सीवीओ के वरिष्ठ लिपिक ने वादी के बेटे को धमकाया

Shahjahanpur Updated Mon, 10 Dec 2012 05:30 AM IST
मृतक की सर्विस बुक गायब करने में था नामजद
- सस्पेंड नरेंद्र ने निदेशक स्तर से निलंबन निरस्त कराया
सिटी रिपोर्टर
शाहजहांपुर। मृतक कर्मचारी की सर्विस बुक गायब करने पर धोखाधड़ी में नामजद हुए मुख्य पशु चिकित्साधिकारी कार्यालय के वरिष्ठ लिपिक नरेंद्र कुमार के खिलाफ वादी ने सदर इंस्पेक्टर और सीओ सिटी को पत्र देकर कार्यालय गए बेटे को धमकाने का आरोप लगाया है। खास यह है कि इसी प्रकरण में सस्पेंड हुए नरेंद्र ने निदेशक स्तर से निलंबन निरस्त करा लिया है।
बता दें कि मदनापुर क्षेत्र के गांव चचोरा निवासी कुसुमा देवी की तहरीर पर गत 18 अक्तूबर को सदर थाने में न्यायालय के आदेश पर नरेंद्र कुमार के खिलाफ धारा 420, 467, 409, 406 और 506 के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई थी। रिपोर्ट में कुसुमा ने कहा कि पशुधन प्रसार अधिकारी के पद पर कार्यरत पति कर्मवीर सिंह का सेवाकाल में निधन हो गया। इसी बीच लिपिक ने पति की सर्विस बुक गायब कर दी और मांगने पर मृतक आश्रित कोटे में नियुक्त हुए बेटे संदीप को जान की धमकी दी।
लिपिक नरेंद्र को चूंकि इससे पूर्व सिटी मजिस्ट्रेट स्तर से हुई जांच में भी कर्मचारियों को आतंकित करने का दोषी पाया गया। इसलिए रिपोर्ट दर्ज होने के बाद उसे निलंबित कर दिया गया, लेकिन उसने निदेशक को भ्रामक प्रतिवेदन देकर निलंबन निरस्त करा लिया। अधिकारिक सूत्रों के अनुसार निदेशक को भेजे गए प्रतिवेदन में लिपिक ने कहा कि उसे एक ही अपराध की दोबारा सजा दी गई, जबकि मजिस्ट्रीयल जांच में अन्य कई मामले शामिल थे और इसके लिए उसका इंक्रीमेंट रोक दिया गया था।
हालांकि, यह प्रकरण लेकर दोनों पक्ष इलाहाबाद हाईकोर्ट पहुंच चुके हैं और मामला अदालत के विचाराधीन है, लेकिन इसी बीच लिपिक नरेंद्र पर धमकी का नया आरोप लग गया। कुसुमा देवी ने पुलिस अफसरों को दिए पत्र में कहा है कि लिपिक नरेंद्र ने आफिस में बेटे को मुकदमा वापस नहीं लेने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी।


‘सिटी मजिस्ट्रेट स्तर से हुई जांच में कुसुमा देवी का प्रकरण शामिल नहीं था। वरिष्ठ लिपिक नरेंद्र ने हाईकोर्ट से अरेस्टिंग स्टे देने और एफआईआर निरस्त कराने की अपील की, लेकिन दूसरे पक्ष के वकील ने उच्च न्यायालय में कहा है कि प्रथम दृष्टया रिपोर्ट और उसमें वर्णित धाराएं निरस्त करने योग्य नहीं हैं।’
-डॉ. त्रिलोक सिंह, डिप्टी सीवीओ


धमकी मिलने पर डीआईजी से मिले वकील
गत 24 नवंबर को आशीर्वाद मैरिज लान में गौहरपुरा निवासी वकील गौरव गुप्ता पर रंजिशन हमले में नामजद हुए हुसैनपुरा के अभिषेक और नितिन सक्सेना से वादी को राजीनामा नहीं करने पर जान की धमकी मिलने के बाद वकीलों का शिष्टमंडल सेंट्रल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष एजाज हसन खां के नेतृत्व में डीआईजी एलवी एंटनी देवकुमार से मिला और उनसे घरवालों की सुरक्षा कराने की गुहार की। श्री गुप्ता के अनुसार इस प्रकरण में डीआईजी ने एसपी को उचित कार्यवाही करने का निर्देश दिया है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ब्राइटलैंड स्कूल का प्रिंसिपल गिरफ्तार, पक्ष में माहौल बनाने के लिए अपनाया ये तरीका

राजधानी के ब्राइटलैंड स्कूल में छात्र पर हुए जानलेवा हमले में पुलिस ने स्कूल की प्रिंसिपल को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया।

18 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी मे यहां बीजेपी के चेयरमैन 26 जनवरी को मनाएंगे स्वतंत्रता दिवस

26 जनवरी को पूरे देश में गणतंत्र दिवस मनाया जाता है, लेकिन यूपी के शाहजहांपुर में बीजेपी के चेयरमैन ने लोगों को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी है। देखिए कहां हुई चूक।

7 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper