सरकारी धन लूटने वालों पर कब कसेंगे शिकंजा?

Siddhartha nagar Updated Mon, 23 Jul 2012 12:00 PM IST
सिद्धार्थनगर। छह माह के भीतर जिले में सरकारी धन की जमकर लूट हुई। चूंकि मामले पकड़ में आ गए सो फाइलों से उठकर ये प्रकरण जगजाहिर हो गए। अब ऐसे मामलों में कार्रवाई के नाम पर फाइलें इधर से उधर घूम रही हैं। छह माह में तीस लाख रुपये से अधिक के मामले पुलिस रिकार्ड में तो शामिल हो चुके हैं, लेकिन एक तरफ प्रशासन सोया है तो पुलिस सुस्त। कुल मिलाकर इन प्रकरणों का कब पर्दाफाश होगा? इस सवाल का जवाब किसी के पास नहीं है।
जिला पंचायत में 3.62 लाख रुपये के सरकारी धन का बंदरबांट हो गया। बिना कार्य के मिलीभगत से धन निकाल लिया गया। इटवा क्षेत्र के ग्राम मुड़रिया में ग्राम पंचायत के कार्य को अपना बताते हुए जिला पंचायत के कई जिम्मेदारों ने एक साथ मिलकर 3.60 लाख रुपये का भुगतान करा लिया था। जो खड़ंजा बना है, उसे बनाया तो ग्राम पंचायत ने अपनी निधि से था, लेकिन कूटरचित दस्तावेज दिखाकर जिला पंचायत के कुछ अफसरों ने इसे हड़प लिया। हालांकि एक आरोपी जेल में हैं। अन्य कब पकड़े जाएंगे कुछ कहा नहीं जा सकता है। मई 12 में इंदिरा आवास योजना से संबंधित मामला सामने आ गया। वित्तीय वर्ष 2010-2011 में इंदिरा आवास योजना के तहत बैंकों को जो धन भेजा गया, इसमें से दस लाख रुपये कूटरचित दस्तावेज तैयार कर कोआपरेटिव बैंक में भेज दिया गया। इस पैसे को धोखाधड़ी कर बैंक से निकाला गया, जो दस लाख रुपये रहा। इसमें दो लिपिक निलंबित भी हुए थे। दो माह पहले इंदिरा आवास योजना का ही तकरीबन 26 लाख रुपये जो डीआरडीए को वापस मिलना था, लेकिन इस गोरखधंधे में शामिल लोगों ने बैंकों की मिलीभगत से इस धन का गोलमाल कर दिया। हालांकि इस प्रकरण में भी कई के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ। इसी मामले में पिछड़ा वर्ग कल्याण, समाज कल्याण विभाग ने भी अलग-अलग मुकदमे दर्ज कराए थे। ये प्रकरण भी अब शांत हैं।
इनसेट
घोटालों को लेकर प्रशासन गंभीर : प्रभारी डीएम
प्रभारी डीएम/सीडीओ आरबी सिंह कहते हैं कि घोटालों के जो भी प्रकरण सामने आए हैं, उस पर प्रशासन गंभीर है। तात्कालिक रूप से संबंधित लिपिकों को निलंबित किया जा चुका है। मुकदमा भी दर्ज कराया गया है। गिरफ्तारी करना पुलिस का कार्य है। इस प्रकरण में उच्चाधिकारियों से वार्ता की जाएगी।
इनसेट
विवेचना तेज करने के दिए हैं निर्देश: एसपी
पुलिस अधीक्षक मदन गोपाल सिंह ने कहा कि घोटालों के जिन मामलों का मुकदमा दर्ज है, उसमें गिरफ्तारी के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही जो विवेचनाएं लंबित हैं, उसे भी तय समय सीमा में पूरा करने का निर्देश है। इन प्रकरणों को प्राथमिकता के साथ देखा जाएगा।
घोटालों में छह आरोपी गिरफ्तार
सिद्धार्थनगर। इंदिरा आवास योजना 35 लाख रुपये के घोटाले के मामले में पुलिस ने रविवार को खुनियाव और बांसी ब्लाक के दो गांवों में छापा मारकर छह लोगों को गिरफ्तार किया।
सीओ सिटी राम केवल के नेतृत्व में पुलिस टीम ने खुनियाव के दुबैला और बांसी के चेतिया में छापा मारा। यहां से पुलिस ने छह लोगों की गिरफ्तारी की। इस संबंध में सीओ राम केवल ने बताया कि घोटाले का मुकदमा पूर्व में दर्ज हुआ था। इसमें नामजद आरोपियों को गिरफ्तार किया जा रहा है।

Spotlight

Most Read

National

पाकिस्तान की तबाही के दो वीडियो जारी, तेल डिपो समेत हथियार भंडार नेस्तनाबूद

सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है। भारत के जवाबी हमले में पाकिस्तान की कई फायरिंग पोजिशन, आयुध भंडार और फ्यूल डिपो को बीएसएफ ने उड़ा दिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: नए साल पर सीएम योगी ने इन्हें दिया 66 करोड़ का तोहफा!

सिद्धार्थनगर के 29वें स्थापना दिवस के मौके पर चल रहे सात दिवसीय कपिलवस्तु महोत्सव का रविवार को समापन किया गया। समापन कार्यक्रम में खुद सीएम योगी आदित्यनाथ पहुंचे। इस दौरान उन्होंने 66 करोड़ रुपये की आठ परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया।

1 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper