विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

रेड जोन घोषित इलाकों में 60 हजार घरों के लोग चार दिन रहेंगे कैद, अघोषित कर्फ्यू जैसा होगा माहौल

कानपुर में रेड जोन घोषित क्षेत्रों के करीब 60 हजार घरों के लोग चार दिन तक घर से बाहर नहीं निकल पाएंगे। स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम की टीमें जब तक एक-एक घर में पहुंचकर स्वास्थ्य परीक्षण नहीं करा लेतीं इन इलाकों में अघोषित कर्फ्यू जैसा माहौल रहेगा।

6 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

सोनभद्र

सोमवार, 6 अप्रैल 2020

सिलिंडर की होम डिलेवरी न होने पर होगी कार्रवाई

सोनभद्र। प्रशासन ने गैस एजेंसी संचालकों को सिलेंडर की होम डिलेवरी करने का निर्देश दिया है। ताकि किसी को लॉक डाउन के दौरान सिलिंडर लेने के लिए घर से बाहर न जाना पड़ें। उज्ज्वला योजना के उपभोक्ताओं को तीन माह तक मुफ्त घरेलू गैस सिलिंडर मुहैया कराया जाएगा। इसके लिए भारत सरकार की ओर से निर्देश जारी कर दिया गया है।
कोरोना वायरस के चलते जिले को लॉक डाउन कर दिया गया है। इस नाते लोग अपने घरों से न के बराबर निकल रहे हैं। हालांकि प्रशासन की ओर से लोगों को रोजमर्रा की सामानों की होम डिलेवरी की व्यवस्था शुरू करा दी है। ताकि लोगों को सामानों को लेने के लिए न निकलना पड़ें। इंडियन ऑयल के एरिया सेल्स मैनेजर सोम्य दीप दत्ता ने बताया कि गैस सिलिंडर के लाभार्थी अंतिम रिफिल प्राप्त होने के 15 दिन के बाद अगली रिफिल बुक करा सकते हैं। लॉकडाउन की अवधि में सिलिंडर की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी। गैस एजेंसी से जुड़े सभी कर्मी निस्वार्थ रूप से कोरोना के इस संकट की घड़ी में अपने कर्तव्यों क निर्वहन करते हुए घर-घर जाकर उपभोक्ताओं को सिलिंडर मुहैया करा रहे हैं। उज्ज्वला योजना के उपभोक्ताओं को अप्रैल, मई और जून में मुफ्त घरेलू गैस सिलिंडर मुहैया कराया जाएगा। जिलापूर्ति अधिकारी डॉ. राकेश तिवारी ने सभी गैस एजेंसी संचालकों को सिलिंडरों की होम डिलेवरी करने का आदेश दिया है। कहा कि उपभोक्ताओं द्वारा होम डिलेवरी न होने की शिकायत प्राप्त होने पर जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

राशन लेने को लेकर कोटेदार के पति और ग्रामीणों में हाथापाई

शाहगंज । थाना क्षेत्र के बरसोत गांव में शुक्रवार को कोटे की दुकान पर राशन लेने को लेकर कोटेदार के पति और कुछ युवकों में हाथापाई हो गई। घटना की जानकारी होने पर मौके पर पहुंची पुलिस विवाद करने के आरोप में दोनों पक्षों के कई लोगों को थाने ले गई। इससे नाराज कई महिलाएं थाने पहुंच गईं और हिरासत में लिए गए लोगों को छोड़ने की मांग करने लगीं।
एक अप्रैल से जिले के सभी कोटे की दुकानों पर अंत्योदय कार्डधारकों को मुफ्त में राशन दिया जा रहा है। इनके अलावा मनरेगा के सक्रिय जॉब कार्डधारकों, श्रम विभाग में पंजीकृत श्रमिकों को पंजीयन प्रमाण पत्र दिखाने पर अनाज दिया जा रहा है। शुक्रवार को बरसोत गांव में कोटे की दुकान पर राशन का वितरण किया जा रहा था। इस दौरान कुछ लोगों ने राशन वितरण में धांधली बरतने का आरोप लगाते हुए हंगामा करना शुरू कर दिया। कोटेदार के पति ने सभी को समझा बुझाकर शांत कराने का प्रयास किया तो कुछ लोग हाथापाई करने पर उतारू हो गए। मामला गंभीर होते देख कोटेदार के पति ने 112 नंबर पर सूचना देकर पुलिस बुला लिया। पुलिस दोनों पक्षों को थाने ले गई। वहीं घटना से क्षुब्ध होकर कई महिलाएं थाने पहुंच गईं और हिरासत में लिए गए लोगों को छोड़ने की मांग करने लगीं। लेकिन पुलिस ने कहा कि जांच करने के बाद ही कोई निर्णय लिया जाएगा। वहीं कोटेदार नीलम सिंह के पति शशिकांत सिंह का कहना है कि ब्लॉक से जो सूची प्राप्त हुई, उसके आधार पर ही राशन का वितरण किया जा रहा था। अनायास कुछ लोग विवाद करने लगे। इस संबंध में शाहगंज थानाध्यक्ष भुवनेश्वर पांडेय ने कहा कि कोटे की दुकान पर हंगामा करने के मामले की जांच की जा रही है। अगर कोई तहरीर देगा तो आगे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

धर्मगुरू भी लाकडाउन सफल बनाने के लिए लोगों को करेंगे जागरूक

सोनभद्र। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए लागू लॉक डाउन को सफल बनाने के लिए सभी संप्रदायों के धर्मगुरु भी लोगों को जागरूक करने में सहयोग करें। सामाजिक दूरी ही कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव का रास्ता है। जनता में धर्मगुरुओं की अच्छी पैठ होती है। धर्मगुरुओं की बातों को लोग मानते भी हैं। सामाजिक दूरी का पालन करना है, कहीं पर भी भीड़ इकट्ठा नहीं होने देना है। धार्मिक स्थलों पर भीड़ इकट्ठा न होने पाए। स्वयं के साथ ही समाज व देश के लिए सामाजिक दूरी को बनाये रखने के साथ ही नागरिकों से भी सामाजिक दूरी बनाये रखने का प्रयास जारी रखा जाए।
ये अपील जिलाधिकारी एस राजलिंगम व पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने पुलिस लाइन चुर्क मीटिंग हाल में जिले के सभी संप्रदायों के धर्मगुरुओं के साथ आयोजित समन्वय बैठक में की। जिलाधिकारी ने धर्मगुरुओं से मिल रहे सहयोग के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मानव जीवन सबसे बड़ा है। मानव जीवन से ही सब कुछ है। लॉक डाउन में सभी नागरिक अपने घरों में रहकर सामाजिक दूरी का पालन करें और प्रयास हो कि कोरोना वायरस का संक्रमण न फैलने पाए। कहा कि जान है, तो जहान है। लिहाजा जान की हिफाजत करते हुए जहान को भी सुरक्षित रखने में सहयोग करें। सामाजिक दूरी को बनाये रखना मानव होने के नाते जरूरी है। सामाजिक दूरी व व्यक्तिगत सफाई ही कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने का सबसे बेहतर उपाय है। संकट की स्थिति में धैर्य से काम करें और अपने-अपने धर्मों के मानने वाले नागरिकों को सामाजिक दूरी बनाये रखने के प्रति जागरूक करें। किसी भी हाल में धार्मिक स्थलों पर पूजा-पाठ व मन्नत आदि के नाम पर भीड़ एकत्र न होने दी जाए। जिला प्रशासन जिले में सभी नागरिकों की सुरक्षा व उनके खान-पान के लिए पूरी तरीके से तत्पर है, सिर्फ जरूरत है सामाजिक दूरी बनाकर कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने की है। समन्वय बैठक में मौजूद सभी धर्मोें के धर्मगुरुओं ने कोरोना के संक्रमण के रोकने के लिए हर संभव कारगर कदम उठाने और किसी भी धर्म स्थल पर भीड़ इकट्ठा न होने का भरोसा दिलाया। धर्मगुरुओं ने कहा कि नागरिकों से अपील करके सोशल दूरी बनाये रखने के प्रति जागरूक भी किया जायेगा। मानव कल्याण के लिए सभी कारगर कदम उठाये जाएंगे।
... और पढ़ें

साढ़े दस हजार से अधिक गरीब परिवारों के पास राशन कार्ड नहीं

सोनभद्र। जिले में 10748 परिवार ऐसे हैं जिनके पास राशन कार्ड ही नहीं है। कोरोना वायरस के फैलाव पर रोक के लिए घोषित लाकडाउन के दौरान प्रशासन ऐसे परिवारों को चिह्नित कर राशन व भोजन उपलब्ध करा रहा है। प्रशासन ऐसे अन्य परिवारों को भी चिह्नित करा रहा है, जिनके पास राशन कार्ड नहीं है, ताकि इस संकट की घड़ी में कोई भूखा न रहे।
लॉकडाउन के दौरान तमाम ऐसे परिवार चिह्नित किए गए हैं, जिन्हें राशनकार्ड के अभाव में सरकार की तरफ से घोषित कल्याणकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा था। इस बीच प्रदेश सरकार की तरफ से जब यह आदेश आया कि कोरोना वायरस के फैलाव पर रोक के लिए घोषित लाकडाउन के दौरान कोई भी परिवार भूखा न सोने पाए, तो प्रशासन की सक्रियता और बढ़ गई।
इसी कड़ी में जिले में सभी आठ ब्लाकों में 10748 ऐसे परिवार चिह्नित किए गए हैं, जिनके पास राशनकार्ड नहीं है। इनमें अकेले 3764 ऐसे जनजाति वर्ग के परिवार हैं, जिनके राशन कार्ड अब तक नहीं बन पाए हैं। इसी तरह से विभिन्न ग्राम पंचायतों में 3347 ऐसे और गरीब परिवार हैं जिनके राशन कार्ड नहीं बने हैं। यही नहीं, स्थानीय निवासी दिहाड़ी पर मजदूरी कर जीवन यापन करने वाले 2391 ऐसे परिवार भी हैं, जिनके समक्ष लॉकडाउन के कारण दो जून की रोटी का संकट पैदा हो गया है। इनके पास भी राशनकार्ड की सुविधा नहीं है।
इनके अलावा अन्य जनपदों व प्रांतों से यहां आकर दैनिक मजदूरी कर जीवन यापन करने वाले 1246 अन्य श्रमिक भी हैं, जिनके राशन कार्ड नहीं बन सके हैं। प्रशासन की तरफ से इन लोगों को चिह्नित कर सभी के आवेदन पत्र राशन कार्ड के लिए भरवाए जा रहे हैं। साथ ही इन लोगों को राशन किट व कम्युनिटी किचन के जरिए भोजन उपलब्ध कराना भी शुरू कर दिया गया है।
जिले के सीडीओ अजय कुमार द्विवेदी ने बताया कि चिह्नित किए गए सभी लोगों को राशन किट उपलब्ध कराई जा रही है। कम्युनिटी किचन के माध्यम से इन लोगों को भोजन भी उपलब्ध कराई जा रही है। इनके राशन कार्ड बनवाने की प्रक्रिया भी तेजी से चल रही है। अब तक करीब ढाई हजार लोगों के आवेदन पत्र राशन कार्ड बनाने के लिए भरवाए जा चुके हैं। अन्य लोगों के राशन कार्ड बनाए जाने की प्रक्रिया चल रही है।
... और पढ़ें

एक वेंटिलेटर से पांच रोगी होंगे वेंटिलेट

शक्तिनगर। आवश्यकता ही आविष्कार की जननी होती है। आज जब देश वैश्विक महामारी कोविड-19 के चपेट में है, तब चिकित्सा से जुड़े उपकरणों की उपलब्धता पूरे राष्ट्र के लिए एक प्रमुख चुनौती बन चुकी है। इस आपदा की परिस्थिति में नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड, सिंगरौली के प्रमुख अस्पताल नेहरू शताब्दी चिकित्सालय (एनएससी) के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. पंकज कुमार का एक वेंटीलेटर के अधिकतम उपयोग को लेकर आया चिकित्सकीय नवाचार क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। डॉ. पंकज कुमार ने एक वेंटिलेटर से एक साथ पांच रोगियों को वेंटिलेट करने की प्रक्रिया का प्रदर्शन किया।
एनएससी द्वारा जारी विडिओ क्लिप में इस सेशोधित वेंटिलेटर की कार्य-प्रणाली दिख रही है जिसके तहत इनहेलेशन और एक्सहेलेशन पोर्ट दो अलग-अलग तांबे की नलियों से जुड़ा है जिसमें पांच निकास बिंदु हैं। प्रत्येक रोगी का इनहेलेशन पोर्ट, कॉपर इनहेलेशन असेंबली से जुड़ा है जो वेंटिलेटर के इनहेलेशन पोर्ट से जुड़ता है। इसी प्रकार प्रत्येक रोगी की एक्सहेलेशन ट्यूब वेंटिलेटर के एक्सहेलेशन पोर्ट से जुड़ी है। यहीं पर वायरल / बैक्टीरियल फ़िल्टर भी जुड़ा हुआ है।
वेंटिलेटर को बैरोट्रामा और वॉल्यूमट्रामा से बचाने के उद्देश्य से दबाव नियंत्रण मोड में सेट किया गया है जो रोगी की व्यक्तिगत आवश्यकता के अनुसार कार्य करेगा। वेंटिलेटर प्रणाली के इस संशोधित स्वरूप से आपदा की स्थिति में कई कीमती जीवन बचाया जा सकते हैं। साथ ही कोरोना वायरस जनित महामारी के आलोक में किसी भी आपात कालीन व्यवस्था से निपटने में व वेंटिलेटर की अत्यधिक कमी को देखते हुए यह आपातकालीन व्यवस्था बेहद कारगर साबित हो सकती है।
... और पढ़ें

ड्रोन कैमरे में कैद हुई घूमने वालों की तस्वीर

सोनभद्र। राबट्र्सगंज समेत कई इलाकों में ड्रोन कैमरे से लाक डाउन तोडने वालों पर पैनी नजर रखी जा रही है। रविवार को ड्रोन कैमरे ने सड़कों पर घूम रहे कइयों की तस्वीर कैद कर लिया। पुलिस ने कैमरे से टहल रहे लोगों के फोटो की शिनाख्त करने में जुट गई है। एसपी आशीष श्रीवास्तव ने मातहतों को बगैर काम के घरों से बाहर निकलने वालों के खिलाफ केस दर्ज करने का निर्देश दिया है।
कोरोना वायरस के चलते जिले को लॉकडाउन कर दिया गया है। लोगों को घरों से न निकलने की अपील की जा रही है। क्योंकि छूआछूत से कोरोना पांव पसारने का खतरा बना हुआ है। लेकिन रोक के बावजूद कुछ लोग घरों के बाहर घूमने से बाज नहीं आ रहे। हालांकि पुलिस प्रशासन ने ड्रोन कैमरे से लॉकडाउन का पालन न करने वालों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है। पिछले 24 घंटे के दौरान ड्रोन कैमरे ने राबर्ट्र्सगंज नगर और आसपास के गांवों में घरों के बाहर सड़कों पर आ जा रहे कइयों की फोटो ली है।
रविवार को भी ड्रोन कैमरे से निगरानी की जा रही थी। राबर्ट्र्सगंज में एडीएम योगेंद्र बहादुर सिंह, एएसपी ओपी सिंह, सीओ राजकुमार तिवारी और कोतवाल मिथिलेश मिश्रा अलग-अलग भ्रमण कर लॉकडाउन का जायज लिया। पुलिस प्रशासन ने कैमरे में कैद तस्वीरों की जांच पड़ताल शुरू कर दी है। पुलिस यह पता लगा रही है कि सड़कों पर घूमने वाले व्यक्ति किसी काम से घरों के बाहर निकले थे या घूम रहे थे। एएसपी ओपी सिंह ने कहा कि ड्रोन कैमरे में जिनकी तस्वीर कैद हुई उनके बारे में जांच कर कार्रवाई की जाएगी। लॉकडाउन का उलंघन करने वाले किसी सूरत में बख्शे जाएंगे।
... और पढ़ें

एक साथ दीये जलाकर कराया एकजुटटा का एहसास

सोनभद्र। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर रविवार की रात नौ बजे से नौ मिनट तक दीया, मोमबत्ती, टार्च जलाकर उजाला फैलाने की मुहिम को लेकर लोगों में जबरदस्त उत्साह देखने को मिला। इस मुहिम में हर वर्ग के लोग शामिल हुए। रात नौ बजते ही लोगों अपने घरों की लाइट बुझाकर बाहर, बालकनी और छतों पर जाकर दीये जलाए। वहीं कुछ लोगों ने टार्च तो किसी ने मोमबत्ती जलाकर उजाला फैलाया। रात में एक साथ नौ मिनट तक दीये जलने से दीपावली जैसा माहौल हो गया था। आम जनमानस के साथ भाजपा एवं सहयोगी पार्टी अपना दल के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने इस मुहिम में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। वहीं विपक्षी दलों के नेताओं ने इस मुहिम की आलोचना भी की। सपा जिलाध्यक्ष ने दीप जलाने की बजाए जरूरतमंदों को सहायता पहुंचाने पर जोर दिया। वहीं बसपा जिलाध्यक्ष ने इसे अंधविश्वास करार दिया।
जिला मुख्यालय राबर्ट्सगंज नगर में रविवार को सुबह से ही लोग प्रधानमंत्री के उजाला फैलाने की मुहिम को सफल बनाने के लिए एकजुटता का संदेश देने की तैयारी में जुट गये थे। भारतीय जनता पार्टी के जिलामंत्री अजीत रावत ने राबर्ट्सगंज दलित बस्ती में जाकर लोगों में दीया बांटा। उन्होंने बस्ती के लोगों से रात नौ बजे से नौ मिनट तक घर के बाहर निकलकर दीया जलाने की अपील की। मां शारदा शिक्षा एवं सेवा ट्रस्ट राबर्ट्सगंज (विंध्य कन्या महाविद्यालय) की ओर से 100 गरीबों एवं असहायों के परिवारों में दीया व खाद्य सामग्री का वितरण किया गया।
वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए ट्रस्ट के अध्यक्ष शारदा सिंह ने गरीबों में चावल, आटा, दाल, साबुन, तेल के साथ रात नौ बजे उजाला फैलाने के लिए तेल से भरे दीये वितरित किए। इस अवसर पर महाविद्यालय की प्राचार्या डा. अंजली विक्रम सिंह, डा.वी सिंह, डा.अजय कुमार सिंह, आनंद बहादुर सिंह, विश्रुत सिंह आदि मौजूद रहे। इसी तरह जिले के शाहगंज, घोरावल, करमा, केकराही, चोपन, डाला, रेणुकूट, दुद्धी, विंढमगंज, वैनी, खलियारी, रामगढ़, कोन, महुली, बभनी, म्योरपुर सहित अन्य स्थानों पर सामाजिक कार्यकर्ताओं की तरफ से गरीबों को दीया व तेल बांटा गया। दीये जलाते वक्त लोगों ने सोशल डिस्टेंस का भी ख्याल रखा।
... और पढ़ें

सूचना न देने पर 11 प्रभारियों की वेतन रोकने की संस्तुति

दुद्धी। कोरोना वायरस से निपटने के लिए प्राथमिक विद्यालयों में गांव के मजदूर असहायों के लिए चल रहे अन्नपूर्णा किचेन में प्रतिदिन भोजन करने वालों की सूचना नहीं देने पर कारण बीईओ ने कड़े कदम उठाते हुए संबंधित प्रभारियों का वेतन रोकने की संस्तुति की है। इससे ग्राम पंचायत अन्नपूर्णा किचेन प्रभारियों में हड़कंप मच गया है।
खंड शिक्षा अधिकारी आलोक कुमार ने बताया कि कोरोना वायरस महामारी के कारण ग्राम पंचायत स्तर पर अन्नपूर्णा किचेन स्थापित किया गया है। इसमें गांव के गरीब मजदूर भोजन करते हैं। सुबह और शाम भोजन करने वालों की सूचना प्रतिदिन प्रभारी अध्यापकों द्वारा दिया जाना है। लेकिन ब्लॉक क्षेत्र के 11 विद्यालयों के ग्राम पंचायत अन्नपूर्णा किचेन प्रभारियों ने भोजन करने वालों की सूचना नही दी है। जिस पर कार्रवाई करते हुए अग्रिम आदेश तक वेतन रोकने की संस्तुति जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से की गई है।
सूचना नही देने पर वेतन रोकने की संस्तुति करने वालों में प्राथमिक विद्यालय मझौली, प्राथमिक विद्यालय झारोकला ,प्राथमिक विद्यालय रहिलवाडी टोला करमडाड़, प्राथमिक विद्यालय कनकोडवा, प्राथमिक विद्यालय गुलालझरिया, प्राथमिक विद्यालय हीराचक, प्राथमिक विद्यालय फुलवार, प्राथमिक विद्यालय डुमरा, प्राथमिक विद्यालय हरपुरा द्वितीय, प्राथमिक विद्यालय महुअरिया तथा प्राथमिक विद्यालय पनिकाटोला टेढ़ा शामिल है।
... और पढ़ें

लाक डाउन तोडने वालों के विरूद्ध होगी कार्रवाई, एडीएम

घोरावल/शाहगंज। कोरोना वायरस को लेकर रविवार को घोरावल कोतवाली और शाहगंज थाने मेें धर्म गुरुओं की बैठक हुई। अधिकारियों नेे उपस्थित लोगों को लाक डाउन का पालन करने एवं कोरोना के प्रति आसपास के लोगों को जागरूक करने की अपील किया। सरकार के निर्देशों का पालन न करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कहीं।
घोरावल में एडीएम योगेंद्र बहादुर सिंह ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते इस समय देश संकट के दौर से गुजर रहा है। कोरोना वायरस का अभी तक कोई इलाज नहीं मिला है। ऐसे में इस संकट से बचने का सर्वाधिक महत्वपूर्ण उपाय यहीं है कि हम सब प्रधानमंत्री के दिशा निदेर्शों के अनुसार सोशल डिस्टेंसिंग एवं लॉक डाउन के नियमों का अनुपालन करें। बुजुर्गों व बच्चों का खास तौर से ध्यान रखें।
एएसपी ओपी सिंह ने कहा कि ग्राम प्रधान एवं जिम्मेदार लोग बाहर से आए लोगों की जानकारी तत्काल पुलिस को दें। जिला मुख्यालय पर कोरोना जांच के लिए टीम गठित की गई है जो जानकारी मिलते ही मौके पर जाकर बाहर से आए लोगों की जांच करेगी। जो लोग दिल्ली के निजामुद्दीन में जमात के कार्यक्रम में गए हों अथवा किसी अन्य काम से दिल्ली मुंबई या अन्य स्थानों से लौटे हों वे तत्काल इसकी जानकारी प्रशासन को उपलब्ध कराएं।
उन्होंने मुस्लिम धर्म गुरुओं से कहा कि 9 अप्रैल को शबे बरात में भीड़ न जुटने पाएं। सड़क पर या गलियों में न निकलें। एसडीएम प्रकाशचंद्र, सीओ रामआशीष यादव, नगर पंचायत अध्यक्ष राजेश कुमार, सीएचसी अधीक्षक डॉ. मुन्ना प्रसाद, ईओ चैतन्य कुमार तिवारी, प्रभारी निरीक्षक बृजेश कुमार सिंह, चौकी इंचार्ज दूधनाथ दूबे, अरुण पांडेय, इनामुलहक अंसारी, प्रशांत आदि मौजूद रहे। वहीं शाहगंज पुलिस चौकी परिसर में भी एएसपी ओपी सिंह व एडीएम योगेन्द्र बहादुर सिंह ने उपस्थित सभी समुदाय के लोगों को कोरोना के बचाव के बारे में जानकारी दी गई । थानाध्यक्ष भुनेश्वर पांडेय, चौकी प्रभारी जयप्रकाश शर्मा, प्रधान भोला सिंह, मार्तड प्रताप सिंह, श्याम बिहारी सेठ, आद्या पांडेय, माला चौबे, जलील खान, इरसान खान आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

रात नौ बजते ही नौ मिनट तक चहुंओर फैलाएंगे उजाला

सोनभद्र। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर रविवार की रात नौ बजे नौ मिनट तक दिया, मोमबत्ती, टार्च जलाकर उजाला फैलाने मुहिम को लेकर लोगों में जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। इसके पूर्व संध्या पर ही लोग इसको लेकर योजना बनाने में लगे रहे।
गिरीश प्रताप सिंह ने कहा कि वह अपने घर को दिवाली की तरह दिए से रोशन करेंगे। संतोषधर द्विवेदी ने कहा कि वह और उनका परिवार दिया, मोमबत्ती के साथ टार्च भी जलाएगा। रीतू जालान और सुुचिता ने कहा कि पीएम मोदी के आह्वान ने महज छह माह के भीतर दूसरी बार दिवाली मनाने का मौका दे दिया है।
वह और उनका पूरा परिवार इसको लेकर उत्साहित है। पूजा अग्रहरी और तनू पांडेय ने कहा कि दिए रविवार की रात को जलाने हैं लेकिन उसका लेकर उनका पूरा परिवार प्रधानमंत्री मोदी के आह्वान के बाद से ही उत्साहित है।
... और पढ़ें

#Corona बरतें सावधानी न स्विच आफ करें सबकुछ,एक साथ बिजली बंद होने से फेल हो सकता है ग्रिड

कोरोना महामारी से लड़ाई के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज रात नौ बजे से नौ मिनट के लिए लाइट बंद कर दीए, मोमबत्ती, टार्च और मोबाइल की फ्लैश लाइट आदि जलाने का आह्वान किया है। उधर, उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत परिषद अभियंता संघ के केंद्रीय अध्यक्ष इं. जीके मिश्र व ओबरा पिपरी क्षेत्र के क्षेत्रीय सचिव इं अदालत वर्मा ने कहा है कि एक साथ पूरे देश में घरों की बिजली 9 मिनट तक बंद होने और एक साथ चालू होने से नेशनल ग्रिड पर असर पड़ सकता है। इसलिए सावधानी बरतना जरूरी है। लोग लाइट आफ करने के दौरान फैन, टीवी, फ्रीज, एसी, कूलर न बंद करें। और लाइट एक साथ नहीं कुछ अंतराल पर क्रम से आन करें। 

पदाधिकारियों ने कहा है कि अगर नौ मिनट के लिए पूरे देश के सभी घरों की लाइट एक साथ बंद कर दी तो पूरी ग्रिड के ओवर फ्रीक्वेंसी पर असर होगा। इसका मतलब यह है कि 50 हर्ट्स से ज्यादा का जेनरेटिंग सिस्टम ट्रिप कर सकता है। इनका कहना है कि जुलाई 2011 में एक बार ऐसा हो चुका है, जब पूरे भारत में ग्रिड फेल हो गया था। पश्चिमी ग्रिड को छोड़कर, बाकी भाग में अंधेरा हो गया था और लगभग तीन दिन तक लगातार मशक्कत के बाद स्थिति ठीक हुई थी।

कहा कि ग्रिड फ्रीक्वेंसी पूरे भारत में 50 हर्ट्स है। न्यूनतम 48.5 हर्ट्स और अधिकतम 51.5 हर्ट्स तक के वेरिएशन को ग्रिड रीस्टोर कर लेता है परंतु इसके बाहर की फ्रीक्वेंसी पर नहीं। हमारे पॉवर ग्रिड सिस्टम में अचानक बिजली का लोड हटने पर फ्रीक्वेंसी बढ़ती है और अचानक लोड बढ़ने पर फ्रीक्वेंसी घटती है। भारत में इस समय सभी पॉवर प्लांट अपनी पूरी क्षमता के 77 प्रतिशत कम क्षमता पर काम कर रहे हैं, क्योंकि इस समय सब कुछ बंद है। सिर्फ घरेलू लोड है। अगर लोड और कम हुआ तो ग्रिड फेल हो सकता है।

उन्होंने कहा कि ग्रिड के मद्देनजर सभी देशवासियों से अपील है कि पॉवर अचानक डिप में न जाए, इसके लिए लाइट के अलावा फैन, टीवी, फ्रीज, एसी, कूलर इत्यादि उपकरण बंद न करें। समयावधि से 15 से 20 मिनट पहले से ही एक- एक करके लोड ऑफ करें। इन पदाधिकारियों ने यह भी कहा है कि कोई भी व्यक्ति या जनप्रतिनिधि किसी फीडर को शटडाउन करने के लिए विद्युत कर्मचारी पर दबाव न डालें।

नौ मिनट के बाद लाइट चालू भी एक-एक करके 15 से 20 मिनट की समयावधि में करें। यदि इन सुझावों का अनुपालन नहीं किया गया तो अचानक एक साथ लोड कटने से ग्रिड फेल हो सकता है और सप्लाई भी कई घंटे के लिए बाधित हो सकती है। उधर, अभियंता संघ के पदाधिकारियों का कहना है कि इस समस्या से बचने के लिए पावर प्लांट और विद्युत उपकेंद्रों पर तकनीकी कर्मियों की रात आठ से दस बजे तक ड्यूटी भी लगाई गई है।

... और पढ़ें

ड्रोन कैमरे से लॉक डाउन तोड़ने वालों की तलाश शुरू

सोनभद्र। लॉक डाउन तोड़ने वालों के प्रति प्रशासन ने कड़ा रुख अख्तियार कर लिया है। शनिवार को राबर्ट्र्सगंज में एडीएम और एसपी की मौजूदगी में ड्रोन कैमरे से निगरानी शुरू हुई। कैमरे से पता लगाया जा रहा कि कौन-कौन लोग लॉक डाउन का उल्लंघन कर बगैर जरूरी काम के बाहर घूम रहे हैं। कैमरा चालू होते ही घरों के बाहर या छत पर जो लोग थे वे लोग अपने-अपने मकान के अंदर छिप गए।
लोगों को कोरोना वायरस महामारी से बचाने के लिए लॉक डाउन कर दिया गया है। शहर से लेकर गांव तक प्रशासनिक अमला भ्रमण कर लोगों को घरों में रहने की अपील कर रहा है। क्योंकि कोरोना बीमारी एक-दूसरे को स्पर्श करने से फैलने वाली है। बावजूद इसके कुछ लोग घरों के बाहर निकलने से बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसे लोगों को चिन्हित करने के लिए पुलिस ड्रोन कैमरे का सहारा लेना शुरू कर दिया है। शनिवार को डीएम एस. राजलिंगम और एसपी आशीष श्रीवास्तव ने संयुक्त रूप से थाना प्रभारियों को ड्रोन कैमरे से निगरानी करते हुए धारा 144 का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश दिया।
राबर्ट्र्सगंज के मेन चौक से सिटी सीओ राजकुमार त्रिपाठी और कोतवाल मिथिलेश मिश्रा ने ड्रोन कैमरे से निगरानी शुरू कराई। कैमरे ने पूरब मोहाल, नई बस्ती समेत अन्य इलाकों में भ्रमण कर लॉक डाउन की तस्वीर कैद किया। इस दौरान पुलिस ने एक स्कार्पियो को रोक कर उसका चालान करवा दिया। रात मेें भी कैमरे से निगरानी की जाएगी। एडीएम योगेंद्र बहादुर सिंह ने कहा कि ड्रोन कैमरे से लाक डाउन का उल्लंघन करने वालों को चिन्हित कर उनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। एएसपी ओपी सिंह ने कहा कि आवश्यकतानुसार शहर एवं ग्रामीण इलाकों में ड्रोन कैमरे से नजर रखी जा रही है। कैमरे से लोगों के छतों, बारजा आदि जगहों पर ईट, पत्थर आदि तो एकत्र नहीं किए गए है इसका भी पता लगाया जा रहा है। कहा कि लॉक डाउन का पालन न करने वालों को कदापि नहीं बख्शा जाएगा।
... और पढ़ें

मस्जिद में मिले 17 लोगों समेत 19 की रिपोर्ट निगेटिव

ओबरा। स्थानीय शिक्षा निकेतन इंटरमीडिएट कालेज में बनाये गए क्वारंटीन सेंटर में रखे गए 19 लोगों की शनिवार को रिपोर्ट निगेटिव आई है। यहां रखे गए लोगों में से मिल्लत नगर स्थित मस्जिद से पकड़े गए 17 मुस्लिम शामिल हैं। इनके अलावा ओबरा के सेक्टर 10 में बाहर से आकर कई दिन से रह रहे दो अन्य लोग भी शामिल हैं। सबकी जांच रिपोर्ट निगेटिव आने से क्षेत्र के लोगों ने राहत की सांस ली है।
दिल्ली के निजीमुद्दीन का मामला सामने आने के बाद ओबरा पुलिस ने बीते बुधवार को मिल्लत नगर मस्जिद में जांच कर 16 मुस्लिमों को हिरासत में लिया था। 14 मार्च को इनके पास से रुड़की से आने का टिकट मिला था। इसके बाद शुक्रवार को भी इसी मस्जिद से एक अन्य मुस्लिम समुदाय के व्यक्ति को पुलिस ने पकड़ा था। इन सभी 17 लोगों को शिक्षा निकेतन में क्वारंटीन किया गया है। इनके अलावा ओबरा के सेक्टर 10 में बाहर से कई दिन से आकर रह रहे दो अन्य लोगों को भी यहीं क्वारंटीन किया गया है।
इन सभी लोगों के सैंपल बृहस्पतिवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जांच के लिए बीएचयू भेजा था। इस बीच शनिवार को इन सभी की जांच रिपोर्ट आ गई। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एसके उपाध्याय ने बताया कि 19 लोगों की जांच रिपोर्ट आ गई है। रिपोर्ट सभी की निगेटिव है। उधर, प्रभारी निरीक्षक ओबरा शैलेश राय के अनुसार 14 मार्च को यहां आए मुस्लिम समुदाय के 16 लोगों को मिल्लत नगर मस्जिद में पकड़ा गया था। एक अन्य को बाद में इसी मस्जिद से पकड़ा गया था जबकि दो अन्य लोगों को ओबरा के सेक्टर 10 से पकड़ा गया। इन सभी को शिक्षा निकेतन में क्वारंटीन किया गया है। सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर क्वारंटीन सेंटर में फोर्स तैनात है। समय समय पर आला अधिकारी मौका मुआयना कर सभी व्यवस्था का जायजा ले रहे हैं। सभी की निगरानी जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम कर रही है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
sonebhadra Badhai Sandesh
DIWALI COOPAN
DIWALI COOPAN
DIWALI COOPAN

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us