स्वाइन फ्लू को लेकर वेटनरी विभाग अलर्ट

Shahjahanpur Updated Fri, 05 Oct 2012 12:00 PM IST
नखासों में सुअरों के ब्लड सैंपल लेने के निर्देश
- पशु पालकों के लिए जारी की गई विशेष एडवाइजरी
- बदायूं की एक महिला में हो चुकी है रोग की पुष्टि
सिटी रिपोर्टर
शाहजहांपुर। सूकर प्रजाति के पशुओं से होने वाली संक्रमणजनित बीमारी स्वाइन फ्लू के रुहेलखंड में दस्तक देने के साथ ही पशु चिकित्सा विभाग जिले में इस रोग की बढ़वार रोकने को अलर्ट हो गया है। इस संबंध में सभी पशु अस्पतालों के प्रभारी डॉक्टरों को क्षेत्र के नखासा बाजार (पशु हाट) चिन्हित करके वहां बिकने आने वाले इस प्रजाति के पशुओं के ब्लड सैंपल लेने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही पशु पालकों को भी एडवाइजरी जारी करके रोग से बचाव को सतर्क कर दिया गया है।
बता दें कि बीते दिनों ककराला (बदायूं) की एक महिला अपनी रिश्तेदारी में आजमगढ़ गई और वहां से सर्दी, जुकाम, बुखार जैसे लक्षण लेकर लौटी। सामान्य एंटीबायोटिक से बुखार नहीं उतरने पर उसके गले की श्लेष्मा की जांच कराए जाने पर स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई। इसके बाद से ही वेटनरी डिपार्टमेंट में हड़कंप मचा है। हालांकि, तसल्ली की बात यह है कि अभी जिले के किसी भी सरकारी अथवा प्राइवेट अस्पताल में स्वाइन फ्लू का कोई केस नहीं मिला है।
चूंकि, यह रोग सुअरों के संपर्क में आने से होता है और संक्रमित व्यक्ति पालतू पशुओं में भी संक्रमण फैला सकता है। इसलिए पशु चिकित्सा विभाग अधिक सतर्कता बरत रहा है। अभी तक बर्ड फ्लू से बचाव को मुर्गी फार्मों से मुर्गियों के ब्लड सैंपल लिए जाते रहे, लेकिन स्वाइन फ्लू के मद्देनजर मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. इंद्रमणि ने उन सभी सूकरों के खून के नमूने लेने के भी निर्देश दिए हैं जो नखासों में खरीद-फरोख्त को लाए जा रहे हैं।
सीवीओ ने बताया: सभी पशु अस्पतालों के डॉक्टरों से कहा गया है कि वे अपने क्षेत्र केपशु बाजार चिन्हित करके वहां लाए जाने वाले सूकर प्रजाति के स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दें और किसी भी पशु में असामान्य लक्षण पाने पर उसका ब्लड सैंपल लें। इसके साथ ही सूकर पालकों को सलाह दी गई है कि वे आबादी के बीच पशु नहीं पालें। उन्हें यह सलाह भी दी जा रही है कि किसी भी पशु की आंखें लाल होने के साथ बुखार हो और वे खाना लेना छोड़ दें तो तत्काल नजदीकी पशु अस्पताल अथवा सेवा केंद्र पर संपर्क करें।


फोटा-- 1 एसपीएन 12 में।
‘सभी पशु अस्पतालों को इस बीमारी की रोकथाम को सतर्क कर दिया गया है। लोगों में भ्रम है कि सुअर का मांस खाने से यह बीमारी होती है जबकि यह रोग फैलाने वाला एक वायरस है जो मनुष्य से पशु में भी जा सकता है। सूकर प्रजाति के बीमार पशुओं के ब्लड सैंपल जांच को उचित माध्यम से भोपाल और पूना स्थित प्रयोगशाला भेजे जाएंगे।’
-डॉ. इंद्रमणि, सीवीओ


फोटो--1 एसपीएन 13 में।
‘स्वाइन फ्लू को लेकर दहशतजदा होने की जरूरत नहीं है। अगर किसी व्यक्ति में इसकी पुष्टि होती है तो परिजनों को चाहिए कि उसे साफ-सुथरे कपड़ों के साथ अलग कमरे में लिटाएं और उसके मुंह पर जरूर मास्क लगा दें। परिवार के सदस्य भी चेहरे पर मास्क लगाकर कमरे में जाएं और मरीज से करीब एक मीटर का फासला बनाए रखें।’
-डॉ. राजीव सिंह, फिजीशियन

Spotlight

Most Read

National

मौजूदा हवा सेहत के लिए सही है या नहीं, जान सकेंगे आप

दिल्ली के फिलहाल 50 ट्रैफिक सिग्नल पर वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) डिस्पले वाले एलईडी पैनल पर यह जानकारी प्रदर्शित किए जाने की कवायद हो रही है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी मे यहां बीजेपी के चेयरमैन 26 जनवरी को मनाएंगे स्वतंत्रता दिवस

26 जनवरी को पूरे देश में गणतंत्र दिवस मनाया जाता है, लेकिन यूपी के शाहजहांपुर में बीजेपी के चेयरमैन ने लोगों को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी है। देखिए कहां हुई चूक।

7 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper