डकैती स्थल का डीआईजी ने निरीक्षण कर टटोले सुराग

Shahjahanpur Updated Sat, 08 Dec 2012 05:30 AM IST
डॉ. धर्मवीर के घर लाखों की डकैती का मामला
- बंधक बनाए डॉ. दंपति से लिया पूरे घटनाक्रम का ब्यौरा
- कहा: केस के वर्क आउट को बनेगी अलग से रणनीति
सिटी रिपोर्टर
शाहजहांपुर। रूफस चरन लेन में बुधवार की रात डॉ. धर्मवीर चौधरी की कोठी पर पड़ी लाखों की डकैती के तमाम रहस्यों पर पड़ा पर्दा हटाने में पुलिस दूसरे दिन भी नाकाम रही। शुक्रवार को पुलिस उप महानिरीक्षक एलवी एंटनी देवकुमार ने एसपी चंद्र प्रकाश समेत तमाम अधीनस्थों के साथ डकैती स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने आश्वस्त किया कि केस के सही वर्क आउट को अलग से रणनीति बनेगी।
बता दें कि बुधवार की रात सात-आठ बदमाशों ने डॉ. चौधरी के घर धावा बोला और उन्हें तथा उनकी पत्नी विमल समेत उनके गार्ड अजय मिश्रा को बंधक बनाने के बाद डेढ़ लाख रुपये और जेवर समेत करीब 20 लाख रुपये का माल लूट ले गए थे। घटना के दौरान एक बदमाश ने अपना चेहरा नहीं ढका, जिसे डॉक्टर दंपति ने पहचानने का दावा किया है। इस मामले में रिपोर्ट गुरुवार को दर्ज हो गई, लेकिन वारदात में लिप्त बदमाशों का अभी तक कोई सुराग नहीं लग सका है। सदर पुलिस ने आज भी कई संदिग्ध चरित्र के लोगों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की, लेकिन उनसे ऐसा कोई क्लू नहीं मिला जिससे पेशेवर बदमाशों तक पहुंचने में मदद मिले।
इस बीच, बरेली से आज डीआईजी ने यहां आकर डॉ. चौधरी की कोठी का बारीकी से मुआयना करके उन सभी ठिकानों पर निगाह डाली जो बदमाशों के लिए वारदात में अनुकूल रहे। मसलन, डॉ. चौधरी के बड़े बेटे रोहित के निर्माणाधीन घर का निरीक्षण करने के बाद उन्होंने मेन बिल्डिंग के उन सभी हिस्सों पर निगाह डाली, जहां वारदात के दौरान बदमाशों का कब्जा रहा। उन्होंने छत पर जाकर पीछे रेलवे लाइन के किनारे की सन्नाटे वाली लोकेशन भी देखी।
डॉक्टर दंपति से घटना का ब्यौरा लेते हुए डीआईजी श्री देवकुमार ने उन्हें आश्वस्त किया कि केस का वर्क आउट सही तरीके से कराने को अलग से रणनीति बनाई जा रही है। इसके लिए पुलिस की तीन टीमें बनाकर उन्हें नियत समय सीमा में बदमाशों को पकड़ने का टास्क भी दिया गया है। विभाग के पास उपलब्ध साफ्टवेयर की मदद से उस डकैत का स्केच भी तैयार कराया जाएगा, जिसने अपना चेहरा खुला रखकर घटना को अंजाम दिया। इस दौरान एएसपी सिटी डॉ. एसएन भारद्वाज, एएसपी देहात कृष्ण बहादुर सिंह, सीओ सिटी राजेश्वर सिंह, सीओ पुवायां विकास कुमार वैद्य, सीओ सदर संजय कुमार, सदर इंस्पेक्टर सूबेदार सिंह यादव आदि डीआईजी के साथ रहे।

Spotlight

Most Read

Rohtak

जीएसटी विभाग ने ई-वे बिल को लेकर जांच किया अवेयरनेस कैंपेन

जीएसटी विभाग ने ई-वे बिल को लेकर जांच किया अवेयरनेस कैंपेन

19 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी मे यहां बीजेपी के चेयरमैन 26 जनवरी को मनाएंगे स्वतंत्रता दिवस

26 जनवरी को पूरे देश में गणतंत्र दिवस मनाया जाता है, लेकिन यूपी के शाहजहांपुर में बीजेपी के चेयरमैन ने लोगों को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी है। देखिए कहां हुई चूक।

7 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper