अब नई रेल पटरियों सरपट पर दौड़ेंगी ट्रेनें

Shahjahanpur Updated Sun, 02 Dec 2012 05:30 AM IST
डीएमटी स्पेशल से शुरू हुई रेल मैटीरियल अनलोडिंग
- रोजा जंक्शन तक दोनों लाइनों का होगा नवीनीकरण
- पद्मावत समेत कई डिरेलमेंट की हुई गहन समीक्षा
सिटी रिपोर्टर
शाहजहांपुर। आखिरकार संरक्षा नियमों से उदासीन रेल अफसरों की तंद्रा भंग हो गई और उन्होंने पद्मावत समेत हाल ही में हुए कई डिरेलमेंट की गहन समीक्षा के बाद यहां से रोजा जंक्शन तक दोनों ट्रैकों के नवीनीकरण का फैसला कर लिया। इसके तहत डीएमटी स्पेशल ट्रेन ने दोनों लाइनों के किनारे रेल मैटीरियल की अनलोडिंग शुरू कर दी। अधिकारिक सूत्रों के अनुसार ट्रैक रिकाडिंग मशीन से रेल पथों की मॉनीटरिंग करके खास तवज्जो देने वाले प्वॉइंट पहले ही ट्रेस किए जा चुके हैं।
बता दें कि लखनऊ-दिल्ली रेल मार्ग पर इलेक्ट्रिक ट्रेनों के संचालन को उतावले अफसरों को हाल ही में स्थानीय रेल सेक्शन में ट्रेनें बेपटरी होने का हवाला देते हुए अमर उजाला ने 30 नवंबर के अंक में ‘इलेक्ट्रिक ट्रेनों की राह में डिरेलमेंट बने बाधक’ शीर्षक से विस्तृत रिपोर्ट छापी थी। खबर में गत पांच नवंबर को पद्मावत एक्सप्रेस बेपटरी होने से लेकर हाल के करीब 11 डिरेलमेंट गिनाते हुए बिजली की ट्रेन नहीं चल पाने की जो वजह टटोली, अंतत: रेल अफसर भी उसी नतीजे पर ही पहुंचे।
इसका सुबूत डीएमटी स्पेशल द्वारा सामान की अनलोडिंग शुरू होने से मिल गया। अधिकारिक सूत्रों के अनुसार ट्रैक के खराब हिस्सों में बदलाव एक सतत प्रक्रिया है, लेकिन एक अरसे बाद यहां से लेकर रोजा तक दोनों पटरियों के संपूर्ण नवीनीकरण का काम होगा। प्रथम चरण में क्रेन और मैन पॉवर के जरिए रेल पटरियां ट्रैक के किनारे डाली जा रही हैं। बाद में स्लीपर पड़ने हैं और इसी के साथ गिट्टी का लेवल भी मानक के अनुरूप लाया जाएगा। ट्रैक रिकार्डिंग मशीन से खराब हिस्सों पर लाल निशान लगाने का काम पहले ही पूरा कर लिया गया है। मशीन ऑपरेट करने वाली टीआरटी का डिपो तिलहर में बनाया गया है।
सूत्र भी मानते हैं कि बंथरा से लेकर ऐगवां तक हाल ही में ट्रेनें बेपटरी होने से परेशान अफसर सकते में तब आ गए जब पद्मावत डिरेल हो गई। इसलिए आए दिन के रेल फ्रैक्चर और डिरेलमेंट से निपटने के लिए इलेक्ट्रिक ट्रेनें चलाने से पहले ट्रैक रिन्यूवल करने का निर्णय लेना पड़ा।


‘रेल मार्ग के खराब हिस्सों को बदलने का काम पिछले तीन माह से चल रहा है। बरेली से पीतांबरपुर तक काम पूरा हो चुका है। अब पीतांबरपुर से यहां तक स्लीपर बदले जाने हैं। इसके बाद यहां से लेकर रोजा तक दोनों ट्रैक पूरी तरह बदले जाएंगे और तभी रूट पर ब्लॉक लेकर गाड़ियां धीमी गति से निकाली जाएंगी।’
-एके गौतम, स्टेशन अधीक्षक

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

दिल्ली: प्लास्टिक फैक्ट्री में लगी आग, 9 लोगों की मौत, 10 फायर ब्रिगेड मौके पर

देश की राजधानी दिल्ली के औद्योगिक इलाके बवाना में शनिवार देर शाम एक प्लास्टिक फैक्ट्री में भीषण आग लग गई।

20 जनवरी 2018

Related Videos

शाहजहांपुर के अटसलिया गांव में नहीं हो रही लड़कों की शादी, ये है वजह

केंद्र सरकार खुले में शौच से मुक्ति दिलाने के लिए स्वच्छ भारत मिशन के तहत करोड़ों रुपये खर्च कर रही है, लेकिन यूपी के शाहजहांपुर जिले में एक गांव ऐसा है जहां महिलाओं को आज भी खुले में शौच जाना पड़ता है।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper