महंगी बिजली से झुलस जाएंगे उद्योग

Unnao Updated Thu, 25 Oct 2012 12:00 PM IST
उन्नाव। सरकार ने जिस तरह से बिजली के दरों पर मनमानी वृद्धि कर दी है। इससे यूपी के उद्योगों का झुलसना तय है। ऐसे मेें प्रदेश के उद्यमी या तो पलायन कर जाएंगे या फिर उद्यम बंद कर देंगे। यह बात बुधवार को पत्रकारों से चर्चा में आईआईएम यूपी के उपाध्यक्ष जीएन मिश्रा ने कही।
प्रदेश सरकार की सहमति से उत्तर प्रदेश विद्युत नियामक आयोग ने औद्योगिक और वाणिज्यिक दरों में वृद्धि कर दी है। बढ़ी दरें 19 अक्टूबर से पूरे प्रदेश में लागू भी कर दी गई हैं। जीएन मिश्रा ने कहा कि यह बढ़ोत्तरी विद्युत नियामक आयोग 2003 और आयोग की टैरिफ नीति के खिलाफ है। श्री मिश्रा ने कहा कि राष्ट्रीय टैरिफ नीति की धारा 8.3(2) में औसत लागत से 20 प्रतिशत से अधिक बिजली दर का निर्धारण न करने का प्रावधान है। इसके बावजूद कहीं अधिक बढ़ोत्तरी कर दी गई। स्टील उद्योगों की बिजली दरों में 48 से 49 फीसदी तक की बढ़ोत्तरी हो जाएगी। ऐसे में टू पार्ट टैरिफ का कोई औचित्य नहीं रह गया है, इसलिए फिक्स चार्ज, मिनिमम चार्ज भी समाप्त होना चाहिए। एलएलवी 6 की श्रेणी में केवल फिक्स चार्ज की दरों में 95 प्रतिशत की वृद्धि टैरिफ निर्धारण में मनमानी का सबूत है। मिश्रा ने बताया कि 26 अक्टूबर को जिले के उद्यमी जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर गांधी प्रतिमा पर प्रदर्शन करेंगे। इसके बाद लखनऊ में भी प्रदर्शन किया जाएगा। इसके बाद भी अगर सरकार ने अगर विचार नहीं किया तो सात दिन बाद उद्यमी फैक्ट्रियों की चाबियां मुख्यमंत्री को सौंप देंगे। प्रेसवार्ता में बड़ी संख्या में उद्यमी भी मौजूद रहे।

अपने खर्च पर लगाम लगाए कारपोरेशन
उन्नाव। अकरमपुर इंडस्ट्रियल एसोसिएशन के सेक्रेटरी अरुण खन्ना ने कहा कि पावर कारपोरेशन अपने खर्च और कार्य प्रणाली में सुधार कर ले तो स्थिति स्वत: बदल जाएगी। कहा कि इस समय पावर सेक्टर का घाटा करीब 24 हजार करोड़ है जबकि प्रदेश के विभिन्न श्रेणी के बिजली उपभोक्ताओं पर करीब 26094 करोड़ रुपया बकाया है। सात करोड़ से अधिक बकाया केवल सरकारों विभागों का है। अगर कारपोरशन बकाया वसूल ले तो उसे अतिरिक्त दो हजार करोड़ रुपए मिल जाएंगे। तब बिजली दरों को बढ़ाने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। इसके अलावा कारपोरेशन में अधिकारियों की भरमार है। जो काम एक्सईएन देख रहा है, वहीं एसडीओ और जेई भी देख रहा है। अगर कारपोरशन घाटे में है तो अफसरों की छंटनी करे।

चरमरा चाएगी लेदर इंडस्ट्री
उन्नाव। यूपी लेदर इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के प्रेसीडेंट ताज आलम ने कहा कि विश्व पटल पर हमारी प्रतिस्पर्धा चीन से है। चीन में बिजली की लागत बहुत ही कम है और संसाधन भी हमारे देश से बेहतर हैं। पहले ही हमें चीन से कड़ी प्रतिस्पर्धा मिल रही है। बिजली के दाम बढ़ने से उत्पादन लागत खासी बढ़ जाएगी और हम बाजार में टिक नहीं पाएंगे। श्री आलम ने कहा कि कहीं न कहीं से कटौती कर हम बाजार में टिके हैं अगर सरकारें इसी तरह सुविधाओं के पर कतरती रहीं तो यूपी से पलायन हमारी मजबूरी बन जाएगी।


सीएम कैसे लगवाएंगे साइकिल कारखाना
उन्नाव। आईआईए उन्नाव के चेयरमैन एके अग्रवाल सरकार और पावर कारपोरेशन औद्योगिक विकास के विरोध में काम कर रहे हैं। बिजली दरों में मनमानी वृद्धि इस बात का प्रमाण है। श्री अग्रवाल ने कहा कि बिजली दरों में वृद्धि का सबसे अधिक प्रभाव स्टील उद्योग पर पड़ेगा। ऐसे में मुख्यमंत्री यूपी में साइकिल कारखाना कैसे लगवा पाएंगे। सपा ने चुनाव के पहले प्रदेश में साइकिल कारखाना लगवाने और साइकिलें सस्ती कराने का वादा भी किया था। चेयरमैन ने कहा कि सरकार उद्योगों को सुविधाएं देने की बात पर खजाना खाली होने की बात कहती है तो फिर बेरोजगारी भत्ता, कन्या विद्याधन और लैपटॉप के लिए पैसा कहां से आ गया। बेरोजगारी भत्ता देने वाली सरकार अगर इसी तरह उद्योगों पर मनमानी करती रही तो उद्योगों पर ताले लग जाएंगे और यूपी के लाखों लोग बेरोजगार हो जाएंगे। बेरोजगारी बढ़ने पर अपराधों में वृद्धि स्वाभाविक है।

Spotlight

Most Read

Meerut

दो सगी बहनों से साढ़े चार साल तक गैंगरेप, घर लौट आई एक बेटी ने सुनाई आपबीती

दो बहनों का अपहरण कर तीन लोगों ने साढ़े चार वर्ष तक उनके साथ गैंगरेप किया। एक पीड़िता आरोपियों की चंगुल से निकल कर घर लौट आई। उसने परिवार को आपबीती सुनाई।

21 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper