नहीं खुले छात्रों के खाते कैसे बटे वजीफा

Sultanpur Updated Tue, 11 Dec 2012 05:30 AM IST
सुल्तानपुर। अल्पसंख्यक छात्रों की छात्रवृत्ति वितरण व्यवस्था अधिकारियों की लापरवाही से जिले में धराशाई हो गई है। शासन के सख्त आदेश के बाद भी अल्पसंख्यक समुदाय के छात्रों के वजीफे का वितरण शुरू नहीं हो सका है। 35 हजार छात्रों में सिर्फ 12 हजार का खाता ही बैंकों में खुल सका है, जबकि 23 हजार छात्रों का अकाउंट नहीं खुल पाया है। प्री मैट्रिक छात्रों का अकाउंट जीरो बैलेंस पर खोलने में बैंकों की आनाकानी भी समस्या को बढ़ाने में अहम कारण है।
शासन की सख्ती जिले में प्रभावी नहीं हो पा रही है। खासकर अल्पसंख्यक हितों के मामले में जिला प्रशासन व विभाग तेजी नहीं ला पा रहे हैं। चालू शिक्षा सत्र के पांच माह बीत गए हैं। अभी तक अल्पंसख्यक समुदाय के छात्रों का वजीफा भेजने के लिए उनके खाते खुलवाए जा रहे हैं। खाते खुलवाने की प्रगति का यह आलम है कि पांच माह में प्री मैट्रिक के सिर्फ 12 हजार बच्चों के खाते ही खुल सके हैं। जबकि छात्रों की कुल संख्या 35 हजार बताई जा रही है। शिक्षा विभाग की इसी रिपोर्ट से अनुमान लगाया जा सकता है कि बचे 23 हजार छात्रों का खाता खुलवाने में अभी महीनों लग सकता है। बैंकों में खाता नहीं खुलने से छात्रों का वजीफा अभी तक नहीं भेजा जा सका है। कार्य में प्रगति नहीं होने पर अल्पसंख्यक विभाग व शिक्षा विभाग एक दूसरे पर दोषारोपण कर रहे हैं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

देखिए, बीजेपी सांसद वरुण गांधी के बगावती तेवर!

बीजेपी सांसद वरुण गांधी केंद्र सरकार की नीतियों पर जमकर बरसे।

21 जनवरी 2018