लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Shahjahanpur ›   kirshi kanoon

कृषि कानूनों के विरोध में मनाया काला दिवस

Bareily Bureau बरेली ब्यूरो
Updated Thu, 27 May 2021 01:26 AM IST
kirshi kanoon
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पुवायां/बंडा। पुवायां और बंडा में किसानों ने बुधवार को काला दिवस मनाया और कृषि कानूनों के विरोध में नारेबाजी कर अधिकारियों को ज्ञापन सौंपे।

पुवायां में भाकियू टिकैत गुट के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। जिलाध्यक्ष मंजीत सिंह, तहसील अध्यक्ष अनिल सिंह यादव आदि ने कृषि कानून वापस लिए जाने की मांग की। एसडीएम सतीश चंद्रा को राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन देकर कृषि कानून निरस्त करने की मांग की गई। उधर, भारतीय किसान यूनियन (किसान सरकार) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पवन कश्यप के नेतृत्व में पुवायां में किसानों ने काले झंडे दिखाकर प्रदर्शन किया और काला दिवस मनाया।
इस मौके पर केशव सिंह सूर्यवंशी, मंजीत, जसवीर सिंह, देवेंद्र सिंह चौधरी, सुखपाल सिंह, सुमित शुक्ला आदि मौजूद रहे।
बंडा में भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष मंजीत सिंह ने तहसीलदार राकेश सिंह और बजाज चीनी मिल मकसूदापुर के वरिष्ठ केन मैनेजर सतीश सिंह को ज्ञापन दिया। इस दौरान किसानों ने काले झंडे भी लहराए।

ज्ञापन में किसानों ने कहा कि बजाज पावर प्लांट के ट्रक कोयले की राख को भरकर ले जाते हैं जो उड़कर गिरती है, इससे लोगों के स्वास्थ्य को बड़ा खतरा है। तहसीलदार राकेश सिंह ने थाना प्रभारी मनोज कुमार को निर्देश दिए कि ट्रक में भरी राख को बिना तिरपाल से ढके ले जाया जाए तो कार्रवाई की जाए। इस मौके पर जिला महासचिव कुलदीप सिंह, अवनीश कुमार, कर्नल सिंह, अशोक सिंह, वीरपाल, निर्मल सिंह, गुरप्रीत सिंह, हरजीत सिंह, जग्गा सिंह आदि मौजूद रहे। गांव बरीबरा में भी किसानों ने काला दिवस मनाया।
-
किसान, मजदूर हित मेें सिटी मजिस्ट्रेट से मिले श्रमिक नेता
शाहजहांपुर। किसानों और मजदूरों के हितों की रक्षा के लिए श्रमिक संगठनों के पदाधिकारी और कार्यकर्ता बुधवार को दोपहर राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस (इंटक) के जिलाध्यक्ष पवन कुमार सिंह के नेतृत्व में कलक्ट्रेट जाकर सिटी मजिस्ट्रेट राजेश कुमार से मिले। श्रमिक नेताओं ने उन्हें राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन देकर सरकार द्वारा लागू किए गए किसान और मजदूर विरोधी प्रावधान तत्काल वापस लेने की मांग की।
ज्ञापन में केंद्र व प्रदेश सरकार को बर्खास्त कर देश में कोरोना संकट के दौरान संगठित और असंगठित क्षेत्र के संविदा श्रमिकों, निर्माण श्रमिकों, प्रवासी मजदूरों, मनरेगा श्रमिकों, ठेका श्रमिकों आदि को बेरोजगारी के कारण भुखमरी से बचाने को ठोस कदम उठाने, श्रम कानूनों में संशोधन और किसान विधेयक वापस लेने आदि मांगें की गई। इस मौके पर इंटक युवा प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष शान मोहम्मद, मोहम्मद सिकंदर, राकेश सिंह, असंगठित मजदूर यूनियन के अध्यक्ष आफताब अली खां, विद्युत संविदा मीटर रीडिंग वर्कर यूनियन के अध्यक्ष शिवम मिश्रा, मोहम्मद गुफरान आदि मौजूद रहे।
-
श्रम संगठनों के आह्वान पर भाकियू कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन
शाहजहांपुर। केंद्रीय श्रम संगठनों के आह्वान पर सरकार की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ भारतीय किसान यूनियन के विभिन्न गुटों से जुड़े कार्यकर्ताओं ने बुधवार को जनपद में अलग-अलग स्थानों पर प्रदर्शन किया। निगोही में उन्होंने काले झंडे लहराते हुए पुतला फूंका और अधिकारियों को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन देकर तीनों कृषि विधेयक वापस लिए जाने की मांग की।
कलान में भाकियू कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संबोधित ज्ञापन तहसीलदार अजय यादव को सौंपा। इस मौके पर भाकियू नेता तारा यादव, उदयवीर सिंह यादव, शीला देवी, संसार वती, सुनीता देवी, अनीता देवी, भानु प्रताप सिंह, आदि मौजूद रहे।
तिलहर। किसान समस्याओं को लेकर भाकियू अराजनैतिक के कार्यकर्ताओं ने एसडीएम को संबोधित ज्ञापन तहसीलदार तृप्ति गुप्ता को देकर उनके निस्तारण की मांग की। इससे पूर्व, चीनी मिल ग्राउंड में पंचायत के दौरान जिला प्रवक्ता आदित्य प्रताप सिंह, गेंदन लाल वर्मा, दिनेश चंद्र सक्सेना, वीरपाल, छत्रपाल, ओम प्रकाश राजपूत, दोदराम वर्मा, गुरमेल सिंह, चरण लाल बर्मा, बाबूराम प्रजापति, मुन्ना लाल आदि मौजूद रहे।
निगोही। कृषि कानूनों को लागू किए जाने के विरोध में क्षेत्र के भाकियू ( टिकैत गुट) के कार्यकर्ताओं ने काले झंडे लहराकर केंद्र सरकार का हमजापुर चौराहे पर पुतला फूंका। प्रदर्शन में भाकियू महिला प्रकोष्ठ की मंडल अध्यक्ष माधुरी देवी कुशवाहा, देवेंद्र पाल सिंह, नत्थूलाल, दयाराम, कामता प्रसाद, लालाराम, रामश्री आदि कार्यकर्ता शामिल रहे। इस दौरान शाहजहांपुर-पीलीभीत मार्ग व पुवायां-तिलहर मार्ग पर आवागमन ठप रहा।
मिर्जापुर में भाकियू कार्यकर्ताओं ने किसान विरोधी तीनों काले कानून वापस लिए जाने, सरकारी गेहूं खरीद केंद्रों पर व्याप्त भ्रष्टाचार की उच्च स्तरीय जांच कराने आदि मांगों को लेकर जरीनपुर में गंगा चौराहे पर धरना देकर काला दिवस मनाया। प्रदर्शन में भाकियू तहसील अध्यक्ष उदयवीर यादव, अरविंद कुमार राजपूत, शिवपाल सिंह, ओमवीर, कुसुमलता यादव आदि शामिल रहे।
-
कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में चल रहे आंदोलन को आज छह महीने हो गए हैं। केंद्र सरकार तानाशाही पर उतरी हुई है और कानून वापस लेने को तैयार नहीं है। इन कृषि कानूनों से किसान बड़े पूंजीपतियों का गुलाम हो जाएगा और कभी भी उबर नहीं पाएगा। केंद्र सरकार किसानों की नहीं सुन रही है, इसका खामियाजा आने वाले चुनावों में भुगतान पड़ेगा। तमाम साजिश किए जाने के बाद भी किसान अपनी बात पर अडिग हैं और कृषि कानून वापस नहीं होने तक आंदोलन जारी रहेगा। किसान पीछे हटने वाला नहीं है। बुधवार को देश भर में काला दिवस मनाया गया है। आगे की आंदोलन को तेज करने की तैयारी चल रही हैं। आंदोलन में शामिल होने के लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों को दिल्ली ले जाया जाएगा।
- मंजीत सिंह, जिलाध्यक्ष, भाकियू टिकैत शाहजहांपुर
-
बीएम सिंह किसानों के सच्चे हितैषी
कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे आंदोलन में उनका संगठन भी शामिल था, लेकिन 26 जनवरी को दिल्ली में जो कुछ हुआ उसे स्वीकार्य न मानते हुए संगठन के मुखिया बीएम सिंह आंदोलन से अलग हो गए थे। बीएम सिंह सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट के माध्यम से किसानों को कई बार बड़ा लाभ दिला चुके हैं और हमेशा किसानों के हित के लिए संघर्ष करते रहते हैं। उनका संगठन गेहूं को समर्थन मूल्य पर बिक्री कराने के लिए लगातार संघर्षरत है। कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन के मामले में संगठन के मुखिया का जो निर्णय होगा, कार्यकर्ता उसका पालन करेंगे। गन्ने का बकाया मूल्य भुगतान कराने और गेहूं का सेंटरों पर बिक्री कराने की ओर संगठन का पूरा ध्यान है और वर्तमान समय में इस पर ही आंदोलन चल रहा है।
- अमरजीत सिंह, जिलाध्यक्ष, राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन शाहजहांपुर

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00