अनुशासन की सीख से मिली कामयाबी

Siddhartha nagar Updated Fri, 07 Sep 2012 12:00 PM IST
बस्ती। शिक्षा के क्षेत्र में अहम योगदान देने वाले दो प्रधानाचार्यों को राष्ट्रपति और राज्यपाल पुरस्कार मिलने से जिले के शिक्षक गदगद हैं। शिक्षक संगठनों के ने गुरुओं की इस उपलब्धि पर उन्हें बधाई दी है। वहीं पुरस्कार पाने वाले प्रधानाचार्यों का कहना है कि अपने गुरुजनों से मिली शिक्षा और अनुशासन की सीख से उन्हें जीवन के शिखर पर पहुंचने में कामयाबी मिली।
बेगम खैर गर्ल्स इंटर कालेज की प्रधानाचार्य नीलोफर उस्मानी को शिक्षक दिवस के दिन राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने पुरस्कार से नवाजा। पुरस्कार मिलने से प्रफुल्लित नीलोफर ने इसे पूरे जिला का सम्मान बताया। ‘अमर उजाला’ से दूरभाष से वार्ता में उन्होंने बताया कि यह सिर्फ उनका नहीं, जनपदवासियों का गौरव है। शहर के पुरानी बस्ती मोहल्ले की रहने वाली नीलोफर उस्मानी के परिवार में शुरूआत से ही बेहतर शैक्षिक माहौल रहा। जीवन के हर कदम पर अपने मार्गदर्शन से शैक्षिक उन्नयन का पाठ पढ़ाने वाली प्राथमिक स्कूल की शिक्षिका मां नूरजहां बेगम उनकी आदर्श रहीं। बड़ी बहन डीएस उस्मानी भी डायट में प्राचार्य पद पर आसीन रहीं। तीन दिसंबर 1993 को पड़रौना जिले के जीजीआईसी कालेज से अध्यापन के सफर की शुरूआत करने के बाद वह 11 जुलाई 84 को बस्ती जीजीआईसी में बतौर प्रवक्ता सेवा देने पहुंचीं। दस साल तक रहने के बाद 22 अक्टूबर 1994 को वह बेगम खैर गर्ल्स इंटर कालेज की प्रिंसिपल बनीं। जिला स्काउट गाइड के कमिश्नर पद पर रहते हुए उन्होंने कालेज की छात्राओं को किताबी ज्ञान के साथ अन्य शैक्षणिक गतिविधियों और अनुशासन की सीख दी।

संस्थापक ने बदली जीवन की राह
बस्ती। लखनऊ में शिक्षक दिवस पर बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री रामगोविंद चौधरी के हाथों सम्मानित हुए जिले के हंसराज लाल इंटर कालेज गनेशपुर के प्रधानाचार्य रणबहादुर सिंह के जीवन की राह खुद इसी कालेज के संस्थापक, प्रधानाचार्य अचल बिहारी लाल श्रीवास्तव ने बदल दी। भानपुर के बैदोला प्राथमिक विद्यालय से पढ़ाई की शुरूआत के बाद रणबहादुर सिंह ने अपने आदर्श गुरु के मूलमंत्र को आत्मसात कर उसी कालेज के प्रिंसिपल पल को सुशोभित किया। किसान इंटर कालेज भानपुर से इंटर के बाद केडीसी से स्नातक की शिक्षा ली। मन में टीचर बनने की ख्वाब संजोकर बलरामपुर से बीएड की किया। चार अगस्त 1972 को अध्यापन से गनेशपुर में जुटे तो फिर यहां के छात्रों के ही होकर रह गए। इनकी मेहनत और लगन की ही देन है कि अब कालेज में कुल 3800 छात्र शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं।

Spotlight

Most Read

National

राजनाथ: अब ताकतवर देश के रूप में देखा जा रहा है भारत

राज्य नगरीय विकास अभिकरण (सूडा) की ओर से आयोजित कार्यक्रम में राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना से नया आयाम मिला है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: नए साल पर सीएम योगी ने इन्हें दिया 66 करोड़ का तोहफा!

सिद्धार्थनगर के 29वें स्थापना दिवस के मौके पर चल रहे सात दिवसीय कपिलवस्तु महोत्सव का रविवार को समापन किया गया। समापन कार्यक्रम में खुद सीएम योगी आदित्यनाथ पहुंचे। इस दौरान उन्होंने 66 करोड़ रुपये की आठ परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया।

1 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper