पेश किया गया। इस मौके पर सपा जिलाध्यक्ष अनवार अहमद, मोईज खान, मो. फैज और नसीम ने बाबा के आस्ताने पर हाजिरी लगाकर मन्नतें मांगी। इसके बाद महफिल मेें कुल की फातिहा शुरू हुई। इसमें देश विदेश से आए हाफिजों ने कलाम ए पाक की तिलावत की और अंत में दुआए खैर की गई।
फातिहा समाप्त होने पर पीरजादा पुत्तन मियां ने सभी को आशीर्वाद और दुआएं दीं। फातिहा का तबर्रुक (प्रसाद) सभी को बांटा गया। आयोजन में शाहमीना शाह मजार के सज्जादागान रईस मीनाई, राशिद मीनाई, शराफत अली, सफीपुर मख्दूमशाह सफी मजार के सज्जादागान समदी मियां, अफजाल मियां, खादिम सफी के सज्जादा शारिक सफवी, सफीपुर के सुहैब बकाई, आबिद बकाई, मौजूद रहे। सुहैल हक्कानी फनाई, अब्दुल मुगनी एहसानी, मो. शकील एहसानी, मो. शमीम एहसानी, मो. सलमान, तय्यब, नसीम, वसीक अहमद, रिजवान, माह आलम, सै. नदीम हैदर, फुजैल अहमद, मो. नूर आलम एहसानी, आलम आदि ने योगदान दिया।



सबकी जुबान पर पुत्तन मियां
मियागंज। हजरत इकरामुल हक उर्फ गुदड़ी शाह बाबा के पीरजादा हजरत मोतीउर्रहमान पुत्तन मियां की दुआएं लेेने वालाें का तांता लगा रहा। खादिम सुहैल हक्कानी फनाई ने बताया कि पुत्तन मियां ने नौ साल की छोटी सी उम्र से ही बाबा की खिदमत की है। 81 वर्ष की उम्र में आज भी वह अपने हाथों से ही बाबा की मजार की खिदमत करते हैं। उनकी दुआएं बाबा कभी रद्द नहीं करते। यही कारण है कि उर्स में आने वाला हर एक अकीदतमंद आपके पास पहुंच कर दुआओं की अर्जी लगाने की गुहार लगाता है।

Spotlight

Most Read

Unnao

ट्रक में भिड़ी कार, एक की मौत

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर शाहपुर तोंदा गांव के सामने ट्रक के अचानक ब्रेक लेने से पीछे आ रही तेज रफ्तार कार पीछे घुस गई। हादसे में चालक की मौत हो गई। साथी गंभीर रूप से घायल हो गया।

21 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper