प्रमोशन में आरक्षण के विरोध में कूदे संगठन

Shahjahanpur Updated Fri, 07 Sep 2012 12:00 PM IST
राज्यकर्मियों का धरना-प्रदर्शन दूसरे दिन भी रहा जारी
- सेंट्रल बार एसोसिएशन आरक्षण के विरोध मेंहड़ताल पर
- केंद्र सरकार के विधेयक लाने के फैसले का कड़ा विरोध
सिटी रिपोर्टर
शाहजहांपुर। सरकारी नौकरियों में अनुसूचित जाति/ जनजाति वर्ग के लोगों को प्रमोशन में आरक्षण देने के केंद्र सरकार के फैसले पर राज्यकर्मियों के साथ हीअन्य संगठन भी कूद पड़े हैं। सर्वजन हिताय संरक्षण समिति से जुड़े राज्यकर्मियों ने केंद्र सरकार के फैसले के विरोध में आज दूसरे दिन भी धरना-प्रदर्शन किया। उधर, वकीलों ने भी आरक्षण के विरोध में हड़ताल रखी।
लोनिवि परिसर में धरनास्थल पर हुई आरक्षण विरोधी सभा में डिप्लोमा इंजीनियर्स महासंघ के क्षेत्रीय महामंत्री एचएन मिश्र ने कहा कि पदोन्नति में आरक्षण के प्रावधान के लिए राज्यसभा में विधेयक लाकर कांग्रेस असंवैधानिक कार्य कर रही है। जिलाध्यक्ष दिनेश चंद्र मिश्रा ने कहा कि आनन-फानन में लाया जा रहा यह विधेयक न्याय संगत नहीं। इसे तुरंत वापस लेना चाहिए। गया प्रसाद चौरसिया ने कहा कि जो लोग आरक्षण में एक बार सेवा पा लेते हैं उनको बार-बार आरक्षण देना उचित नहीं है। मिनिस्ट्रीयल सर्विस एसोसिएशन केजिला सचिव रामेंद्र मिश्रा ने कहा कि इस विधेयक का समर्थन करने वाली राजनैतिक पार्टियों का विरोध किया जाना चाहिए। प्रतीक गुप्ता ने कहा कि प्रमोशन में आरक्षण किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अवर अभियंता शैलेंद्र कुमार अवस्थी ने कहा प्रमोशन में आरक्षण देने को संविधान में संशोधन करना अन्य वर्गों के साथ अन्याय पूर्ण कार्यवाही होगी।
सभा में सिंचाई विभाग नहर खंड के अधिशासी अभियंता इं. मो. अबु तालिब, सहायक अभियंता महेंद्र सिंह, भानु प्रताप सिंह यादव, डीके राजपूत, एसके पांडेय, दीपक राजपूत, रहमान, केके सक्सेना, अब्दुल वाहिद, राजेश सक्सेना, सर्वेश कुमार मिश्रा आदि ने आरक्षण पर विरोध जताया।
उधर, जागृति परिषद ने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपा है। ज्ञापन में कहा गया कि आरक्षण संविधान के विपरीत है। इसलिए इसे समाप्त किया जाना चाहिए। ज्ञापन देने वालों में संयोजक कृष्ण कुमार सक्सेना, धर्मेंद्र मोहन वाजपेयी आदि अधिवक्तागण शामिल रहे।
उसके अलावा सेंट्रल बार एसोसिएशन की बैठक में भारत सरकार की ओर से प्रोन्नति में आरक्षण का विरोध किया गया। कहा गया कि सरकार लोकसभा और राज्यसभा में जबरदस्ती बिल पास कराने का प्रयास कर रही है। बिल पास होने से वर्ग संघर्ष होने की प्रबल संभावना है, जिस कारण लोगों में असंतोष व्याप्त है। इसी के विरोध में वकील गुरुवार को न्यायिक कार्य से विरत रहे। बैठक की अध्यक्षता बार के अध्यक्ष एजाज हसन खां ने की। संचालन महासचिव कमलेश सक्सेना ने किया।


व्यापार संगठन ने बसपा
का पुतला फूंका, प्रदर्शन
शाहजहांपुर। प्रमोशन में आरक्षण को लेकर संसद में सांसद नरेश अग्रवाल के साथ हुई हाथापाई के विरोध में उद्योग व्यापार संगठन के पदाधिकारियों ने प्रदेशव्यापी आह्वान पर कलक्ट्रेट गेट पर बसपा का पुतला फूंका। प्रदर्शनकारियों ने संगठन केसंरक्षक नरेश अग्रवाल के साथ बसपा सांसद अवतार सिंह द्वारा की गई हाथापाई पर रोष जताते हुए बसपा मुखिया मायावती के खिलाफ नारेबाजी की। इस मौके पर जिलाध्यक्ष विशेश्वर नाथ हांडा, नगराध्यक्ष जसविंदंर सिंह, मिर्जा मुजफ्फर बेग, इसहाक रजा कादरी, अशोक खन्ना, धीरेंद्र त्यागी आदि शामिल रहे।

Spotlight

Most Read

Varanasi

बिरहा प्रतियोगिता के चयन पर उठ रहे सवाल

बिरहा प्रतियोगिता के चयन पर उठ रहे सवाल

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के दो दिन तक बंधक बनाकर किया गैंगरेप

यूपी में जहां एक तरफ अपराधियों पर नकेल कसने के लिए ताबड़तोड़ मुठभेड़ हो रही हैं। वहीं दूसरी तरफ महिलाओं से गैंगरेप की घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। ताजा मामला शाहजहांपुर का है।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper