24 घंटे में 66.6 मिमी. बारिश रिकार्ड

Shahjahanpur Updated Sun, 26 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
सड़कों पर भारी जलभराव, खेत भी हुए पानी से लबालब
- बारिश में मोहम्मद जई निवासी अनवरी का मकान ढहा
- तहसीलदार के अलावा पालिकाध्यक्ष भी मौके पर पहुंचे
सिटी रिपोर्टर
शाहजहांपुर। मानसून सत्र में अब बारिश ने रफ्तार पकड़ ली है। शुक्रवार की रात से शुरू हुईझमाझम बारिश से सड़कें लबालब हो गईं। वहीं खेतों में भी चौतरफा पानी दिखाई देने लगा। बीते 24 घंटे के दौरान66.6 मिमी. बारिश रिकार्ड की गई, जबकि इस सीजन में अब तक कुल 654.0 मिमी. बारिश हुई है। बारिश के दौरान मो. मोहम्मद जई निवासी अनवरी की मकान ढह गया।
आसमान में घिरे काले बादलों ने रात में ही जमकर बरसना शुरू कर दिया, जो आज दिन भर तक कभी तेज और कभी हल्की रफ्तार में बरसते रहे। लगातार बारिश होने से मौसम भी खुशगवार हो गया। वहीं फसलों के लिए भी यह बारिश खासी लाभकारी साबित हुई है। लगातार बारिश से शहर केकई हिस्सों में जलभराव की स्थिति बन गई। लाल इमली चौराहा, टाऊन हाल, गोविंद गंज, जेल रोड,अंटा चौराहा, बेरी चौराहा आदि स्थानों पर जलभराव की स्थिति बन गई। गन्ना शोध परिषद के सहायक वैज्ञानिक अधिकारी एसपी सिंह ने बताया कि बीते 24 घंटे में 66.6 मिमी. बारिश रिकार्ड की गई है।
तेज बारिश के दौरान ही मो. मोहम्मद जई मंडी में रहने वाली अनवरी का खपरैल का मकान ढह गया। पालिकाध्यक्ष तनवीर खां ने मौके पर पहुंचकर महिला को मकान बनाने के लिए मदद का आश्वासन दिया।
इधर, तहसीलदार सदर अशोक कुमार सिंह ने भी सूचना मिलने पर राजस्व कर्मियों को मौका मुआयना करने के लिए भेजा है। श्री सिंह का कहना है कि यदि दैवीय आपदा की श्रेणी में मामला आता है तो नियमानुसार सहायता दी जाएगी।


बारिश से सड़कों पर हुई फिसलन, आवागमन में दिक्कत
शाहजहांपुर। जल निगम ने पानी की पाइप लाइन डालने को शहर की कई सड़कों को खोदकर छोड़ दिया है। मिट्टी भी वहीं पड़े होने से बारिश में ही वह बहने लगी है, जिससे फिसलन बढ़ गई है। शहर के सबसे व्यस्ततम इलाके सदर बाजार, टाऊनहाल, कचहरी रोड, गोविंद गंद आदि में बारिश से सड़कों का बुरा हाल है।

मंदिर के गुंबद पर गिरी बिजली, तीन कबूतर मरे
शाहजहांपुर। दोपहर को हुई झमाझम बारिश के दौरान चौक स्थित मां फूलमती मंदिर परिसर में बने अंबरदास मंदिर (भैरों बाबा मंदिर) में बिजली गिर गई। इससे कोई जनहानि तो नहीं हुई, अलबत्ता मंदिर में बरसात से बचने को बैठे तीन कबूतरों को जरूर जान से हाथ धोना पड़ा। इतना ही नहीं आसपास के लोगों को भी नुकसान हुआ।
बिजली लगभग तीन सौ साल पुराने अंबरदास मंदिर के गुंबद से रगड़ती हुई निकली, जिससे मंदिर भी बाल-बाल बच गया। इसका कुछ हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। मंदिर का प्लास्टर और ईंटों के टुकड़े आसपास के घरों में जाकर गिरे। लोग घरों से बाहर निकल आए और मंदिर की ओर भागने लगे।
इस मंदिर में अशोक शुक्ला रहते हैं। बिजली गिरने से वहां छिपे तीन कबूतर बुरी तरह झुलस गए। छत पर कबूतरों के पर टूटकर बिखर गए। इसके अलावा समीप के ही अमित वर्मा के कमरे में रखी इन्वर्टर की बैटरी फट गई। वहीं सलोनी मेहरोत्रा का टीवी और इन्वर्टर तथा पप्पू पांडेय का टीवी भी क्षतिग्रस्त हो गया। मंदिर पर बिजली गिरने की भनक लगते ही लोगों का वहां हुजूम उमड़ पड़ा।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Rampur

सीआरपीएफ आतंकी हमले के मामले की सुनवाई टली

सीआरपीएफ आतंकी हमले के मामले की सुनवाई टली

25 मई 2018

Related Videos

कुछ ऐसा हुआ कि दुल्हन के दरवाजे से ही भाग खड़े हुए बाराती

शाहजहांपुर में हर्ष फायरिंग में एक युवक की जान चली गई। बारात दुल्हन के दरवाजे तक पहुंच चुकी थी, डांस चल रहा था लेकिन इसी बीच हर्ष फायरिंग के दौरान एक गोली लाइट उठाने वाले लड़के की गर्दन में जा लगी जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

29 अप्रैल 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कि कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स और सोशल मीडिया साइट्स के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं।आप कुकीज़ नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज़ हटा सकते हैं और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डेटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते है हमारी Cookies Policy और Privacy Policy के बारे में और पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen