ऐ मोमिनों उठाओ जनाजा हुसैन का

Sitapur Updated Tue, 27 Nov 2012 12:00 PM IST
सीतापुर। ‘ऐ मोमिनों उठाओ जनाजा हुसैन का’ इस नौहे को पढ़ते हुए दसवीं मोहर्रम की सुबह आठ बजे अंजुमन गुलदस्ता हैदरी का जुलूस निकाला गया। कुछ इसी अकीदे के साथ बच्चों और नौजवानों ने छूरी, तलवार, खंजर और ब्लेड से मातम किया और इस बात का इजहार किया कि ऐ हुसैन हम कर्बला में तो नही थे, लेकिन अब तुम्हारी याद में अपना खून बहाते हैं। जुलूस में अलम व ताबूत शामिल थे। गमी का पर्व मोहर्रम शिया व सुन्नी सभी लोगों ने अकीदत के साथ मनाया। किसी ने ताजिया रखकर उनकी शहादत याद की तो किसी ने अलम निकालकर आग व छूरी का मातम किया। शहरी एवं आस-पास के गांवों के लोगों ने कोट मोहल्ला स्थित कर्बला में ताजिये दफन किए। इस कर्बला में शहर के मोहल्ला लक्ष्मणपुर, इलसिया, पटिया, आलमनगर, गदियाना, इस्माइलपुर, नैपालापुर, लालकुर्ती, सदरबाजार, ओबरी, हुसैनगंज, सादिकपुरवा, बाल्दाकालोनी आदि जगहों के ताजिये दफन किये गये। इसमें सुबह के समय बिना जुलूस के लोगों ने ताजिये दफन किए। रात सबसे आखिर में ताजिये सुपुर्देखाक किए। शांति व्यवस्था के मद्देनजर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा। बिसवां क्षेत्र में में देर रात तक अकीदतमंदों ने ताजिए सुपुर्दे खाक किए। इस दौरान एसडीएम मृत्युजंय राम, सीओ अरुण चंद्र व प्रभारी निरीक्षक अमर सिंह सहित भारी पुलिस बल मौजूद रहा। सिधौली व बाड़ी समेत क्षेत्र के अहमदपुर जट, गड़िया हसनपुर,बनियानी, हुसैनगंज, अकोहरा, रावांगढ़ी समेत ग्रामीणों अंचलों में ताजिएदारों ने अपनी ताजिए सुपुर्देखाक किए। महमूदाबाद। कस्बा समेत क्षेत्र के ग्रामीण अंचलों में अकीदतमंदों ने अपने ताजिए सुपुर्देखाक किए। पूर्व विधायक राजा मोहम्मद अमीर मोहम्मद खान व उनके चचेरे भाई अमीर सज्जाद की अगुवाई में कस्बे भर के ताजिए, अमल एक त्र हुए। जिसके बाद ताजिए कर्बला में दफन किए गए। बाद में रात करीब आठ बजे से मजलिस शाम-ए-गरीबां का आयोजन किया गया। जिसको मौलाना जुल्करनैन ने खिताब किया। जहांगीराबाद कस्बा स्थित गुरखेत पर मेला का आयोजन हुआ। तमाम अकीदतमंदों ने ताजियों का जुलूस निकाल कर मातम किया। इस अवसर पर जहांगीराबाद सहित आस-पास के गांवों से बड़ी संख्या में लोग मैदान तक ढोल व ताशे बजाते, मातम करते हुए पहुंचे। शाम को ताजियों को कर्बला में दफन कर दिया गया। रेउसा क्षेत्र में भी छुटपुट विवाद के अलावा शांतिपूर्ण ढंग से लोगों ने ताजिए सुपुर्देखाक किए। क्षेत्र में भारी पुलिस बल की मौजूदगी रही ताकि ताजिएदारों को कोई दिक्कत न हो। हालांकि क्षेत्र के करसा गांव में ताजियों निकालने को लेकर पेड़ काटने की बात पर दो पक्षों में मामूली विवाद हुआ, लेकिन जानकारी होते ही वहां पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी भारी फोर्स के साथ पहुंच गए। अधिकारियों ने लोगों को समझा कर दोनों पक्षों को शांत कर दिया और बाद में ताजिएदारों ने अपने ताजिए कब्रिस्तान में दफन किए। तंबौर क्षेत्र इलाके में अकीदतमंदों ने परम्परागत ढंग से ताजिए कर्बला में दफन किए। रविवार को क्षेत्र के ग्राम भानपुर मजरा चंदीभानपुर गांव में दो पक्षों में मामूली विवाद होने की सूचना थी। लहरपुर क्षेत्र में कस्बा व गांवों में मजलिस, मातम एवं ताजियों के जुलूस निकाले गए। इन्हें कर्बला में दफन किया गया। प्रहलादपुर, गौरिया, नेवादा, खानपुर, नवीनगर, चकमल्लापुर, लच्छननगर, गणेशपुर, मोदीखेड़ा, नौव्वापुर, महजतिया आदि के ताजिये गुरुखेत मैदान पर इकट्ठा हुए। इसके बाद कर्बला में दफन कर दिए गए। पहला। रामपुर कलां थाना क्षेत्र में भी लोगों ने अकीदतमंदों ने ताजियों के जुलूस निकाल कर गम का इजहार किया। इस दौरान मामूली विवाद के चलते क्षेत्र के सरैंया काजीपुर गांव में ताजिए अपने समय से कुछ देर बाद दफन किए गए थे।

Spotlight

Most Read

National

इलाहाबाद HC का निर्देश- CBI जांच में सहयोग करे लोक सेवा आयोग

कोर्ट ने लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष को जवाब दाखिल करने के लिए छह फरवरी तक की मोहलत दी है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO : बच्चियों को ट्रेन से फेंकनेवाले दरिंदे पिता ने बताई पूरी वारदात

बीते साल अक्टूबर में चलती ट्रेन से अपनी बच्चियों के फेंकनेवाले हत्यारे पिता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस और मीडिया के सामने इद्दू अंसारी ने बताया कि उसने पूरी वारदात को शराब के नशे में अंजाम दिया।

17 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper