सुधरेगी बिजली व्यवस्‍था, बनेंगे दो रेलवे स्टेशन

Sitapur Updated Thu, 20 Dec 2012 05:30 AM IST
सीतापुर। नया साल जिले के लोगों के लिए कई तोहफे लेकर आ रहा है। पावर कारपोरेशन और रेलवे कई योजनाओं के साथ विकास की सौगात देंगे। पावर कारपोरेशन सीतापुर शहर और खैराबाद की लड़खड़ाई बिजली सप्लाई को सुधारेगा। दोनों निकायों में जर्जर लाइनें तो बदलेंगी ही, नए ट्रांसफॉर्मर के साथ फीडर भी बनेंगे। इस पर तीस करोड़ खर्च होंगे। सवा दो लाख लोगों को फायदा मिलेगा। उधर, पूर्वोत्तर रेलवे भी यात्रियों की सुविधा के लिए दो नए रेलवे स्टेशन का निर्माण कराएगा। इसके लिए सीतापुर-बुढ़वल रेल प्रखंड के टप्पा खजुरिया और रमईपुर हॉल्ट का विस्तार कर उन्हें रेलवे स्टेशन बनाएगा। साथ ही उन्हें अत्याधुनिक यात्री सुविधाओं से भी सुसज्जित करेगा। रेलवे ने इनका निर्माण शुरू कर दिया है।
स्टेश्‍ान के साथ ही बढ़ेंगी सुविधाएं
पूर्वोत्तर रेलवे के सीतापुर-बुढ़वल रेल प्रखंड के दो हॉल्ट रेलवे स्टेशन बनेंगे। इस ट्रैक के टप्पा खजुरिया और रमईपुर हॉल्ट का न सिर्फ विस्तार कर रेलवे स्टेशन बनाया जाएगा, बल्कि इन्हें यात्री सुविधाओं से भी लैस किया जाएगा। इन्हें स्टेशन बनाने के पीछे रेलवे महकमे का असल मकसद ट्रेनों की लेटलतीफी को दूर करना है। रेलवे ने दोनों हॉल्टों को स्टेशन में तब्दील करने का काम भी शुरू कर दिया है। सब कुछ ठीक-ठाक रहा, तो दोनों स्टेशन 2013 में बनकर तैयार भी हो जाएंगे।
सीतापुर के वाशिंदों को रेलवे की ओर से बेहतर सहूलियतें मिलें, इसके लिए दशकों पहले मीटर गेज रेल पटरियां बिछाईं गईं थीं, इनमें पूर्वोत्तर रेलवे का लखनऊ-बरेली रेल प्रखंड एवं उत्तर रेलवे मुरादाबाद मंडल का बुढ़वल-रोजा एवं बुढ़वल-बालामऊ शामिल हैं। उस वक्त सीतापुर जंक्शन से यहां के ट्रैक पर दर्जनों गाड़ियां दौड़ती थीं। मीटर गेज लाइन होने से रेल मुसाफिरों को ट्रेनों से लंबी दूरी के सफर में काफी समय लगता था। 1992 में सीतापुर-बुढ़वल मीटर गेज लाइन को ब्राडगेज में बदला गया। इसके बाद सीतापुर जंक्शन से दौड़ने वाली ट्रेन कैंट स्टेशन पर शिफ्ट कर दी गईं। आहिस्ता-आहिस्ता इस ट्रैक पर ट्रेनों की आमद बढ़ी। पर एक समय में दो ट्रेनें पास नहीं हो पाती हैं। वजह, इस ट्रैक पर एक से दूसरे स्टेशन के बीच की दूरी पंद्रह किमी. पड़ती हैं। स्टेशनों के बीच की दूरी कम करने को सीतापुर-बुढ़वल ट्रैक के दो हॉल्टों का विस्तार कर रेलवे उन्हें स्टेशन बनाएगा। पूर्वोत्तर रेलवे सीतापुर डिवीजन के सहायक इंजीनियर राजीव पचौरी बताते हैं कि रेलवे ने जिन दो हॉल्टों का रेलवे स्टेशन बनाने के लिए चयन किया है, उनमें टप्पा खजुरिया और रमईपुर हैं। इनके चयन के बाद रेलवे ने विस्तारीकरण शुरू कर दिया है। स्टेशन को यात्री सुविधाओं से भी सुसज्जित किया जाएगा।
30 करोड़ से संवरेगी बिजली व्यवस्‍था

खैराबाद कस्बे और सीतापुर शहर की लड़खड़ाई विद्युत आपूर्ति व्यवस्था जल्द पटरी पर आ सकती है। दोनों निकायों में जीर्णशीर्ण विद्युत लाइनें बदली जाएंगी। जर्जर पोल और ट्रांसफार्मर बदले जाएंगे। बिजली चोरी रोकने के लिए खुले तारों की बजाए एरियल बंच कंडक्टर (एबीसी) लाइनें खींची जाएंगी। नए फीडर लगेंगे। आरएपी-डीआरपी योजना के तहत इस पर तीस करोड़ का बजट खर्च होगा। जनवरी में काम शुरू होगा। इससे तकरीबन सवा दो लाख लोगों को फायदा होगा।
सीतापुर व खैराबाद टाउन में जर्जर तारों के टूटने से काफी समस्याएं रहती हैं। ऐसे में नागरिकों को बिजली होने के बाद भी इससे वंचित रहना पड़ता है। क्षमता से अधिक कनेक्शन से अक्सर लो-वोल्टेज की भी समस्या बनी रहती है। इन्हीं सब समस्याओं से निजात दिलाने के लिए पावर कारपोरेशन ने एक कार्य योजना तैयार की है। रिस्ट्रक्चर्ड एक्सीलरेटेड पॉवर-डवलपमेंट एंड रिफॉर्म प्रोग्राम (आरएपी-डीआरपी) के तहत पहले चरण में पावर कारपोरेशन सीतापुर शहर और खैराबाद टाउन में बिजली की गुणवत्ता सुधारेगा। योजना के मुताबिक जर्जर विद्युत लाइनें बदली जाएंगी। खुले तारों के स्थान पर एबीसी लाइनें खींची जाएंगी। नए ट्रांसफार्मर लगेंगे। पावर हाउसों की क्षमता बढ़ाई जाएगी और पांच, दस व 15 केवीए के करीब 45 से अधिक ट्रांसफार्मरों की व्यवस्था होगी। सभी ट्रांसफार्मर सेक्शन बनाकर लगाए जाएंगे। इसमें अधिक लोड वाले स्थान पर 250 केवीए के ट्रांसफार्मरों को लगाया जाएगा। साथ ही फीडरों को आवंटित कर ओवरलोड समाप्त किया जाएगा। ट्रिपिंग दूर करने को खंभों पर टीपीएमओ (कटआउट) लगेंगे। इस पर तीस करोड़ रुपये का बजट व्यय होगा। इससे सीतापुर शहर की 1,77,351 और खैराबाद टाउन की 38,386 लोगों को इसका लाभ मिलेगा।

Spotlight

Most Read

National

पाकिस्तान की तबाही के दो वीडियो जारी, तेल डिपो समेत हथियार भंडार नेस्तनाबूद

सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है। भारत के जवाबी हमले में पाकिस्तान की कई फायरिंग पोजिशन, आयुध भंडार और फ्यूल डिपो को बीएसएफ ने उड़ा दिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO : बच्चियों को ट्रेन से फेंकनेवाले दरिंदे पिता ने बताई पूरी वारदात

बीते साल अक्टूबर में चलती ट्रेन से अपनी बच्चियों के फेंकनेवाले हत्यारे पिता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस और मीडिया के सामने इद्दू अंसारी ने बताया कि उसने पूरी वारदात को शराब के नशे में अंजाम दिया।

17 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper