बची बिजली का जिले को लाभ नहीं

Sonbhadra Updated Tue, 03 Jul 2012 12:00 PM IST
डाला। जनपद में क्रशर प्लांटों के बंद होने से इससे जुड़े लोगों के सामने रोजगार के साथ आर्थिक संकट पैदा हो गया। मगर दूसरी तरफ भीषण गर्मी में इसका फायदा दूसरे जनपदों को खूब मिला। क्रशर प्लांटों के नहीं चलने और उससेे बची करीब 10.80 मेगावाट बिजली ने दूसरे जनपद के लोगों के गर्मी में पसीने पोंछे। चार माह में बिजली विभाग को करीब आठ करोड़ रुपये राजस्व का नुकसान पहुंचा है। अब विभागीय अधिकारी घटते राजस्व को लेकर काफी चिंतित है। उन्हें समझ में नहीं आ रहा है कि निर्धारित लक्ष्य को कैसे पूरा किया जाए।
सोनांचल में उत्पादित बिजली से आधा भारत रोशन होता है। यहां से विभिन्न पावर प्लांटों से प्रतिदिन करीब दस हजार मेगावाट बिजली उत्पादित होती है। बावजूद इसके यहां के लोगों को अंधेेरे में रहना पड़ता है। इतना ही नहीं बिजली नहीं मिलने की वजह से नलकूप तक चल नहीं पाते हैं। नतीजा यह है कि लोगों को पानी के लिए दर-दर भटकना पड़ता है। फिर भी सरकार और जिला प्रशासन मौन है। इस बात की कसक सोनांचल के एक-एक जनता को है। मगर उनकी पीड़ा को सुने कौन। डाला बिल्ली क्षेत्र के करीब तीन सौ क्रशर प्लांट को प्रतिदिन करीब 900 किलोवाट बिजली की जरूरत पड़ती है। 27 फरवरी को बिल्ली मारकुंडी क्षेत्र में अवैध खनन हादसे के बाद जनपद में सभी प्रकार के खनन पर रोक लगा दी गई। क्रशर प्लांटों के बंद होने से यहां बिजली की खपत कम हो गई। फिर भी भीषण गर्मी में जनपद के लोगों को बिजली संकट से राहत नहीं मिली। इस तरह देखा जाए तो एक माह में 27 सौ किलोवाट तथा चार माह में दस हजार आठ सौ किलोवाट बिजली की बचत हुई। यानी 10. 8 मेगावाट बिजली की बचत हुई। बताया जाता है कि लखनऊ शक्तिभवन बची बिजली को अन्य जनपदों में वितरित कर दिया। बिजली विभाग के इस व्यवहार से सोनांचल के लोगों में आक्रोश है।

Spotlight

Most Read

Dehradun

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

21 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: सोनभद्र में सफाई कर्मचारियों ने इसलिए मुंडवाया अपना सिर

पूर्वी यूपी के सोमभद्र में उत्तर प्रदेश पंचायती राज ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ के लोगों ने कलेक्ट्रेट पर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान अपनी 11 सूत्रीय मांगों को पूरी कराने को लेकर दर्जनों सफाईकर्मियों  ने सिर मुंडन कराया।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper