डेंगू से पीड़ित युवती की मौत, 17 की हालत गंभीर

Sitapur Updated Sat, 25 Aug 2012 12:00 PM IST
महोली (सीतापुर)। महोली क्षेत्र में डेंगू रोग से पीड़ित करीब डेढ़ दर्जन मरीज सामने आये हैं। अधिसंख्य मरीजों को उपचार के लिये लखनऊ के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। दो दिन पूर्व एक युवती कीडेंगू से पीड़ित होने के कारण मौत हो गई थी। लगातार मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद भी स्वास्थ्य प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। क्षेत्रीय स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा इस सम्बन्ध में कोई जानकारी न होने की बात कही जा रही है।
क्षेत्र के मोहल्ला भट्टा निवासी केतकी (45) पत्नी विश्राम कनौजिया, सरोजनी (32) पत्नी अनूप वर्मा, प्रेमलता (19) पुत्री अवधेश बाजपेई, डा. रेनू वर्मा (45) पत्नी अवधेश वर्मा, लक्ष्मीकांत तिवारी (30) पुत्र संतकुमार, प्रभांशु (15) पुत्र शंकर लाल वर्मा, मनोज कुमार (32) पुत्र गंगा सिंह, पूनम (25) पत्नी उमेश आर्य, भाईलाल (38) पुत्र मनोहर लाल, सुरेंद्र कुमार (40) पुत्र जगजीत, शशिबाला (35) मनोज कुमार, इंद्रमोहन (45), डा सदानंद आर्य, चमारन टोला निवासी चर्तुबिहारी (38) पुत्र श्याम मिश्रा, अमित वर्मा(25) पुत्र सूर्यप्रकाश वर्मा, सानिध्य (10) पुत्र मुकेश वर्मा, कमलेश (25) पुत्र लल्लूराम, गोपेंद्र तिवारी (25) पुत्र शुभकरन व उर्मिला बाजपेई (45) पत्नी अवधेश डेंगू रोग से पीड़ित हैं। काफी इलाज के बाद भी कोई फायदा न होने पर एक-एक कर सभी लोगों को लखनऊ के विवेकानंद अस्पताल, मेडिकल कालेज व बलरामपुर अस्पतालों में भर्ती कराया गया। जहां मरीजों का परीक्षण होने के बाद सभी को डेंगू रोग से पीड़ित होने की पुष्टि हुई। बलरामपुर अस्पताल में उपचार के दौरान प्रेमलता (19) पुत्री अवधेश बाजपेई की मौत दो दिन पूर्व हो गई है। चिकित्सकों द्वारा मौत का कारण भी डेंगू से पीड़ित होना बताया जा रहा है। डेंगू फैलने के कारण महोली के भट्टा, चमारनटोला समेत कई अन्य मोहल्लोें के लोग दहशत के माहौल में है। कारण यह कि विगत वर्ष भी क्षेत्र में डेंगू इन्हीं मोहल्लों फैला था। पिछले वर्ष भी करीब छह लोग डेंगू रोग से पीड़ित थे, जिनमें से दो लोगों की मौत भी हो गई थी। मृतकों में भट्टा मोहल्ला निवासी बिहारी मिश्रा पुत्र बालकराम मिश्रा व अभय उर्फ रामू पुत्र दुजई राम शामिल थे। महोली के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डा. इमरान अली खां का कहना है कि प्राइवेट अस्पतालों की रिपोर्ट को सही नहीं माना जा सकता है। कारण यह है कि अस्पतालों द्वारा जांच प्रक्रिया को पूरा किये बिना ही रोग की पुष्टि कर दी जाती है।

‘महोली से कुछ रोगी विवेकानंद पॉली क्लीनिक अस्पताल में भर्ती हुए हैं, इसमें कोई भी रोगी डेंगू का नहीं पाया गया है। इसकी जानकारी कर ली गई है। शुक्रवार को महोली के अवस्थी टोला में मेडिकल टीम भेजकर कीटनाशकों का छिड़काव करवा दिया गया है। बलरामपुर अस्पताल में युवती मौत प्रकरण की जानकारी ली जा रही है।
डा. एसपी सिंह सीएमओ’


डायरिया से दो मासूमों की मौत, 4 अन्य बीमार
सीतापुर। जनपद के कई इलाके संक्रामक रोगों की चपेट में आ चुके है। संक्रामक रोगों से पीड़ित क्षेत्रों में लगातार मौतें भी हो रही है। इसी क्रम में विकास खंड खैराबाद क्षेत्र के मखुआ चौबेपुर गांव में भी डायरिया रोग फैलने लगा है। डायरिया से पीड़ित दो मासूमों की मौत हो चुकी है। साथ ही कई अन्य मासूम डायरिया रोग से पीड़ित होकर अपने जीवन की लड़ाई लड़ रहे है।
विकास खंड खैराबाद क्षेत्र के ग्राम मखुआ चौबेपुर में डायरिया रोग फैल गया है। गांव के करीब आधा दर्जन मासूम डायरिया रोग से पीड़ित होने के कारण गंभीर अवस्था में है। इनमें सुंदर की 6 वर्षीय पुत्री सविता व छोटकन्ने का 5 वर्षीय पुत्र अनिल बेहतर इलाज न होने के कारण काल के गाल में समां चुके है। साथ ही सुंदर का पुत्र सुमित व गोविंद का पुत्र भल्लर समेत अन्य मासूम डायरिया रोग से जूझ रहे है। इन मासूमों के इलाज के लिये स्वास्थ्य प्रशासन द्वारा कोई इंतजाम नही किये जा रहे है। बताते चले कि क्षेत्र के ग्राम सरैय्या सानी में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की व्यवस्था है। इसके बाद भी मरीजों का इलाज नही हो रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डा. ललित कांत कभी-कभार ही मरीजों का इलाज करने आते है। इस संदर्भ में सीएमओ डा. एसपी सिंह का कहना है कि गांव में रोग पर काबू पा लिया गया है। दो दिनों से संक्रामक रोग दल मौके पर जा रहा है। औषधियां वितरित की जा रहीं हैं। कीटनाशकों का छिड़काव करा दिया गया है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO : बच्चियों को ट्रेन से फेंकनेवाले दरिंदे पिता ने बताई पूरी वारदात

बीते साल अक्टूबर में चलती ट्रेन से अपनी बच्चियों के फेंकनेवाले हत्यारे पिता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस और मीडिया के सामने इद्दू अंसारी ने बताया कि उसने पूरी वारदात को शराब के नशे में अंजाम दिया।

17 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls