विवाद के बाद पीएमएस का आंदोलन शुरू

Siddhartha nagar Updated Sat, 15 Dec 2012 05:30 AM IST
सिद्धार्थनगर। सरकारी अस्पताल के डॉक्टर महेश प्रसाद और सदर से सपा विधायक विजय पासवान के बीच शुक्रवार को हुई तरकार से शहर में माहौल गर्म हो गया। विधायक ने घटना की जानकारी डीएम को दी है। वहीं डॉक्टर के पक्ष में पीएमएस संघ लामबंद हो गया है। फार्मासिस्टों ने भी उन्हें अपना समर्थन दे दिया है। इसके बाद स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर मरीजों के माथे पर भी बल पड़ गया है। देर शाम प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ की जिला इकाई ने आंदोलन का निर्णय ले लिया है। आपातकालीन चिकित्सा सेवा और पोस्टमार्टम सेवा को छोड़कर अन्य सभी सेवाओं में शामिल न होने का निर्णय लिया है। 24 घंटे में कार्रवाई न होने पर इमरजेंसी और पोस्टमार्टम सेवा भी ठप करने का ऐलान किया है। इसकी जानकारी डीजी हेल्थ, प्रमुख सचिव और प्रशासन को दे दिया है।
शुक्रवार की शाम चार बजे कपिलवस्तु के सपा विधायक विजय पासवान का साड़ी चौराहे पर डॉक्टर महेश प्रसाद के साथ नोकझोंक हो गई। इस घटना के बाद स्वास्थ्य महकमा में खलबली मच गई। प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ के जिलाध्यक्ष डॉ. आरबी राम, मंत्री, सचिव डॉ. आरएम गुप्त, डॉ. एके झा, डॉ. राजेश मोहन, डॉ. उजय अतहर, डॉ. जीसी श्रीवास्तव, डॉ. संजय गुप्त के अलावा फार्मासिस्ट संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुनील कुमार, महामंत्री गोविंद ओझा ने इमरजेंसी में बैठक कर घटना की निंदा की और कार्रवाई की मांग की है। जिलाध्यक्ष का कहना है कि पूरे घटनाक्रम से प्रदेश नेतृत्व को अवगत करा दिया गया है। यदि डॉक्टर प्राइवेट प्रैक्टिस कर रहे थे तो इस पर विभागीय कार्रवाई होनी चाहिए थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। विधायक स्वयं पहुंचे और डॉक्टर को पीटे। डॉक्टर को कमरे में बंद कर दिया गया। चिकित्सा सेवा का क्षेत्र है। ऐसे में इसमें राजनीतिक दबाव इस स्तर तक होना, गलत है। फार्मासिस्ट संघ के महामंत्री गोविंद ओझा ने डॉक्टरों के साथ खड़े होने की बात कही।

प्राइवेट प्रैक्टिस बर्दाश्त नहीं: विधायक
सिद्धार्थनगर। कपिलवस्तु से सपा विधायक विजय पासवान ने कहा कि प्राइवेट प्रैक्टिस करने वालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। डॉक्टर महेश प्रसाद तीन दिन पहले चिकित्सा राज्य मंत्री से भी उलझ चुके हैं। मौके पर उन्हें प्राइवेट प्रैक्टिस करते हुए पकड़ा गया है। डॉक्टर ने ही दुर्व्यवहार किया है। इसकी शिकायत शासन स्तर पर की जाएगी।

विधायक को सजा देने का हक नहीं : डॉक्टर
सिद्धार्थनगर। जिला अस्पताल के डॉक्टर महेश प्रसाद कहते हैं कि दो बजे के बाद मैं कुछ भी कर सकता हूं। यदि विधायक को कोई आपत्ति थी तो वह शिकायत कर सकते थे। उन्हें सजा देने का हक नहीं है। मुझे पीटा गया। यह सरासर दबंगई है। 11 दिसंबर को राज्यमंत्री के आगमन के दौरान मुझे अपनी बात कहने पर डांटा गया था। उसका बदला निकालने के लिए यह कार्य किया गया है।

विधायक की तहरीर मिली: एएसपी
सिद्धार्थनगर। एएसपी अशोक वर्मा कहते हैं कि विधायक की तहरीर मिली है। इस पर जांच की जा रही है। अब तक डॉक्टर की तरफ से कोई तहरीर नहीं मिली है। वैसे पुलिस पूरे मामले की गंभीरता से जांच कर रही है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में नौकरियों का रास्ता खुला, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग का हुआ गठन

सीएम योगी की मंजूरी के बाद सोमवार को मुख्यसचिव राजीव कुमार ने अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का गठन कर दिया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: नए साल पर सीएम योगी ने इन्हें दिया 66 करोड़ का तोहफा!

सिद्धार्थनगर के 29वें स्थापना दिवस के मौके पर चल रहे सात दिवसीय कपिलवस्तु महोत्सव का रविवार को समापन किया गया। समापन कार्यक्रम में खुद सीएम योगी आदित्यनाथ पहुंचे। इस दौरान उन्होंने 66 करोड़ रुपये की आठ परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया।

1 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper