सूर्यदेव से पुत्र की लंबी उम्र मांगी

Siddhartha nagar Updated Tue, 20 Nov 2012 12:00 PM IST
सिद्धार्थनगर। सूर्योपासना का पर्व सूर्य षष्ठी हर्षपूर्ण माहौल में मना। सोमवार की शाम सूर्य को अर्घ्य देकर व्रती महिलाओं ने पुत्र व पति की दीर्घायु की कामना की। भगवान भाष्कर को अर्घ्य देने के साथ ही पूरी रात मंगल गीत भी हुए। जहां मनौती पूरी होने पर कोशी भरी गई वहां तो पूरी रात हर्ष व उल्लास का माहौल रहा। उधर शाम को घाटों पर रौनक रही। निकाय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले घाटों की व्यवस्था संबंधित निकाय प्रशासन ने संभाली तो गांवों में इसे प्रधान व अन्य लोगों ने संभाली थी। घाटों पर जनप्रतिनिधियों ने भी पहुंचकर पर्व की शुभकामनाएं दीं। अब मंगलवार की सुबह महिलाएं उदयगामी सूर्य को अर्घ्य देकर व्रत का समापन करेंगी।
मंगल गीत गाते हुए सोमवार की शाम को व्रती महिलाओं व उनके साथ चलने वाले लोगों की भीड़ जिला मुख्यालय स्थित पुरानी नौगढ़ के जमुआर नाला स्थित घाट पर पहुंची। यही हाल पिठनी घाट का भी रहा। शाम होते होते ही यहां व्रती महिलाओं की अच्छी खासी संख्या इकट्ठी हो गई। यही हाल उसका बाजार के कूड़ा नदी घाट, शोहरतगढ़ के बानगंगा, बांसी में राप्ती और इटवा जखिरवा ताल पर भी दिखने लगा। यहां सबकी नजर डूबते सूर्य को देखने में ही लगी रही। महिलाएं घाटों पर घूटने भर पानी में उतरकर हाथ में पूजन का सामान लिए सूर्य को अर्घ्य देने उतर गईं। सूर्य डूबते ही उन्हें विधि विधान पूर्वक अर्घ्य दिया गया। इसके बाद महिलाओं की भीड़ अपने घर की ओर रवाना हो गई। जिस घर में सूर्य षष्ठी मनी उन घरों में पूरी रात मंगल गीत गाए गए। मंगलवार की सुबह उगते हुए सूर्य को अर्घ्य देकर इस व्रत का समापन किया जाएगा।
वहीं, छठ पूजा पर महिलायें शोहरतगढ़ के शिव बाबा मंदिर के पोखरे व गड़ाकुल रामजानकी मंदिर पर भारी संख्या में पहुंचकर डूबते हुए सूरज कोे अर्घ्य दिया। इस अवसर पर नगर पंचायत शोहरतगढ़ ने व्यवस्था की थी। चेयरमैन बबिता कसौधन के साथ ही हियुवा नेता सुभाष गुप्त के अलावा व्यवसायियों ने भी व्यवस्था संभाली।
उसका बाजार के कूड़ा नदी पर बने छठ घाट पर महिलाओं ने छठी माता की पूजा अर्चना के बाद सूर्य को अर्घ्य दिया और अपने पुत्रों के लम्बी आयु की कामना की।
बांसी के रानी मोहभक्त लक्ष्मी स्नान घाट पर मेले का दृश्य रहा। घाट पर लगी दुकानों पर लोगों ने खूब खरीददारी भी की। महिलाओं ने फल फूल और मिष्ठान के साथ अर्घ्य दिया। नगर पालिका ने घाट की साफ सफाई, पथ प्रकाश व जनरेटर की विशेष व्यवस्था भी की। इटवा बाजार, लोटन, सिकरी, कपिलवस्तु, बर्डपुर, जोगिया, ककरहवा, खुनुवां, पकड़ी, बढ़नी, सोहांस आदि क्षेत्रों में भी सूर्य को अर्घ्य दिया गया।
नियम व निष्ठा का विशेष महत्व
माना जाता है कि इस व्रत को करने वाली स्त्रियां धनधान्य, पति पुत्र, सुख समृद्धि से परिपूर्ण होती हैं। यह व्रत बड़े नियम व निष्ठा से किया जाता है। इस व्रत को करने वाली स्त्रियों को पंचमी को नमक रहित भोजन कीं तथा सोमवार को पूरे दिन निर्जल व्रत रहकर अस्त होते सूर्य को अर्घ्य दीं। मंगलवार की सुबह वह सूर्योदय के साथ ही अर्घ्य देकर जल ग्रहण कर व्रत को समाप्त करेंगी।

Spotlight

Most Read

National

इलाहाबाद HC का निर्देश- CBI जांच में सहयोग करे लोक सेवा आयोग

कोर्ट ने लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष को जवाब दाखिल करने के लिए छह फरवरी तक की मोहलत दी है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: नए साल पर सीएम योगी ने इन्हें दिया 66 करोड़ का तोहफा!

सिद्धार्थनगर के 29वें स्थापना दिवस के मौके पर चल रहे सात दिवसीय कपिलवस्तु महोत्सव का रविवार को समापन किया गया। समापन कार्यक्रम में खुद सीएम योगी आदित्यनाथ पहुंचे। इस दौरान उन्होंने 66 करोड़ रुपये की आठ परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया।

1 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper