बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

मथुरा कांड के विरोध में सराफा कारोबारियों ने किया प्रदर्शन

अमर उजाला ब्यूरो शाहजहांपुर।  Updated Sat, 20 May 2017 12:07 AM IST
विज्ञापन
नारेबाजी
नारेबाजी - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
कलक्ट्रेट में नारेबाजी करके मुख्यमंत्री से मांगी सुरक्षा
विज्ञापन

चौक सराफा बाजार में रहा सन्नाटा, सदर और जलालनगर में खुलीं दुकानें


मथुरा में दो सराफा व्यापारियों की हत्या और लूट के विरोध में जिले के सराफा कारोबारी शुक्र्रवार को सड़कों पर आ गए। उन्होंने कलक्ट्रेट में नारेबाजी कर घटना पर रोष जताया और सिटी मजिस्ट्रेट को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देकर सभी घटनाओं का खुलासा कराने और ज्वैलर्स की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की। उधर, इस मुद्दे को लेकर जिले में बाजार बंदी का मिला-जुला असर रहा। 
मथुरा की दुस्साहसिक वारदात के विरोध में उत्तर प्रदेश सराफा एसोसिएशन ने शुक्रवार को बाजार बंदी घोषित की थी। इस बारे में शहर की तीनों प्रमुख सराफा यूनियनों को प्रांतीय नेतृत्व से कोई दिशा निर्देश नहीं मिलने के कारण बाजार बंदी को लेकर ऊहापोह की स्थिति रही। चौक क्षेत्र में शुक्रवार को बंदी दिवस के कारण वहां के सराफा प्रतिष्ठान स्वाभाविक रूप से बंद रहे। 

इधर, सदर बाजार का सराफा मार्केट रोजाना की तरह खुला। इस बीच, जलालनगर का सराफा बाजार सुबह कुछ देर को बंद रहा, लेकिन बाद में वहां की इकाई के पदाधिकारियों को सदर बाजार के सराफा प्रतिष्ठान खुले होने की जानकारी मिली तो उनके निर्देेश पर जलालनगर मार्केट में भी आभूषणों की दुकानें खुल गईं। जलालनगर सराफा एसोसिएशन के अध्यक्ष पंकज वर्मा सराफ के अनुसार सदर इकाई के अध्यक्ष मुन्नालाल चंदेल और महामंत्री विनोद सराफ ने बाजार बंद रखने का आग्रह करने पर इनकार कर दिया।
बाजार बंदी को लेकर अनिश्चय की स्थिति के बीच चौक और सदर सराफा एसोसिएशन से जुड़े व्यापारी एकजुट होकर कलक्ट्रेट पहुंचे और विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने मुख्यमंत्री के नाम सिटी मजिस्ट्रेट विजय शंकर दुुबे को दिए ज्ञापन में लखनऊ, वाराणसी, सीतापुर, हरदोई आदि जिलों में सराफा कारोबारियों से हुई करोड़ों की लूट और जानलेेवा हमलोें का उल्लेख करते हुए कहा कि इन घटनाओं का खुलासा नहीं होने से व्यापारी खुद को बेहद असुरक्षित महसूस कर रहे हैं और उनमें रोष बढ़ रहा है। 
मुख्यमंत्री से व्यापारियों ने ऐसी सुदृढ़ कानून व्यवस्था बनाने का अनुरोध किया, जिससे भविष्य में ज्वैलर्स समेत सभी व्यापारियों में भय का माहौल खत्म हो और उनकी सुरक्षा सुनिश्चित हो सके। प्रदर्शन में चौक सराफा यूनियन के अध्यक्ष जवाहर लाल रस्तोगी व महामंत्री राजीव खन्ना, सदर सराफा यूनियन के अध्यक्ष मुन्ना लाल चंदेेल व महामंत्री विनोद सराफ, राज नारायण, राजीव सिंह, रमेश चंद्र वर्मा, रवींद्र रस्तोगी, योगेश चंद्र्र, प्रदीप वर्मा, विनय रस्तोेगी, दीपक वर्मा, नरेंद्र गोयल, विश्वमोहन रस्तोेगी, ओमबाबूू वर्मा आदि शामिल रहे। 

प्रांतीय नेतृत्व से नहीं मिला बंदी का आदेश
प्रदेश स्तर पर बंदी होेने की दशा में प्रांतीय इकाई बैठक करके दिशा निर्देश जारी करती है, लेकिन इस बारे में कोई गाइड लाइन नहीं मिली। स्थानीय सराफा यूनियनों ने भी इस बारे में सदर इकाई से कोई संपर्क नहीं किया। जलालनगर इकाई के अध्यक्ष को बाजार बंदी से किसी ने नहीं रोका।
- विनोद सराफ, महामंत्री, सदर सराफा एसोसिएशन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us