विज्ञापन
विज्ञापन

पेट्रो मूल्य वृद्धि पर दूसरे दिन भी विरोध प्रदर्शन

Siddhartha nagar Updated Sun, 16 Sep 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
बांसी। डीजल एवं रसोई गैस के मूल्य वृद्धि को लेकर भाकियू कार्यकर्ताओं ने शनिवार को तहसील कार्यालय बांसी के गेट पर केंद्र सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी करते हुए प्रधानमंत्री का पुतला फूंका। इसके बाद किसानों व ग्रामीणों की समस्याओं के निदान को लेकर कार्यकर्ताओं ने तहसील अध्यक्ष यार मोहम्मद चौधरी की अध्यक्षता में तहसील परिसर में पंचायत लगाई।
विज्ञापन
विज्ञापन
भारतीय किसान यूनियन के तहसील क्षेत्र बांसी के कार्यकर्ताओं की पंचायत में कहा गया कि केंद्र सरकार को किसानों व गरीबों की कोई चिंता नहीं है। डीजल व रसोई गैस की मंहगाई से गरीब व मध्यमवर्गीय लोगों के सामने काफी कठिनाई खड़ी हो गई है। पंचायत के दौरान बढ़े हुए मूल्य को तत्काल वापस लेने की मांग की गई। पंचायत को तहसील उपाध्यक्ष घनश्याम चौरसिया, ब्लाक अध्यक्ष उपेन्द्र यादव, अब्दुल हई, बीपत पासवान, शंभू प्रसाद तिवारी, अनीस खां, लौटू, रामानंद राय ने भी संबोधित किया। पंचायत के बाद राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन तहसीलदार बांसी ओमप्रकाश को सौंपा गया। इस अवसर पर रामानंद गुप्ता, रामलगन यादव, कैलाशी, चिनका, जानकी, तारामती, प्रभावती समेत तमाम लोग मौजूद रहे।
उधर, इटवा में किसान यूनियन की किसान पंचायत शनिवार को हुई। इसमें केंद्र सरकार के खिलाफ नेताओं ने जमकर भड़ास निकाली। इस दौरान डीजल और रसोई गैस मूल्य वृद्धि के विरोध में पीएम का प्रतीकात्मक पुतला फूंका गया। इसके साथ ही एसडीएम को 13 सूत्रीय मांग पत्र भी सौंपा गया। किसान पंचायत में तहसील अध्यक्ष राकेश कुमार ने कहा कि केंद्र की कांग्रेस सरकार दगाबाज है। डीजल में मूल्य बढ़ोत्तरी करना किसानों के हित में नहीं है। इस समय खरीफ की फसल के लिए पानी की आवश्यकता है, लेकिन भरपूर बरसात न होने के कारण किसान निजी पंपिंगसेटो के सहारे सिंचाई व्यवस्था संभाले हुए थे। केंद्र सरकार ने डीजल के मूल्य बढ़ाकर किसानों की कमर तोड़ने का काम किया है।
उन्होंने कहा किसान परेशान है लेकिन इससे किसी को कोई मतलब नहीं है। किसान पंचायत के बाद लोगों ने एसडीएम को 13 सूत्रीय मांग सौंपा, जिसमें कहा गया है कि अगर डीजल के बढ़े मूल्य को वापस नहीं लिया गया तो किसान यूनियन बड़े आंदोलन के लिए बाध्य होगी।
पंचायत के बाद किसान यूनियन के पदाधिकारियों ने मुख्य चौराहे पर पहुंचकर केंद्र सरकार के खिलाफ जबरदस्त नारेबाजी करते पुतला फूंका। इस दौरान सोमनाथ जायसवाल, पारसनाथ,करीमुल्लाह, अब्दुल रहीम, सीताराम, विनय प्रताप, शकूर मोहम्मद, दिनेश कुमार, हाजी जमील सहित अन्य लोग मौजूद थे।


सपाइयों ने केंद्र को जमकर कोसा
डुमरियागंज। शुक्रवार को केंद्र सरकार द्वारा डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी और रसोई गैस पर से सब्सिडी हटाये जाने के विरोध में सपा कार्यालय पर एक बैठक आयोजित की गई। जिसकी अध्यक्षता जिला सचिव अजय यादव ने किया।
इस मौके पर यादव ने कहा कि केंद्र सरकार का यह फैसला जनता के हित नहीं बल्कि उसके अहित का फैसला है। केंद्र सरकार बड़े पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए गरीबों की जेबों पर डाका डालने का फरमान जारी की है। केंद्र की कंाग्रेस सरकार किसानों, बेरोजगारों और व्यापारियों की विरोधी है।
बैठक में सगीर अहमद बब्बर, अफसर रिजवी, अयोध्या प्रसाद चौधरी, ओमप्रकाश श्रीवास्तव, अजय दूबे, त्रिभुवन यादव, दयाराज, शाहजहां,इम्तियाज अहमद आदि लोग मौजूद रहे।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha chunav 2019) के नतीजों में किसने मारी बाजी? फिर एक बार मोदी सरकार या कांग्रेस की चुनावी नैया हुई पार? सपा-बसपा ने किया यूपी में सूपड़ा साफ या भाजपा का दम रहा बरकरार? सिर्फ नतीजे नहीं, नतीजों के पीछे की पूरी तस्वीर, वजह और विश्लेषण। 23 मई को सबसे सटीक नतीजों  (lok sabha chunav result 2019) के लिए आपको आना है सिर्फ एक जगह- amarujala.com  Hindi news वेबसाइट पर.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Siddharthnagar

दहेज हत्या में पति व सास गिरफ्तार, भेजा जेल

पिटाई के बाद विवाहिता की मौत के मामले में फरार दहेज हत्या के आरोपी पति व सास को पुलिस ने शुक्रवार सुबह क्षेत्र के मंझरिया गांव के पास से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के बाद दोनों को जेल भेज दिया गया।

24 मई 2019

विज्ञापन

लोकसभा चुनाव में आजम खान से हारीं जया प्रदा करेंगी BJP में 'गद्दारी' की शिकायत

लोकसभा चुनाव 2019 में हाई प्रोफाइल सीट रामपुर से भाजपा प्रत्याशी जया प्रदा का बयान सामने आया है। जया प्रदा ने भाजपा के भीतरघात को अपनी हार का कारण बताया है।

24 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree