प्यारे इमाम अस्सलाम, आली मुकाम अस्सलाम

Unnao Updated Mon, 26 Nov 2012 12:00 PM IST
उन्नाव। कत्ले यजीद अस्ल में मर्गे यजीद है-इस्लाम जिंदा होता है हर कर्बला के बाद। नबी पाक के दीन की हिफाजत करने वाले हजरत हुसैन और उनके बहत्तर जांनशीनों की कुर्बानी की याद में रविवार को जिले भर में ताजियों, अलम और मातम का जुलूस निकाला गया। शहर में अंजुमन अजाए हुसैन और अंजुमन हुसैनी की जानिब से ताजियों और अलम का जुलूस निकाला गया। जुलूस में हुसैनी शैदाइयों ने छुरी और तलवार का मातम कर अपनी अकीदत का सुबूत पेश किया। देर शाम ताजियों को कर्बला में सुपुर्दे खाक किया गया। अकीदतमंदों ने घरों में मीठे पकवान बना कर शहीदाने कर्बला की नज्र पेश की।
प्यारे इमाम अस्सलाम, आली मुकाम अस्सलाम और या हुसैन या हुसैन की सदाओं के साथ शहर के चौधराना मोहल्ले से अंजुमन हुसैनिया का नौहों के बीच छुरियों के मातम की शुरुआत की। शहीदाने कर्बला की याद में अलम और मातम करता हुआ यह जुलूस छिपियाना चौराहा, जामा मस्जिद, एबीनगर, सुंदर टाकीज होता हुआ छोटा चौराहा पहुंचा। इस दौरान अंजुमन अजाए हुसैन का ताजियों और अलम का जुलूस भी इसमें शामिल होता रहा। जुलूस में सबसे आगे चल रहे उस्ताद अब्दुरर्हमान का अक्खाड़े के नौजवानों ने जंग ए कर्बला का नजारा पेश किया। इसके पीछे छुरियों और तलवार का मातम कर रहे अकीदतमंदों का जुलूस था। एक साल के बिलाल से लेकर मोहसिन रजा, वकार रजा, अली अब्बास, अरशद, औन वसी, बज्मी, विक्की, आसिफ, फैज इमाम, वैस जाफरी, अमान जाफरी आदि ने सिर पर तलवार से वार कर कमा का मातम किया। चार दर्जन से ज्यादा लोगों ने नंगी पीठ पर छुरियोें का मातम किया। सबसे पीछे ताजियों का जुलूस चल रहा था। इसमे ककरहा बाग के पुत्तन साहब, इश्तियाक गौरी और अजमत अली की ताजियां थीं। इनके पीछे छोटा चौराहा मोहल्ले की मो. अहमद इमामबाड़ा, मुजस्सिमशाह वारसी के ताजिए और जवाहर नगर के नसीरुल्लाह शाह बाबा, अनवरी बेगम अताउल्लाह मस्जिद, हज्जिन बानो सुुंदर टाकीज, हनीफ मोती नगर, शफी टेलर्स पड़ाव सराय, मो. अनवर दही चौकी, आशिक बरकाती आदि के इमामबाड़ों सहित करीब दो दर्जन ताजिएं थीं। ताजियों, अलम और मातम का जुलूस छोटा चौराहा, बड़ा चौराहा, धवन रोड, दादा मियां का चौराहा, कहारों का अड्डा, मुल्लनतरफ, कंजी, तकीनगर मोहल्लों से गुजरता हुआ देर शाम चौधराना मोहल्ला पहुंचा। इस दौरान ताजियों को कर्बला शरीफ में पहुंच कर सुपुर्दे खाक किया गया। मुख्य जुलूस के अलावा अन्य मोहल्लों के ताजियादारों ने छोटे छोटे जुलूस निकाल कर ताजियों को सुपुर्दे खाक किया। अकीदतमंदों ने अपने घरों में शर्बत, खीर, हलीम और मीठे पकवान बनाकर शहीदाने कर्बला को नज्र पेश की।
पुरवा प्रतिनिधि के मुताबिक एजाज कस्बे के जिंदवाबाड़ी स्थित इमामबाड़े से ताजिए और अलम का जुलूस उठा। मियांटोला, वजीरगंज, छबईयनटोला, मसवानी, शीतलगंज, दलीगढ़ी आदि मोहल्लों से गुजरता हुआ पीराशाह मैदान पहुंचा। यहां अक्खाड़ा खेला गया जिसमें हुनरमंदों ने तलवार, लाठी समेत कई हथियारों से कला प्रदर्शन किया। इसके बाद जुलूस मिर्री चौराहा स्थित अखरी तालाब पहुंचा जहां ताजियों को सैराब किया गया। जुलूस का संचालन मोहर्रम कमेटी के अध्यक्ष मो. असलम के अलावा सैफुद्दीन एडवोकेट, हाजी हनीफ, मुन्ना, इस्माइल आदि ने किया। इस मौके पर एसडीएम प्रवीना, सीओ चरनजीत सिंह के साथ कई थानों का पुलिस बल मौजूद रहा।
फतेहपुर चौरासी प्रतिनिधि के मुताबिक कस्बे में पहला जुलूस फतेहपुर चौरासी कस्बे के सुभाष नगर पश्चिमी मोहल्ला स्थित इमामचौक से उठा। इसमें अंजुमन शब्बीरिया ने नसीम खां, शहीद खां, शमसुद्दीन खां और इजाजुद्दीन खंा ने शहीदाने कर्बला की याद मेें नौहे पेश किए। दूसरा जुलूस फिरोज नगर इमामचौक से उठा। इसमें अंजुमन अरफिया के नौहाख्वां मोतीस अहमद, इरफान, हबीब, हारून, नबी हसन, अकील आदि ने नौहे पेश किए। इसके अलावा तकिया, सैंता और टांडामीता गावों में ताजिए का जुलूस निकाला गया।
मियागंज प्रतिनिधि के मुताबिक कस्बे से गढ़ईया चौक से ताजिए का जुलूस उठाया गया। जुलूस बस्ती के अंदर से होते हुए खेड़ा, इमामबाड़ा सहित कई मोहल्लों से गुजरता हुआ मुख्य मार्ग तक पहुंचा। जिला पंचायत सदस्य शुजाउर्रहमान, जैद रहमान, सैफुरर्हमान सफवी आदि ने जुलूस में शबील और लंगर तक्सीम किया। जुलूस में मुख्य रूप से प्रधानपति अन्नू अवस्थी, आफाक अंसारी, आलम अंसारी, शीबू सहित कई गणमान्य लोग मौजूद रहे। रात दस बजे के करीब कर्बला में ताजियों को सुपुर्दे खाक किया गया।
बांगरमऊ प्रतिनिधि के मुताबिक कस्बे के मोहल्ला पंजाबीटोला में अबरार खां मरहूम के इमामबाड़े से जुलूस की शुरूआत हुई। यहां से ताजिये और अलम का जुलूस शुक्लाना मोहल्ले होता हुआ कर्बला पहुंचा। देर शाम दरगाह शरीफ, मुकरियाना, गोंडा टोला और गोलकुआं आदि मोहल्लों से ताजियोें का जुलूस उठाया गया। देर रात यह सभी ताजिए मोहल्ला हटिया स्थित चौराहे पर इकट्ठा हुए जहां मातमपुर्सी की गई। नगर के अलावा क्षेत्र के मऊ, सुरसेनी, आसत, मठियापुर, कांटागुलजारपुर, सादीपुर, जोगीकोट, शीतलगंज व जगतनगर में भी ताजियों का जुलूस निकाला गया।
अचलगंज प्रतिनिधि के मुताबिक उन्नाव-रायबरेली राजमार्ग सहित हड़हा मार्ग, पुरवा मार्ग से ताजियों का जुलूस निकाल गया। हाजी अब्दुल हमीद, चुन्नू मियां, मो. याकूब, मो. सलीम, मो. सहवान, मो. चांद, सुवैस, शहरुख, मुखिया, मो. याकूब, मो, जमील, मो. रिजवान आदि जुलूस के साथ चल रहे थे। थानाध्यक्ष ऋषिकांत शुक्ला की देखरेख में हड़हा, अचलगंज बदरका, सुपासी, बंथर आदि स्थानों पर मोहर्रम का जुलूस निकाला गया।
बीघापुर प्रतिनिधि के मुताबिक बीघापुर, रानीपुर, बारा, सराइयां आदि क्षेत्रों में पुलिस की चौकसी रही। सुबह से ही जिला विद्यालय निरीक्षक डा. ओमप्रकाश गुप्ता गांव का निरीक्षण करते रहे। शांति पूर्ण रूप से ताजिये सुपुर्दे खाक होने पर क्षेत्राधिकारी मनोज अवस्थी ने लोगों का शुक्रिया अदा किया।



शबील और लंगर बांट किया स्वागत
उन्नाव। विभिन्न संगठनों और जन प्रतिनिधियों ने जुलूसे हुसैनी में शबील और लंगर बांट कर स्वागत किया। अब्बास बाग अताउल्लाह मजिस्द पर सपा अल्पसंख्यक सभा जिलाध्यक्ष मो. इस्माइल, विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और दीपक कुमार ने शहीदाने कर्बला की याद में लंगर का एहतमाम किया। इस मौके पर विधायक दीपक कुमार ने कहा कि हजरत हुसैन और उनके बहत्तर साथी हक के लिए शहीद होकर हमें सच के लिए डटे रहने का पैगाम दे गए। विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने कहा कि दसवीं मोहर्रम को मातम, अलम और ताजियेदारी कर्बला के शहीदों की श्रद्धा और सम्मान दर्शाते हैं ताजिएदारी सांप्रदायिक सद्भाव का प्रतीक है। उनके साथ सपा के शिशिर गुप्ता, गायत्री प्रसाद प्रजापति, राहुल जायसवाल, आलोक निगम, संजय सिंह, अतहर अली लाले आदि मौजूद रहे। शहर के सोहन लाल धर्मशाला के सामने उत्तर प्रदेश व्यापार प्रतिनिधि मंडल ने शबील कैंप लगाकर जुलूसे हुसैनी का स्वागत किया । जिलाध्यक्ष रजनीकांत श्रीवास्तव ने कहा कि वह व्यापारियों और व्यापार मंडल की तरफ से करबला के शहीदों को तहेदिल से श्रद्धांजलि पेश करते हैं। इस मोके पर अजीत पाल सिंह, शैलेंद्र गुप्ता, मनीष श्रीवास्तव, अनुप कुमार वर्मा, संजय शुक्ला, संजय त्रिपाठी, सुभाष चंद्र गुप्ता, आशीश कुमार विमल, शिवम तिवारी, इरशाद अहमद आदि व्यापारी मौजूद रहे।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

16 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper