एसडीएम ने सुपरवाइजर को वसूली करते पकड़ा

Unnao Updated Sat, 20 Oct 2012 12:00 PM IST
पुरवा(उन्नाव)। समेकित बाल विकास परियोजना के तहत नौनिहालों को मिलने वाली पोषाहार योजना भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रहा है। शुक्रवार को एसडीएम ने छापामार कर सुपरवाइजर को आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों से अवैध वसूली करते पकड़ा। उन्होंने आगे की कार्रवाईके लिए डीएम को पत्र भेजा है।
एसडीएम प्रवीणा ने शुक्रवार को मिर्रीकला चौराहा स्थित एक आवास पर छापा मारा। आवास में उन्हें एक सुपरवाइजर और चार अंागनबाड़ी कार्यकत्रियां मिलीं। उन्हाेंने सभी से इस आवास में इकट्ठा होने का कारण पूछा तो कार्यकत्रियां सुपरवाइजर का मुंह ताकने लगीं। इस पर एसडीएम ने कार्यकत्रियों को अलग बुला कर बात की तो उन्होंने अवैध वसूली किए जाने की बात बताई। जिस कमरे में सभी महिलाएं मिली थीं एसडीएम ने उसका निरीक्षण किया। वहां उन्हें कोई रुपया तो नहीं मिला लेकिन दाल, चावल और देशी घी पाया। वह सभी कार्यकत्रियों और सुपरवाइजर को अपने साथ बैठा कर कार्यालय र्ले आइं। यहां आंगनबाड़ी कार्यकत्री मुन्नीदेवी, सियावती, संतोष कुमारी और विजय लक्ष्मी ने लिखित बयान दर्ज कराए। चारों ने बताया कि सुपरवाइजर सभी से सुविधा शुल्क के नाम पर एक हजार और हॉट कुक्ड मील के नाम पर तीन सौ रुपया वूसल कर रही थीं।
एसडीएम प्रवीणा ने बताया कि उन्हें मिर्रीकला स्थित आवास में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों से अवैध वसूली किए जाने की सूचना मिली थी। इस पर उन्हाेंने छापा मारा था। चारों कार्यकत्रियों ने सुपरवाइजर पर प्रति कार्यकत्री 13 सौ रुपया वसूलने का आरोप लगाया है। कहा कि उन्हें आवास पहुंचने में देर हा जाने से ज्यादा कार्यकत्रियां नहीं मिल पाईं। चारों कार्यकत्रियों के बयान दर्ज कर आगे की कार्रवाई के लिए जिलाधिकारी शीतल वर्मा को रिपोर्ट बनाकर भेजी जा रही है। जिलाधिकारी ही इस पर निर्णय लेंगी।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018