11 संवेदनशील केंद्रों को बना दिया सेंटर

Sitapur Updated Tue, 04 Dec 2012 05:30 AM IST
सीतापुर। यूपी बोर्ड की हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट की परीक्षाओं में संवेदनशील रहे परीक्षा केंद्रों पर विभाग की मेहरबानी दिख रही है। जनपद में 11 ऐसे विद्यालय हैं जिन्हें विभाग संवेदनशील घोषित कर चुका है। संवेदनशील परीक्षा केंद्र घोषित करने का मकसद यही रहता है कि यहां नकल की संभावनाएं अधिक रहती हैं। परीक्षा केंद्र पर किसी वक्त झगड़ा या परीक्षा के दौरान निरीक्षण दल को असुविधाएं हो सकती हैं। इसके बावजूद संवेदनशील रहे इन स्कूलों को इस बार भी सेंटर बना दिया गया है।
2013 की बोर्ड परीक्षाओं के लिये 151 परीक्षा केंद्रों की अनंतिम सूची जारी हुई है। इनमें संवेदनशील रहे स्कूल भी शामिल हैं। इस सूची के फाइनल होने में विभागीय उच्चाधिकारियों की अंतिम मुहर लगनी शेष है। परीक्षा केंद्रों के निर्धारण के लिये जारी शासनादेश में साफ इंगित किया गया है कि 2010, 2011, 2012 की बोर्ड परीक्षाओं में जांच के दौरान जो कॉलेज, असुरक्षित पाये गये हो उन्हें परीक्षा केंद्र न बनाया जाय। शासन ने परीक्षा केंद्र के निर्धारण में इस बार एक नई व्यवस्था भी लागू की है। इसके तहत छात्रों संख्या की अधिक होने पर क्षमता के अनुरूप स्कूलों में दो परीक्षा केंद्र बनाए जा सकते हैं, लेकिन अधिकारियों ने इस पर ध्यान नहीं दिया। 2011 में 11 स्कूल ऐसे थे जिन्हें संवेदनशील की श्रेणी में रखा गया था। इनमें से दो ऐसे कॉलेज थे जिन्हें 2012 की बोर्ड परीक्षाओं में सामान्य श्रेणी में रख दिया गया था। इसके बावजूद अधिकारियों से मिलीभगत के बूत इन स्कूलों को फिर से परीक्षा केंद्र बनाए जाने की तैयारी है।

2012 में यह थे संवेदनशील केंद्र
महर्षि रविदास इंटर कॉलेज रामबाग, मिश्रिख
भारत इंटर कॉलेज, कोरौना
द्वारिका धीश उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, कोरौना
किसान इंटर कॉलेज, बड़ागांव
महर्षि दधीचि इंटर कॉलेज, मिश्रिख
मुसलिम इंटर कॉलेज, तम्बौर
प्रगतिशील जनता इंटर कॉलेज, सोहरिया
श्री छोटे लाल बालिका इंटर कॉलेज, रामपुर मथुरा
ग्रामोदय इंटर कॉलेज, बांसखेरा
उमाशंकर इंटर कॉलेज, मुंडेरी
जनता इंटर कॉलेज, रामपुर कलां

परीक्षा केंद्र नहीं व्यवस्थापक होंगे ब्लैक लिस्टेड
बोर्ड परीक्षाओं के दौरान यदि किसी केंद्र पर अव्यवस्थाएं मिलीं तो केंद्र व्यवस्थापकों को ब्लैक लिस्टेड किया जाएगा। क्योंकि परीक्षा केंद्रोें के लिये मानक के अनुरूप स्कूल भवन न मिलने से यह व्यवस्था लागू की गई है। 2011 व 2012 की बोर्ड परीक्षा के दौरान जांच दलों को जिन परीक्षा केंद्रों पर अनियमितताएं मिलीं थीं। उन परीक्षा केंद्रों के केंद्र व्यवस्थापकों को बदल दिया गया था। यह व्यवस्था इस मर्तबा भी लागू होगी।

परीक्षा केंद्रों के निर्धारण में स्कूलों की व्यवस्थाओं को परख लिया गया है। जो संवेदनशील परीक्षा केंद्र रहे हैं वह अब सामान्य हैं। केंद्र निर्धारण की सूची सार्वजनिक कर आपत्तियां मांगीं गईं थीं। किसी प्रकार की आपत्ति न मिलने पर मंडलीय समिति को भेजने की प्रक्रिया की जा रही है।
डॉ. सच्चिदानंद यादव, डीआईओएस

Spotlight

Most Read

National

इलाहाबाद HC का निर्देश- CBI जांच में सहयोग करे लोक सेवा आयोग

कोर्ट ने लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष को जवाब दाखिल करने के लिए छह फरवरी तक की मोहलत दी है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO : बच्चियों को ट्रेन से फेंकनेवाले दरिंदे पिता ने बताई पूरी वारदात

बीते साल अक्टूबर में चलती ट्रेन से अपनी बच्चियों के फेंकनेवाले हत्यारे पिता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस और मीडिया के सामने इद्दू अंसारी ने बताया कि उसने पूरी वारदात को शराब के नशे में अंजाम दिया।

17 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper