बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

सड़कों पर खोदीं खाइयां बनीं जानलेवा

Shahjahanpur Updated Tue, 12 Feb 2013 05:31 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
बारिश के बाद मिट्टी धंसने से बन चुके हैं गहरे गड्ढे
विज्ञापन

- आए दिन गड्ढों में गिरकर जख्मी हो रहे राहगीर
- वाहनों के फंसने पर यातायात में पड़ती हैं बाधाएं
- सड़कें समतल कराने में जल निगम है उदासीन
सिटी रिपोर्टर
शाहजहांपुर। स्थानीय निकाय निदेशक केनिर्देशों का सरासर उल्लंघन करके जल निगम के अफसर शहर की हॉट मिक्स सड़कों को मटियामेट करके शहरी बाशिंदों को मुसीबतें परोसने पर आमादा हैं। पाइप लाइन डालने के बहाने जहां कहीं खाइयां खोदी गईं, पिछले दिनों हुई बारिश में वहां डाली गई मिट्टी धंस जाने से गहरे गड्ढे बन गए हैं। आए दिन इन गड्ढों में गिरकर राहगीर जख्मी हो रहे हैं और उनमें वाहन फंसने से यातायात में बाधाएं पड़ रहीं सो अलग।
शहर में सदर क्षेत्र के किसी भी रोड पर निकल जाएं, हर रास्ते पर थोड़ा आगे जाते ही खाइयां और मिट्टी के ढेर रुकावट बनकर खड़े मिलते हैं। चाहे टाउनहाल से सदर चौराहा की ओर जाएं, लाल इमली चौराहा से पंखी चौराहा की ओर बढ़ें या फिर कचहरी की ओर जाना चाहें, इन सभी व्यस्त मार्गों की दुर्दशा किसी से छिपी नहीं है। इन रास्तों के फुटपाथों पर पेयजल की पाइप लाइन डालने को एक माह पहले खुदाई की गई थी।

कई स्थानों पर पाइप लाइन डालने का काम दो सप्ताह पहले पूरा हो चुका है, लेकिन उनके समतलीकरण पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा। निशात सिनेमा वाला तिराहा अफसरों की इसी लापरवाही का गवाह है। यहां से शहर को जोड़ने वाले सभी रास्तों पर दिन भर सघन यातायात बना रहता है, लेकिन इसी मार्ग पर बनाई गई खाइयां यातायात के सामान्य प्रवाह में बारबार बाधा डाल रही हैं।
दरअसल, पाइप लाइन डालने के बाद जल निगम के ठेकेदार ने मजदूरों से मिट्टी डलवा दी, लेकिन उसे भारी चीज से पाटने की जरूरत नहीं समझी गई। नतीजे में गत सप्ताह हुई बारिश में मिट्टी धंस जाने से खाइयां गहरे गड्ढों में बदल गई हैं। अक्सर टाउनहाल और पंखी चौराहा की ओर से आने वाले रिक्शे तथा अन्य दोपहिया वाहन इनमें फंसकर गिरने से लोग घायल हो जाते हैं। यही नहीं, लाल इमली चौराहा-पंखी चौराहा के बीच चौपहिया वाहनों को तिलक पार्क के कार्नर की ओर घुमाकर निकालना पड़ रहा है।
खास यह है कि गत माह यहां आए स्थानीय निकाय निदेशक ने जल निगम के अधिशासी अभियंता पीके वर्मा को स्पष्ट निर्देश दिए थे कि पाइप लाइन डालने का काम जल्द पूरा कराएं और जहां कहीं रोड काटी गई हैं, उन्हें रोड रोलर से समतल कराएं। साथ ही ईओ मुनेंद्र सिंह राठौर को निर्देशित किया कि वे सड़कों के समतलीकरण का अपने स्तर से सत्यापन भी कराएं। इन निर्देशों का पालन करने में किसी भी स्तर पर गंभीरता परिलक्षित नहीं हो रही।



व्यापार हो रहा प्रभावित
‘शहर में जहां कहीं सड़कों की खुदाई की, वहां के व्यापारी बंधु सर्वाधिक प्रभावित हो रहे हैं। दिन में धूल-गर्द उड़ने से उन्हें अपने प्रतिष्ठानों पर बैठना कठिन हो रहा है। इस ओर ध्यान नहीं दिए जाने पर व्यापारी आंदोलन को बाध्य होंगे।’
-बाल कृष्ण रस्तोगी, खोया मंडी



अफसरों की उदासीनता अक्षम्य
‘यह अफसरों की उदासीनता का नतीजा है जो जल निगम शहर की सड़कों का सत्यानाश किए दे रहा, लेकिन किसी भी स्तर से रोक-टोक नहीं की जा रही। प्रशासन की एक घुड़की से जल निगम के अफसर काम कराना शुरू कर देंगे।’
-ओम बाबू सर्राफ, चौक



पत्थर से पाटे जाएं गड्ढे
‘यदि पाइप लाइन डाले जाने का काम अभी अवशेष है तो भी जिन स्थानों पर मिट्टी डाली जा चुकी है, वहां के गड्ढे पत्थर डालकर पाट दिए जाएं। इससे वाहन निकालने में आसानी होगी।’
-जितेंद्र नाथ शुक्ला, केरूगंज



डीएम से कर चुका हूं शिकायत
‘मनमाने तरीके से सड़कें खोदे जाने और खुदाई के स्थानों पर समतलीकरण नहीं कराए जाने की शिकायत डीएम से कर चुका हूं। अब नए जिलाधिकारी को इस समस्या से अवगत कराऊंगा। जल निगम ने करीब 20 किमी लंबे मार्ग चौपट कर दिए हैं।’
-तनवीर खां, चेयरमैन, नगर पालिका परिषद


इसी माह सड़कें होंगी समतल
‘सड़कों पर खुदाई से जनता को हो रही परेशानी का अहसास मुझे भी है, लेकिन जो काम हो रहा है, वह भी जनहित से जुड़ा है। इसी माह पाइप लाइन डालने का काम पूरा कराने के साथ समतलीकरण का कार्य शुरू करा दिया जाएगा।’
-पीके वर्मा, अधिशासी अभियंता, जल निगम

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us