तस्करी के लिए मुफीद नहर पटरी!

Sitapur Updated Sat, 27 Oct 2012 12:00 PM IST
सीतापुर। शारदा सहायक पोषक नहर पटरी तस्करी के लिए अब मुफीद बन गई है। लोग तस्करी के सामान को इधर-उधर लाने ले जाने के लिए मुख्य मार्गों का प्रयोग नहीं करते है। इनके लिए नहर पटरी व छोटे रास्तों का इस्तेमाल करते हैं। ये लोग ऐसा इसलिए करते हैं, ताकि टैक्स देने से बच सकें। नहर पटरी पर लोडेड वाहनों के निकलने से विभागीय अफसर शारदा नहर कटने की मुख्य वजह मानते हैं। उनका मानना है कि पिछले शारदा नहर कटने की असल वजह भी यही है।
सीतापुर जनपद का गांजरी इलाका अवैध लकड़ी कटान और बालू खनन कारोबार के लिए मशहूर है। इस इलाके में अवैध लकड़ी कटान तो बारहों महीने होती है, मगर शारदा सहायक पोषक नहर में बालू खनन तभी होता है, जब नहर में पानी बंद होता है। मार्च और अक्तूबर महीनों में अवैध बालू खनन के लिए ट्रैक्टर-ट्रालियों और ट्रकों की वहां पर कतारें लग जाती हैं। जानकारों की माने, तो शारदा नहर में बालू खनन का काम दिन-रात चलता है। लोग नहर से बालू निकालने के बाद एक जगह पर इकट्ठा कर लेते हैं। बाद में नहर के चालू होने के बाद बालू की बिक्री महंगे दामों पर करते हैं। यही नहीं लकड़ी व बालू खनन के अवैध कारोबार से जुड़े लोग लोडेड वाहनों को इधर-उधर लाने व ले जाने के लिए मुख्य मार्गों का इस्तेमाल करने से गुरेज करते हैं। वे इस काले कारोबार के लिए नहर पटरी और छोटे रास्तों को ही उपयुक्त समझते हैं। इससे एक तो वह पुलिस की नजरों से बचना चाहते हैं। दूसरे उन्हें इस कारोबार में टैक्स चोरी करने में राहत मिलती है।

ऐसे पहुंचती है नहर पटरी को क्षति
शारदा सहायक पोषक नहर पटरियों से गुजरने वाले भारी वाहनों से नहर पटरी को क्षति पहुंचती है। कारण यह है कि जब लोडेड भारी वाहन पटरी से गुजरते हैं, तो पटरी और वाहनों के टायरों के मध्य घर्षण होता है। इससे पटरी पर कंपन उत्पन्न होता है। पटरी के इर्दगिर्द लगे पेड़ों की जड़ें टूट जाती हैं। इनके टूटने से मिट्ठी की अंदरूनी सतह कमजोर हो जाती है। नहर में पानी बहाव होने पर पानी का दाब नहर पटरी पर रहता है। जब मिट्टी की अंदरूनी सतह कमजोर हो जाती है, तब यही पानी का दबाव नहर पटरी को काटने का काम करता है।

फैक्ट फाइल
-पोंगलीपुर से बिसवां तक हर जगह हो रहा बालू खनन
-कुछ स्थानों पर नहर के अंदर ले जाई जाती ट्रैक्टर ट्रॉली
-महाराजनगर से जीतामऊ तक 10 किमी की दूरी तक नियमित चल रहे भारी वाहन
-संपर्क मार्गों से जुड़ी है नहर पटरी
-नहर में पानी रुकने पर पटरी से निकलते हैं अधिक वाहन

शारदा सहायक नहर पटरी पर भारी वाहनों के निकलने से नहर क्षतिग्रस्त हो रही है, क्योंकि विभाग ने यह पटरी नहर की मॉनिटरिंग के लिए बनवाई है, ताकि इस पर से विभागीय अधिकारी इसकी देखभाल कर सकें। नहर पटरी पर भारी वाहनों के निकलने पर प्रतिबंध लगाने की योजना है। कार्रवाई चल रही है।
-वीके मौर्य, अधिशासी अभियंता, शारदा नहर

Spotlight

Most Read

Lucknow

सीएम योगी आदित्यनाथ से मिले नेताजी सुभाष चंद्र बोस के परिवारीजन

नेताजी सुभाष चंद्र बोस के परिजनों ने मंगलवार को लोक भवन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भेंट की।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO : बच्चियों को ट्रेन से फेंकनेवाले दरिंदे पिता ने बताई पूरी वारदात

बीते साल अक्टूबर में चलती ट्रेन से अपनी बच्चियों के फेंकनेवाले हत्यारे पिता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस और मीडिया के सामने इद्दू अंसारी ने बताया कि उसने पूरी वारदात को शराब के नशे में अंजाम दिया।

17 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper