भोजन नहीं पक रहा तो बांट रहे बिस्कुट

Sitapur Updated Sat, 13 Oct 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
सीतापुर। रसोई गैस पर सब्सिडी की मार मासूम भी भुगत रहे हैं। रसोई गैस महंगी होने के डर से मिड-डे मील (एमडीएम) नहीं पक रहा है। खाद्यान्न समय से न मिलने व कनवर्जन कॉस्ट की समस्या से जूझ रहे परिषदीय स्कूल अब एलपीजी पर सीमित की गई सब्सिडी से परेशान हैं। कई स्कूलों में भोजन नहीं पकने पर बच्चों को बिस्कुट बांट कर काम चलाया जा रहा है तो कई जगह चूल्हों को जलाकर जैसे-तैसे खाना पक रहा है। सूखी लकड़ियां न मिलने से स्कूलों में चूल्हे जलाने में भी दिक्कत होती है। अगर चूल्हा जल भी गया, तो उसकी आग बनाए रखने में भी मशक्कत करनी पड़ रही है। धुएं से पढ़ाई भी बाधित होती है। वहीं चूल्हे पर खाना पकाए जाने से अक्सर भोजन देने में लेटलतीफी हो जाती है। ऐसे में नौनिहाल भूखे पेट लौटने को मजबूर हैं।
केस- 1
खैराबाद ब्लॉक का प्राथमिक विद्यालय मुलायमपुर। विद्यालय में 193 बच्चे पंजीकृत हैं। स्कूल में बच्चे अपनी-अपनी कक्षाओं में पढ़ रहे थे। विद्यालय में ही रसोइयां चूल्हे जला रहा था। तो कुछ तहरी बनाने के लिए चावल बीन रहीं थीं। गैस सिलेंडर की जानकारी करने पर पता चला कि विद्यालय में चोरी के डर से कनेक्शन ही नहीं लिया गया है। चूल्हे पर ही खाना पकाया जा रहा है। धुएं से बच्चों की आंखें लाल हो रहीं थीं।

केस- 2
पूर्व माध्यमिक विद्यालय मुलायमपुर खैराबाद। विद्यालय में 118 छात्र-छात्राएं पंजीकृत हैं। शुक्रवार को 55 बच्चे ही उपस्थित थे। यहां भी गैस कनेक्शन नहीं लिया गया। रसोइयां चूल्हे पर एमडीएम पका रही थीं। प्रधानाध्यापिका मीरा देवी गुप्ता ने बताया कि विद्यालय में आए दिन चोरी होती रहती है, इसलिए गैस कनेक्शन नहीं लिया गया है। पिछले महीने एमडीएम योजना में उनके द्वारा तकरीबन तीस हजार रुपये खर्च किए गए थे। प्रधान ने अब तक उसे भी नहीं दिया है। हर बार उन्हें आश्वासन ही मिलता है। कई बच्चे भोजन की लेटलतीफी से परेशान दिखे।

केस- 3
प्राथमिक विद्यालय बजेहरा। इस विद्यालय में 158 छात्र पंजीकृत हैं। पर कुछ छात्र ही स्कूल आए थे, वो भी इधर-उधर टहल रहे थे। मास्टर साहब नहीं आए थे। रसोइयों ने स्कूल खोला था। सभी शिक्षकों के आने का इंतजार कर रहे थे। यहां भी चूल्हे पर ही एमडीएम पकता मिला। पता चला कि चालू शैक्षिक सत्र में विद्यालय को एक भी सिलेंडर नहीं मिल सका है। सभी गैस के महंगी होने की दुहाई दे रहे थे।

केस- 4
पूर्व माध्यमिक विद्यालय भुड़कुड़ा में रसोई गैस कनेक्शन हैं, मगर गैस के बजाए चूल्हे पर खाना पकाया जा रहा था। एमडीएम योजना में बजट न मिलने की वजह से गैस सिलेंडर नहीं आ पा रहा है। विद्यालय में 126 छात्रों का पंजीकरण है, जिनमें से कुछ छात्र विद्यालय आए थे। जबकि विद्यालय के प्रधानाचार्य दिनेश पटेल समेत पूरा स्टाफ नदारद मिला। छात्रों के अनुसार काफी समय से चूल्हे पर ही एमडीएम पक रहा है।

केस-5
प्राथमिक विद्यालय बेनीराजा दशरथपुर। यहां 176 बच्चे उपस्थित थे। शुक्रवार को मध्याह्न भोजन योजना में इन्हें खाने में तहरी मिलनी थी। पर यहां नौनिहालों को एक-एक बिस्कुट पैकेट बांटे जा रहे थे। प्रधानाध्यापिका सुनीता गुप्ता ने बताया कि विद्यालय को जुलाई से सितंबर तक कोटेदार ने राशन नहीं दिया। ऐसे में यहां पर तीन माह से एमडीएम नहीं बन रहा है। केवल बिस्कुट पैकेटों के सहारे काम चल रहा है।

केस-6
पूर्व माध्यमिक विद्यालय बेनीराजा दशरथपुर में 96 छात्र-छात्राएं उपस्थित थीं। विद्यालय में एमडीएम योजना में बच्चों को तहरी की जगह पर एक-एक बिस्कुट पैकेट वितरित किए जा रहे थे। मालूम हुआ कि विद्यालय को तीन माह से खाद्यान्न ही नहीं मिला है। जिस कारण विद्यालय में एमडीएम पक नहीं रहा है। एमडीएम न बनने पर प्रधानाध्यापक खुद अपने स्तर से बच्चों को बिस्कुट पैकेट बंटवा रहे थे।

2632 प्राइमरी व 1181 जूनियर विद्यालय।
1958 स्कूलों में ही गैस कनेक्शन।
एक कनेक्शन को 5-5 हजार रुपये आहरित हुए।
कनवर्जन कॉस्ट से सिलेंडर भरवाने की भी व्यवस्था।

ये हैं एमडीएम का तय मेन्यू
सोमवार रोटी-सब्जी अथवा नमकीन दलिया
मंगलवार चावल-सब्जी युक्त दाल अथवा चावल सांभर
बुधवार कढ़ी-चावल अथवा खीर
गुरुवार रोटी सब्जी युक्त दाल अथवा नमकीन दलिया
शुक्रवार तहरी
शनिवार सब्जी-चावल सोयाबीन अथवा खीर

शासन ने केंद्र को भेजा प्रस्ताव
परिषदीय स्कूलों में एमडीएम में प्रयोग होने वाले गैस सिलेंडर को विभाग द्वारा सब्सिडी पर लेने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए जनपद स्तर से विवरण तैयार कर भेज दिया गया है। एमडीएम निदेशक स्तर से स्कूलों को सब्सिडी पर सभी सिलेंडर दिलाने को केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है। शीघ्र ही सभी सिलेंडर सब्सिडी पर मिलने लगेंगे। साथ ही सभी प्रधानाध्यापकों को निर्देश दिए गए हैं कि वे प्रधान से मिलकर गैस की व्यवस्था करते रहें।
बृजमोहन सिंह, जिला समन्वयक, एमडीएम

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Jammu

10 दिनों से नाक में दम कर रहा है पाकिस्तान, अब उरी सेक्टर में देर रात दागे मोर्टार

पाकिस्तानी रेंजरों ने पहले ही जम्मू, कठुआ और सांबा जिलों में अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगे भारतीय गांवों और सीमा चौकियों पर गोलीबारी की घटना को अंजाम दिया था जिसमें पांच लोगों की मौत हो गई थी।

24 मई 2018

Related Videos

विदेशी मीडिया में भी छाया ‘सीतापुर के कुत्तों’ का कांड

उत्तर प्रदेश के सीतापुर में आदमखोर कुत्तों के हमले लगातार जारी हैं। मामला इतना गंभीर हो गया है कि विदेशी मीडिया भी सीतापुर के आदमखोर कुत्तों की खबर प्रमुखता से दिखा रही है।

11 मई 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen