अमेठी सन्न, गम में गौरीगंज

Sultanpur Updated Sat, 22 Sep 2012 12:00 PM IST
गौरीगंज। बसपा की पूर्व प्रदेश सरकार द्वारा जिले के लिए जारी अधिसूचना को उच्च न्यायलय की पूर्ण पीठ द्वारा अवैध करार दिए जाने के बाद अमेठी सन्न है। हालांकि सलोन व तिलोई तहसीलों के छह ब्लॉकों और अमेठी के भादर ब्लॉक के लोगों में फैसले से प्रसन्नता दिखी।
रायबरेली से काटकर जिले में शामिल की गईं सलोन व तिलोई तहसीलों के छह ब्लॉकों के साथ ही अमेठी तहसील के भादर ब्लॉक के लोग खुशी से उछल पड़े तो शेष अमेठी में सन्नाटा पसर गया। लोग सड़कों पर उतर आए और पटाखे फोड़ अपनी खुशी का इजहार किया। भादर ब्लॉक के रामगंज में जश्न का माहौल रहा। लोगों ने फैसले को विस्तार से जानने के लिए टेलीविजन, इंटरनेट और मोबाइल की मदद लेनी शुरू की। उधर गौरीगंज। उच्च न्यायालय की वृहद पीठ द्वारा सुनाए गए फैसले ने गौरीगंज को गम के गहरे सागर में डुबो दिया है। फैसले से अमेठी व मुसाफिरखाना तहसील के उन हिस्सों में भी निराशा फैल गई है, जहां से जिला मुख्यालय की दूरी कम थी। लोगों का कहना था कि कोर्ट ने अधिसूचना अवैध ठहराते समय जन भावनाओं का खयाल नहीं रखा। शिक्षाविद् ज्ञानेंद्र मनीषी ने कहा कि लोगों को झटका लगा है। कोर्ट को लोगों की भावनाओं का खयाल रखना चाहिए था। डॉ. मनीषा सिंह ने कहा कि उम्मीद नहीं थी कि ऐसा फैसला आएगा। फैसले ने लोगों को निराश कर दिया है। व्यवसायी सुभाष तिवारी का कहना था कि कोर्ट के निर्णय पर सवाल नहीं खड़ा किया जा सकता। लेकिन फैसला ग्राह्य नहीं है। शिक्षक डॉ. सुरेश चंद्र शुक्ल का कहना था कि निर्णय जनभावनाओं के विपरीत है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में नौकरियों का रास्ता खुला, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग का हुआ गठन

सीएम योगी की मंजूरी के बाद सोमवार को मुख्यसचिव राजीव कुमार ने अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का गठन कर दिया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

देखिए, बीजेपी सांसद वरुण गांधी के बगावती तेवर!

बीजेपी सांसद वरुण गांधी केंद्र सरकार की नीतियों पर जमकर बरसे।

21 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper