कांट हादसे का विरोध पड़ा महंगा

Shahjahanpur Updated Sun, 19 Aug 2012 12:00 PM IST
जाम लगाने वालों को पुलिस ने लठियाया, भगदड़ में दो लोग घायल
- पुलिस ने 60 के खिलाफ दर्ज किया मुकदमा
अमर उजाला नेटवर्क
शाहजहांपुर/ कांट। चार लोगों की मौत के बाद जलालाबाद मार्ग पर जाम लगा रहे ग्रामीणों को पुलिस ने लाठियां फटकारते हुए खदेड़ दिया। बल प्रयोग होता देख ग्रामीणों में भगदड़ मच गई। पुलिस वालों की टार्च लगने से एक महिला और ग्रामीण भी घायल हो गया। ग्रामीणों के भाग जाने के बाद जाम खुद ब खुद खुल गया। पुलिस ने जाम लगाने के मामले में 50-60 अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है।
शुक्रवार की देर रात जलालाबाद की ओर से आ रही टवेरा गाड़ी ने कांट के गांव पिपरौला के पास राहगीरों को रौंद दिया था। हादसे में चार लोगों की मौत हो गई थी। इसके विरोध में ग्रामीणों ने जलालाबाद मार्ग पर जाम लगा दिया था। इधर से गुजरने वाले वाहनों पर पथराव किया गया था, जिससे एक रोडवेज बस क्षतिग्रस्त हो गई थी। रात साढ़े बारह बजे तक जाम नहीं खुल पाया था। इस पर पुलिस ने जाम लगाने वालों पर बल प्रयोग किया। लाठियां फटकारते हुए उन्हें खदेड़ दिया गया। जिससे भगदड़ मच गई और सिपाही की टार्च लगने से गांव का राधेश्याम व ननकू की पत्नी घायल हो गईं। जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। उधर, पुलिस ने जाम लगाने के आरोप में 50-60 अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है।


‘लाठी चार्ज नहीं, बल्कि भड़की भीड़ को तितर-बितर किया गया था। जाम लगाने और वाहनों पर पथराव के मामले में 50-60 अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।’
- राजवीर सिंह, इंस्पेक्टर जलालाबाद





हादसे में मरे जीप
चालक की शिनाख्त
- जलालाबाद से हरिद्वार टवेरा लेकर जा रहा था प्रदीप
सिटी रिपोर्टर
शाहजहांपुर। कांट हादसे में मरने वाले चौथे मृतक के शव की शिनाख्त हो गई है। वह टवेरा का चालक प्रदीप पांडे निवासी मोहल्ला कानूनगोयान कस्बा जलालाबाद निकला। शव की शिनाख्त होने के बाद परिजन यहां आ गए और उसके शव को पोस्टमार्टम के बाद ले गए। सीओ सदर संजय ने बताया कि प्रदीप टवेरा चला रहा था। यह गाड़ी जलालाबाद के ही रहने वाले रिटायर्ड दरोगा तेजराम मिश्रा की थी। जिसे प्रदीप जलालाबाद से लेकर हरिद्वार जा रहा था। इसके अलावा हादसे में मरी बालिका नेहा, नन्हीं देवी और युवक पिंटू के शव का आज पोस्टमार्टम हुआ। पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव गांव ले गए और अंतिम संस्कार कर दिया। गांव में खासा गमगीन माहौल रहा। परिजन बुरी तरह से रो रहे थे।





एक्सीडेंट से नहीं
पिटाई से मरा प्रदीप
अमर उजाला नेटवर्क
जलालाबाद। मृतक प्रदीप पांडेय के परिजनों का आरोप है कि उसकी मौत दुर्घटना में नहीं, बल्कि एक्सीडेंट के बाद मौके से भाग रहे प्रदीप को ग्रामीणों ने पकड़ने के बाद पीट कर मार डाला। प्रदीप की शादी करीब एक साल पहले ही कविता के साथ हुई थी, अभी उसके कोई संतान भी नहीं है। प्रदीप के पिता की मृत्यु काफी समय पूर्व हो चुकी है, प्रदीप ही पूरे घर में एक कमाऊ सदस्य था। उसकी असमय मौत से पूरे घर में कोहराम है।
इस मामले में मृतक के घर वालों का कहना है कि दुर्घटना के बाद प्रदीप मौके से भागने की कोशिश में था कि ग्रामीणों ने उसे दबोच लिया और उसकी बुरी तरह पिटाई लगाई जिससे उसकी मौत हो गई।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

हरियाणाः यमुनानगर में 12वीं के छात्र ने लेडी प्रिंसिपल को मारी तीन गोलियां, मौत

हरियाणा के यमुनानगर में आज स्कूल में घुसकर प्रिंसिपल की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मामले में 12वीं के एक छात्र को गिरफ्तार किया गया है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

शाहजहांपुर के अटसलिया गांव में नहीं हो रही लड़कों की शादी, ये है वजह

केंद्र सरकार खुले में शौच से मुक्ति दिलाने के लिए स्वच्छ भारत मिशन के तहत करोड़ों रुपये खर्च कर रही है, लेकिन यूपी के शाहजहांपुर जिले में एक गांव ऐसा है जहां महिलाओं को आज भी खुले में शौच जाना पड़ता है।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper