गिरफ्तारी से नक्सल मूवमेंट को लगा झटका

Sonbhadra Updated Sun, 27 May 2012 12:00 PM IST
सोनभद्र। हार्डकोर नक्सली मुन्ना विश्वकर्मा और अजीत कोल के गिरफ्तारी के बाद नक्सल मूवमेंट को बहुत बड़ा झटका लगा है। मुन्ना के पकड़ने जाने के बाद अन्य नक्सलियों के परिजन अपने घर जाने की तैयारी में जुट गए हैं। इससे सीमावर्ती इलाकोें के निवासियों के लिए राहत भरी बात है।
वर्ष 2011 में पुलिस के समक्ष हार्डकोर नक्सली अजय राजभर, गुड्डू सिंह, नवल और सुनील ने आधुनिक असलहों के साथ समर्पण कर नक्सली खेमे में हड़कंप मच दिया था। मुखबिरी की सूचना पर मुन्ना विश्वकर्मा के नेतृत्व में नक्सलियों ने बिहार प्रांत के रोहतास जनपद निवासी मुखिया सुग्रीव खरवार के सगे और चचेर भाई समेत चार की हत्या और यदुनाथपुर गांव के मुखिया गंगेश्वर सिंह के मकान में लूटपाट करने के बाद उसमें आग लगा कर पुलिस महकमे में खलबली मचा दी थी। नक्सलियों के चेतावनी के बाद समर्पण करने वाले नक्सलियों के परिजन खुद की जान बचाने के लिए बिहार, झारखंड छोड़कर जिले के पुलिस के शरण में आकर रह रहे हैं। हालांकि बृहस्पतिवार को एसपी सुभाष चंद्र दुबे ने फोर्स के साथ दिलेरी दिखाते हुए कनच कन्हौरा जंगल में पहुंच कर मुठभेड़ के दौरान शातिर नक्सली तीन लाख रुपये का इनामी मुन्ना और पचास हजार का इनामी अजीत कोल को गिरफ्तार कर लोगों के अंदर का भय समाप्त कर दिया है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: राब‌र्ट्सगंज में निकली शोभायात्रा, जमकर थिरके श्रद्धालु

सोनभद्र जिले के राब‌र्ट्सगंज अंबेडकर नगर स्थित कड़े शीतला माता के 7वें स्थापना दिवस पर शोभ यात्रा निकाली गई। ये शोभा यात्रा सुबह 10.30 बजे मंदिर से निकलकर अंबेडकर नगर, सिनेमा हाल रोड, पन्नूगंज रोड और पकरी नहर से होते हुए वापस मंदिर जा पहुंची।

22 जनवरी 2018