पुलिस की लापरवाही से हुई रोडवेज बस-ट्रक भिड़ंत

Shahjahanpur Updated Tue, 04 Dec 2012 05:30 AM IST
एक दिन पहले दुर्घटनाग्रस्त ट्रक बना एक्सीडेंट की वजह
- नेशनल हाईवे पर देर तक लगा जाम, वाहनों की लगीं कतारें
अमर उजाला नेटवर्क
शाहजहांपुर/तिलहर। नेशनल हाईवे पर रविवार की रात तिलहर पॉवर हाउस के नजदीक पुलिस की लापरवाही से रोडवेज बस और ट्रक में सीधी भिड़ंत हो गई। पुलिस ने वहां पहले से खड़ा दुर्घटनाग्रस्त ट्रक हटवा दिया होता तो शायद बस यात्रियों को अपनी मंजिल मिल जाती और उन्हें अस्पताल का मुंह नहीं देखना पड़ता। सीएचसी और जिला अस्पताल में भर्ती सभी घायल यात्री खतरे से बाहर हैं और उनकी हालत में सुधार बताया गया है।
बता दें कि दिल्ली से नेपाल बार्डर रुपइडिहा जा रही गोला डिपो की यात्रियों से भरी बस में सामने से आ रहे ट्रक ने टक्कर मार दी। इस दुर्घटना में दोनों वाहन चालकों समेत लगभग डेढ़ दर्जन लोग घायल हो गए। दुर्घटना ठीक उसी स्थान पर हुई जहां शनिवार सुबह एक ट्रक और टैंकर में सीधी भिड़ंत हो गई थी। पुलिस ने टैंकर वहां से हटवा दिया, लेकिन दुर्घटनाग्रस्त ट्रक रोड के किनारे खड़ा रहने दिया।
बस में सवार कई यात्रियों ने बताया: चालक ने रोड के किनारे ट्रक खड़ा देख स्टेयरिंग दाईं ओर मोड़कर आगे निकलना चाहा कि इसी दौरान विपरीत दिशा से आए धान उसे लोड ट्रक की बस से टक्कर हो गई। टक्कर इतनी तेज हुई कि बस बीच से दो हिस्सों में बट गई और ट्रक का अगला हिस्सा ध्वस्त हो गया। इस दुर्घटना के बाद हाईवे पर देर तक जाम लगा रहा। इस कारण दोनों और वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। इसी जाम की वजह से घायलों को अस्पताल भेजने में देरी हुई। गनीमत यह रही कि यात्रियों को गंभीर चोटें नहीं आईं। बाद में पुलिस ने किसी तरह मशक्कत करके घायलों को स्थानीय लोगों की मदद से तिलहर सीएचसी व जिला अस्पताल भिजवाया। ट्रक के अगले हिस्से को काटकर उसमें फंसे ड्राइवर नौशाद को निकाला गया।


दुर्घटना में यह सभी हुए घायल
दुर्घटना में नारायण पुत्र विनोद, निर्मला पत्नी विनोद, वसंती पुत्री मनबहादुर घई नेपाल, वसंत पुत्र खलाले भुदईदांग नेपाल, प्रेम सिंह पुत्र सुरजन सिंह तुलसीपुर दांग नेपाल, रामनरेश पानीपत, ट्रक चालक नौशाद निवासी तमजेड़ी सहारनपुर, तोयाराम पुत्र हुलाराम दांग नेपाल, टंगे पुत्र खाईराम दांग नेपाल, सुमन पुत्र केशर नेपालगंज, नारायण तिवारी पुत्र मनीराम नेपालगंज, संजय पुत्र प्रताप कैंथल (हरियाणा), कृष्ण गोपाल पुत्र रामकुमार नेपालगंज और बस चालक रमेशचन्द्र दीक्षित कुंवरपुर जप्ती (पुवायां) शामिल हैं।


जाको राखे साईयां मार सके ना कोय
बस में अपनी मां बसंती के साथ जा रही छह माह की दुधमुंही बच्ची मोनिका बस में आगे ड्राइवर के पास वाली सीट पर मां की गोद में बैठी थी। प्रत्यक्षदर्शी यात्रियों के अनुसार टक्कर लगते तो बालिका मोनिका मां से छिटक कर खिड़की के खुले शीशे से बाहर जा गिरी, लेकिन ईश्वर की कृपा से उसे खरोंच तक नहीं आई। घायल बसंती बार-बार अपनी बेटी की कुशलता के बारे में पूछ रही थी और मोनिका इससे बेखबर बचाव कार्य में लगे स्थानीय लोगों की गोद में खेल रही थी।

Spotlight

Most Read

Varanasi

बिरहा प्रतियोगिता के चयन पर उठ रहे सवाल

बिरहा प्रतियोगिता के चयन पर उठ रहे सवाल

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के दो दिन तक बंधक बनाकर किया गैंगरेप

यूपी में जहां एक तरफ अपराधियों पर नकेल कसने के लिए ताबड़तोड़ मुठभेड़ हो रही हैं। वहीं दूसरी तरफ महिलाओं से गैंगरेप की घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। ताजा मामला शाहजहांपुर का है।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper