मुंह मीठा कराने का बदला ट्रेंड

Shahjahanpur Updated Sat, 10 Nov 2012 12:00 PM IST
मिठाइयों का विकल्प बने चॉकलेट, बिस्कुट के पैक
- महंगाई ने सीमित आय वालों की ड्राई फ्रूट्स से बढ़ा दी दूरी
सिटी रिपोर्टर
शाहजहांपुर। खानपान की चीजों में मिलावट के नित नए मामले सामने आने से दिवाली जैसे त्योहार पर भी लोग रिश्तेदारों और शुभचिंतकों का मुंह मीठा कराने को मिठाइयों से दूर भाग रहे हैं। निम्न और मध्य आय वर्ग वाले परिवारों की महंगाई के चलते ड्राई फ्रूट्स से दूरी और बढ़ गई है। ऐसे में विभिन्न ब्रांडेड कंपनियों के चाकलेट, बिस्कुट, फूट जूस आदि के गिफ्ट पैक मिठाइयों का बेहतर विकल्प साबित हो रहे हैं।
दिवाली पर मिठाई खिलाने के रिवाज के कारण इस त्योहार में दूध और खोया से निर्मित मिठाइयों की डिमांड बढ़ जाती है। इसलिए इन्हीं दिनों खोया में मिलावट का खेल भी बढ़ जाता है, लेकिन खोया मंडी का ख्याल अफसरों को तभी आता है जब त्योहार नजदीक आ जाते हैं। होली हो या दिवाली, त्योहारों से ऐन पहले बाजारों में छापेमारी इस वर्ष भी बढ़ा दी गई, लेकिन जब्त माल के नमूनों की रिपोर्ट आने में कम से कम एक माह का वक्त लग जाता है और तब तक खाद्य विभाग भी अभियान भुला चुका होता है।
यही वजह है कि मिठाइयों में मिलावट थम नहीं रही और इसलिए लोग मुंह मीठा कराने की परंपरा के निर्वाह को या तो ब्रांडेड कंपनियों की डिब्बाबंद मिठाइयों को तरजीह दे रहे हैं या फिर ‘चीप एंड बेस्ट’ श्रेणी के अन्य गिफ्ट पैक खरीद रहे हैं जिनकी मार्केट में भरमार हो गई है। इनमें ब्रिटानिया का अंडारहित शाकाहारी केक, चाकलेट-बिस्कुट, हल्दीराम की स्वीट और स्पाइसी नमकीन के ‘डबल मजा’ गिफ्ट पैक काफी पसंद किए जा रहे हैं।
हालांकि, बाजार में ड्राई फ्रूट्स के गिफ्ट पैक भी आकर्षक पैकिंग में उतारे गए हैं जिनकी रेंज 250 रुपये से शुरू होती है। मेवों से भरी 1800 रुपये वाली अटैची या फिर गणेश जी की तस्वीर वाली ड्राईफ्रूट की पैकिंग एक हजार रुपये में है। ऐसे गिफ्ट पैक खरीदने की कुव्वत उच्च आय वर्ग के लोग ही दिखा रहे हैं। सदर बाजार में कन्फैक्शनरी शोरूम वासुदेव एंड संस के स्वामी नरेश कुमार भी मानते हैं कि मेवा के दाम पिछले साल की तुलना में पांच से सात फीसदी चढ़ जाने से मध्य आय वर्ग के लोग उन्हें खरीद कम, देख ज्यादा रहे हैं।
हालांकि, परंपरावादी तबका आज भी दिवाली को मिठाइयों का पर्याय मानता है। चाहे श्री गणेश-लक्ष्मी पूजन के बाद भगवान को भोग लगाने की बात हो या फिर दूज के दिन भाई का मुंह मीठा कराना हो, ऐसे लोग शगुन के तौर पर मिठाई का डिब्बा घर ले जाना जरूरी समझते हैं। इसलिए उन्हें विभिन्न कंपनियों के डिब्बाबंद पिन्नी लड्डू, गुलाब जामुन, छेना रसगुल्ला, चमचम आदि भा रहे हैं। इसी वर्ग की जरूरत का ख्याल रखते हुए अधिकांश हलवाई मिठाइयां बनाने में जुटे हैं।

दिवाली पर बाजार में छाए मीठे आइटम: एक नजर
-----------------------------------
गिफ्ट पैक कीमत
0 चाकलेट, बिस्कुट, नमकीन 85 से 200 रुपये
0 सोन पापड़ी और रसगुल्ला 140 से 360 रुपये
0 पिन्नी लड्डू और चमचम 170 से 180 रुपये
0 विभिन्न कंपनियों के फ्रूट जूस 160 से 260 रुपये
0 ड्राई फ्रूट्स 250 से 1800 रुपये
(स्रोत वासुदेव एंड संस और सैलिब्रेशन ट्रेडर्स, सदर बाजार)

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

प्रेम में बदनामी के डर से नाबालिग ने खुद को फूंका

शाहजहांपुर में एक नाबालिग लड़की ने बदनामी के डर से आग लगाकर जान दे दी। लड़की के प्रेमी ने लड़की के घर फोन करके दोनों के प्रेम प्रसंग की बात कही। जिसके बाद लड़की ने बदनामी से बचने के लिए ये कदम उठाया।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls