राजघराने से निकला मां भवानी का जुलूस

Siddhartha nagar Updated Tue, 23 Oct 2012 12:00 PM IST
बांसी। हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी शारदीय नवरात्रि की सप्तमी की देर शाम राजघराने से पूरे लव लश्कर के साथ बांसी राजघराने के राजकुमार तथा क्षेत्रीय विधायक जयप्रताप सिंह राप्ती पुल पर पहुंचकर नगर के श्यान नगर निवासी रियासती माली के परिजनों से वैदिक मंत्रोच्चारण के बाद मां भवानी के प्रतीक को लेकर राप्ती नदी उस पार राजमहल पहुंचे।
रविवार की देर शाम बांसी राजमहल के शारदीय नवरात्रि की सप्तमी के दिन पूरे लव लश्कर के साथ राजसी पोशाक और अस्त्र-शस्त्र से लैस होकर एक जुलूस श्याम नगर स्थित रियासती माली बुजुर्ग विशंभर के घर पहुंचे। माली के पुत्र राजेंद्र पूजा-अर्चना के बाद मां भवानी के प्रतीक को लेकर राप्ती पुल पर पहुंचे। यहां पहले से उपस्थित बांसी राजघराने के राजकुमार जयप्रताप सिंह व उनके छोटे पुत्र कुंवर अभय प्रताप सिंह ने राज पंडित द्वारा वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच रियासती तलवार श्रद्धा से नीचे खड़ा किया। मां भवानी को राजमहल के लिए चलते वक्त म्यान से तलवार निकाल आगे-आगे चलकर राजमहल स्थित खानदानी मां काली मंदिर में पूजा अर्चना के साथ स्थापित किया। यहां बताते चलें कि रियासती माली के घर से मां भवानी का प्रतीक सप्तमी के दिन से दशमी तक अर्थात तीन दिन तक पूजन पाठ के बाद राजसी ठाट के साथ राप्ती नदी में विसर्जित कर दी जाती है।
जिस वक्त शारदीय नवरात्रि सप्तमी को नदी उस पार राजमहल से अस्त शस्त्र से लैश तथा राजसी पोशाकों से सुसज्जित लाव लश्कर मां भवानी को लेने निकलता है। वह समय रियासत के समय की यादें ताजा कर देता है। बांसी राजघराने के जयप्रताप सिंह ने बताया कि मां भवानी को रियासत के माली के यहां से लाने की परंपरा जब मैंने होश संभाला उसके पूर्व से ही चली आ रही है और इसका निर्वहन करना हमारा धर्म है। जिसका पालन सदैव हमारा घराना करता रहेगा। मां भवानी हमारे परिवार तथा बांसी की जनता के हित संवर्धन के लिए पूजनीय ममतामयी स्वरूपा हैं।

Spotlight

Most Read

Kushinagar

गंदगी के बीच खड़ा होकर पकड़ना पड़ता बस

पडरौना। यात्री प्रतीक्षालय ऐसा कि वहां पर बैठकर इंतजार नहीं किया जा सकता। गंदगी चारों तरफ फैली रहती है, जिससे वहां पर खड़ा होना मुश्किल रहता है। गंदगी के बीच ही खड़ा होकर लोगों को बस पकड़ना पड़ता है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: नए साल पर सीएम योगी ने इन्हें दिया 66 करोड़ का तोहफा!

सिद्धार्थनगर के 29वें स्थापना दिवस के मौके पर चल रहे सात दिवसीय कपिलवस्तु महोत्सव का रविवार को समापन किया गया। समापन कार्यक्रम में खुद सीएम योगी आदित्यनाथ पहुंचे। इस दौरान उन्होंने 66 करोड़ रुपये की आठ परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया।

1 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper