धान में 17 फीसदी तक नमी पर कोई कटौती नहीं

Unnao Updated Mon, 22 Oct 2012 12:00 PM IST
उन्नाव। इस बार केंद्र प्रभारी उपज गीली होने का बहाना बताकर किसानों को वापस नहीं कर पाएंगे। शासन ने 17 फीसदी तक नमी के धान में कोई कटौती न करने के आदेश जारी किए हैं। इसके अलावा इस बार हर केंद्र पर दो-दो इलेक्ट्रानिक कांटे लगेंगे। गेहूं खरीद के दौरान हुई गड़बड़ी से सबक लेते हुए प्रदेश सरकार ने खरीद में टोकन व्यवस्था लागू की है।
गेहूं खरीद में गड़बड़ियों को देखते हुए शासन ने धान खरीद में व्यवस्था को और ज्यादा पारदर्शी बनाने की योजना बनाई है। केंद्र प्रभारी किसानों का शोषण न कर सकें इसके लिए प्रदेश सरकार ने इस बार 17 फीसदी तक नमी के धान में कोई कटौती न करने के आदेश जारी किए हैं। यही नहीं कांटे में कमी बताकर केंद्रों से किसान वापस नहीं किए जाएंगे। साथ ही समय से पहले खरीद बंद नहीं होगी। मंडी समिति को हर केंद्र पर दो-दो इलेक्ट्रानिक कांटों की व्यवस्था करनी होगी। यदि एक कांटे में कुछ गड़बड़ी आती है तो दूसरे से खरीद हो सकेगी। इसके अलावा केंद्र पर इलेक्ट्रानिक कांटों के अतिरिक्त एक नमी मापक यंत्र, एक छन्ना व एक ब्लोइंग पंखे की भी व्यवस्था होगी। किसानोें को 1250 रुपए प्रति कुंतल का रेट दिया जाएगा। यही नहीं प्रभारियों को केंद्रों पर एक रजिस्टर भी रखना होगा। इसमें पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर किसानों का नाम नोट किया जाएगा। इसके बाद उन्हें टोकन दिया जाएगा। इसी नंबर के आधार पर किसानों से उनकी उपज खरीदी जाएगी। केंद्र प्रभारियों को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि यदि उनके केंद्रों के आसपास बिचौलिए मिले तो सीधे उन पर कार्रवाई होगी। जोत बही, खतौनी, चकबंदी संबंधी अभिलेख, फोटोयुक्त पहचानपत्र के आधार पर केंद्र प्रभारी धान खरीदेंगे।


टोल फ्री नंबर पर दर्ज कराएं शिकायतें
उन्नाव। इस बार धान खरीद में किसी प्रकार की शिकायत दर्ज कराने के लिए टोल फ्री नंबर उपलब्ध कराया गया है। यदि केंद्र प्रभारी उपज लेने में किसी प्रकार की आनाकानी करता है, मानक से अधिक कटौती होती है अन्य बिचौलियों से धान खरीद हो रही है तो किसान सीधे टोल फ्री नंबर 18001800150 पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं। इस नंबर से संबंधित बैनर केंद्रों पर लगाए जाएंगे।


जनपद को मिला धान खरीद का लक्ष्य
उन्नाव। शासन ने जिले का धान खरीद का लक्ष्य घोषित कर दिया है। पिछले साल के मुकाबले इस बार लक्ष्य कम दिया गया है। वर्ष 2011 में जहां लक्ष्य 25, 500 मीट्रिक था वहीं इस बार इसे घटाकर 24750 एमटी कर दिया गया है। जानकारों की मानें तो समय से बारिश न होने के कारण इस बार उपज कुछ कमजोर मानी जा रही है इसको देखते हुए लक्ष्य भी घटा दिया गया है। पिछले साल जहां खरीद के लिए 34 केन्द्र खोले गए थे वहीं इस बार केन्द्रों की संख्या घटकर 23 हो गई है।

एजेंसी केंद्र लक्ष्य (एमटी)
खाद्य विभाग 6 4250
यूपी एग्रो 3 5000
एसएफसी 6 8000
पीसीएफ 4 3000
क.कल्याण निगम 2 3000
यूपीएसएस 2 1500

Spotlight

Most Read

Varanasi

मतदाता पुनरीक्षण में लापरवाही, चार अफसरों को नोटिस

मतदाता पुनरीक्षण में लापरवाही, चार अफसरों को नोटिस

19 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper