विज्ञापन

शांति से दिया चौरीचौरा कांड का जवाब

Siddhartha nagar Updated Sat, 26 Jan 2013 05:30 AM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
सिद्धार्थनगर। आजादी के संघर्ष के दौरान महात्मा गांधी के प्रत्येक आह्वान पर पूरे देश के साथ कंधा से कंधा मिलाकर जिले के लोगों ने संघर्ष किया। कई लोगों ने देश को आजादी दिलाने के लिए जान भी दे दी। चाहे वह असहयोग आंदोलन के बाद शोहरतगढ़ में अंग्रेजी जुल्म की घटना हो या अंग्रेजाें भारत छोड़ो आंदोलन का, हर बार यहां की जनता ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया और सैकड़ों लोग जेल गए।
विज्ञापन

चौरीचौरा कांड के बाद गांधी जी ने असहयोग आंदोलन को चार फरवरी 1922 के स्थगित तो कर दिया लेकिन उसके बाद अंग्रेजी दमन चरम पर पहुंच गया। जिले के शोहरतगढ़ और उसका बाजार में अंग्रेजों ने आजादी के दीवानों को बेहद दर्दनाक सजायें दीं। शोहरतगढ़ में हुये अंग्रेजी जुल्म का उल्लेख महात्मा गांधी ने अपने पत्र नवजीवन में किया। उन्होंने नवजीवन में लिखा था कि चौरीचौरा कांड का जवाब शोहरतगढ़ की जनता ने शांति से दिया। यहां कांग्रेस दफ्तर को जला दिया गया, कार्यकर्ताओं पर घोड़े दौड़ाये गये। अंग्रेजों ने कोड़ाें से पीटते-पीटते पंडित परमेश्वर दत्त को बेहोश कर दिया और इसी पिटाई से दुदही राम का स्वर्गवास हो गया। जबकि इसके विरोध में जेल में अनशन कर रहे हाजी मोहिबुल्ला साह का निधन हो गया। इस घटना की जांच करने आये महात्मा गांधी के पुत्र देवदास गांधी ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि 25 व 26 अप्रैल 1922 को अंग्रेज पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर अमानवीय ढंग से जुल्म ढाए और कई सप्ताह तक पुलिस का आतंक छाया रहा। वह परमेश्वर दत्त का उल्लेख करते हुये लिखते हैं कि उन्हें अंग्रेजों ने इसलिए बहुत पीटा क्योंकि वह कार्यकर्ताओं से माफी मांगकर पुलिस से छुटकारा न लेने की हिदायत दे रहे थे। परमेश्वर दत्त ने लोगाें से बदला न लेने को भी कहा था।
वहीं, उसका बाजार में हुये प्रर्दशन को अंग्रेजाें ने बुरी तरह कुचल डाला। पकड़े गये लोगों को कंकड़ पर दौड़ाते हुये स्टेशन पहुंचाया गया, जहां उन्हें मालगाड़ी में भर दिया गया। रास्ते में उन्हें कुंदों से मारा गया और कई लोगों को चलती गाड़ी से धकेल दिया गया। इससे राजाराम शर्मा को बहुत चोट आयी थी। इस घटना में अंग्रेजों का कुख्यात हाकिम परगना अब्दुल रज्जाक शामिल था।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us