दुर्गम मझरों तक आसान होगी पहुंच

Shahjahanpur Updated Tue, 04 Dec 2012 05:30 AM IST
प्रस्ताव को मंजूरी मिलते ही पीडब्ल्यूडी ने मांगे टेंडर
- 71 करोड़ रुपये के बजट से बनेंगी 137 किमी सड़कें
- प्रधानमंत्री सड़क योजना से तैयार होंगे 86 संपर्क मार्ग
सिटी रिपोर्टर
शाहजहांपुर। अब देहात के कम आबादी वाले उन सभी मझरों तक पहुंच आसान हो जाएगी जहां तक पहुंचना फिलहाल काफी दुर्गम है, खासकर बारिश के दिनों में। ऐसे सभी गांवों को मुख्यालय से जोड़ने को प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत सरकार ने 71 लाख रुपये का बजट स्वीकृत कर दिया है। इस धनराशि से 86 मझरों में 137 किमी लिंक रोड बनाए जाने हैं। सरकार से प्रस्ताव और बजट राशि की स्वीकृति मिलने के साथ लोक निर्माण विभाग ने पंजीकृत ठेकेदारों से निविदाएं भी आमंत्रित कर ली हैं।
खास यह है कि योजना के तहत संपर्क मार्गों के निर्माण का प्रस्ताव करीब तीन-चार पूर्व शासन को भेजा गया था, जो काफी दिनों तक केंद्र और राज्य की तत्कालीन बसपा सरकार के बीच सामंजस्य की कमी से अधर में लटका रहा। अब नई सरकार के मुखिया और यूपीए के बीच गहराए रिश्तों की बदौलत केंद्र सरकार से सूबे को मिल रहे तोहफों की कड़ी में जिले के 86 मझरों के लिंक रोड भी शामिल हो गए हैं।
संपर्क मार्गों के लिए सभी 15 विकास खंडों से वही मझरे चयनित किए गए हैं, जिनकी आबादी 250 से 500 तक सीमित है। दरअसल, अभी तक ग्राम पंचायत मुख्यालयों समेत ज्यादा आबादी वाले मझरों को विभिन्न विकास योजनाओं से संतृप्त करने में इसलिए प्राथमिकता दी जाती रही जिससे कि अधिकाधिक लोग लाभान्वित हो सकें। इससे कम आबादी वाले मझरे हाशिए पर चले गए क्योंकि वहां लिंक रोड नहीं बनाए जाने से उनकी पहुंच से अन्य योजनाएं भी दूर रहीं।
इसी कमी को भांपकर कई वर्ष पहले संपर्क मार्ग बनाने का प्रस्ताव शासन को भेजा गया। सूत्रों के अनुसार बसपा सरकार ने प्रधानमंत्री सड़क योजना में बजट भी मांगा, लेकिन कांग्रेस से सियासी रिश्तों में घुली कड़वाहट के चलते उस पर ध्यान नहीं दिया। अब सपा के बदले हुए निजाम में केंद्र ने भी उदारता दिखाते हुए विभिन्न मदों में सभी चयनित गांवों में लिंक रोड बनाने की मंजूरी दे दी। सूत्रों के अनुसार पीडब्ल्यूडी निविदाएं मांग चुका है और बहुत जल्द पगडंडियां लिंक मार्गों के नीचे दफन होने लगेंगी।

Spotlight

Most Read

Pratapgarh

अभी तक एक भी अपात्र से नहीं हुई रिकवरी

अभी तक एक भी अपात्र से नहीं हुई रिकवरी

20 जनवरी 2018

Related Videos

शाहजहांपुर के अटसलिया गांव में नहीं हो रही लड़कों की शादी, ये है वजह

केंद्र सरकार खुले में शौच से मुक्ति दिलाने के लिए स्वच्छ भारत मिशन के तहत करोड़ों रुपये खर्च कर रही है, लेकिन यूपी के शाहजहांपुर जिले में एक गांव ऐसा है जहां महिलाओं को आज भी खुले में शौच जाना पड़ता है।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper