समय के चक्रव्यूह में फंसे राजा दशरथ

Shahjahanpur Updated Thu, 18 Oct 2012 12:00 PM IST
पत्नी कैकेयी को वरदान देकर संकट में डाले प्राण
- प्रिय पुत्र राम को दिया वनगमन का आदेश
- वनवास की लीला देख दर्शकों की आंखें छलछलाईं
सिटी रिपोर्टर
शाहजहांपुर। ओसीएफ और नगर रामलीला में बुधवार का दिन हर्ष और विषाद से भरा रहा। दोनों ही स्थानों पर दिखाया गया कि समय की क्रूरता किस हद तक अपना असर दिखाती है। तभी तो श्रीराम के राज्याभिषेक की तैयारियों के साथ नाचती-झूमती प्रजा को जब श्रीराम के वनवास का समाचार मिलता है तो सहसा किसी को विश्वास नहीं हुआ। पल भर में खुशियाें पर गम का पहाड़ टूट पड़ा और अपने राजा को राजगद्दी संभालने का सपना देखने वाली प्रजा को उन्हें वनवास जाते देखना पड़ा।
ओसीएफ रामलीला में बुधवार को अहिल्या उद्धार के साथ मंचन शुरू किया गया। इसके बाद जनकपुरी भ्रमण, श्रीराम-सीता विवाह, परशुराम-लक्ष्मण संवाद लीलाओं का प्रभावी मंचन किया गया। खुशी के इन पलों को मन में संजोने वाले दर्शकों को अगले ही पल गहरे दुख में डूबना पड़ा। कैकेयी ने जब राजा दशरथ से दो वरदान मांगे तो दर्शक सन्न रह गए। राम वनवास लीला का मंचन दर्शकों को अंदर तक झझोंड़ दिया। इसी कड़ी में भील नृत्य से दर्शकों का मनोरंजन किया गया।
लीला मंचन में अंकित सक्सेना, एपी सिंह, संजय सक्सेना, श्रद्धा सक्सेना, अरशद आजाद, शिखा, पैट्रिक दास, रजनीश कुमार आदि शामिल रहे।
इधर, नगर रामलीला में भी श्रीराम राज्याभिषेक की तैयारियों के बीच कैकेयी ने रंग में भंग डालने का काम किया और जश्न के बीच पति दशरथ से राम को 14 वर्षाें का वनवास और अपने पुत्र भरत को राजपाट मांग लिया। पिता की आज्ञा को सिरोधार्य करते हुए राम अर्धांगिनी सीता और अनुज लक्ष्मण के साथ वन को कूच कर गए। राम के वनवास जाते ही पुरवासी भी उनके पीछे वन जाने लगे। रोती-बिलखती प्रजा का समझाने के बाद भगवान राम ने केवट की सहायता से गंगा पार की।
लीला मंचन में कृष्ण मोहन शर्मा, विनीत, संदीप, साक्षी, मुकेश, मनोज राना, अनूप, वेद प्रकाश, संजय सक्सेना, जनार्दन सिंह आदि शामिल रहे। लीला का निर्देशन महेश श्रीवास्तव ने किया। इससे पूर्व अरुण खंडेलवाल-अंजू खंडेलवाल, डॉ. सत्यप्रकाश मिश्रा-रश्मि मिश्रा, सतीश शर्मा-संतोष शर्मा, जय सिंह यादव-सुनीता यादव, सतेंद्र कुमार-किरन ने श्रीराम-सीता झांकी आरती कर लीला का शुभारंभ किया।


रामलीला में आज
---------------
- ओसीएफ रामलीला में केवट-राम प्रेम,बाल्मीकि-राम संवाद, सुमंत की चित्रकूट से वापसी, दशरथ मरण, चित्रकूट में भरत-राम मिलन, सीता श्रंगार, श्रीराम प्रतिज्ञा आदि लीलाओं का मंचन।
- नगर रामलीला में दशरथ मरण, भरत-कैकेयी संवाद, चित्रकूट में भरत-राम का मिलन आदि लीलाओं का मंचन।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी एसटीएफ ने मार गिराया एक लाख का इनामी बदमाश, दस मामलों में था वांछित

यूपी एसटीएफ ने दस मामलों में वांछित बग्गा सिंह को नेपाल बॉर्डर के करीब मार गिराया। उस पर एक लाख का इनाम घोषित ‌किया गया था।

17 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी मे यहां बीजेपी के चेयरमैन 26 जनवरी को मनाएंगे स्वतंत्रता दिवस

26 जनवरी को पूरे देश में गणतंत्र दिवस मनाया जाता है, लेकिन यूपी के शाहजहांपुर में बीजेपी के चेयरमैन ने लोगों को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी है। देखिए कहां हुई चूक।

7 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper