ट्रैफिक सुधार को एसपी ने बनाए ट्रैफिक वार्डन

Shahjahanpur Updated Wed, 01 Aug 2012 12:00 PM IST
शहर को जाम से बचाने की एक ओर कवायद
- एसपी ने जारी किए 37 लोगों को परिचय पत्र
सिटी रिपोर्टर
शाहजहांपुर। शहर में लगने वाले जाम के झाम से निपटने के लिए पुलिस ने आम नागरिकों के सहयोग लेने की भी योजना बनाई है। इसके तहत शहर में 37 ट्रैफिक वार्डन नियुक्त किए गए हैं, जिनको एसपी डॉ. एके राघव ने परिचय पत्र भी जारी किए हैं।
शहर में वाहनों की संख्या बढ़ती जा रही है। ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की संख्या पहले से ही कम हैं। यहां एक उपनिरीक्षक के अलावा चार हेडकांस्टेबिल और 14 कांस्टेबिल ही यातयात पुलिस में हैं, जबकि शहर की आबादी के हिसाब से कम से कम 35 सिपाही ट्रैफिक के होने चाहिए। जिन्हें प्रमुख चौराहों पर लगाकर जाम की समस्या से निपटा जा सके। पुलिस की कमी के चलते शहर में आए दिन जाम की समस्या रहती है। इससे निजात के लिए एसपी ने नागरिकों के सहयोग की योजना बनाई है। पुलिस मित्र की तर्ज पर ट्रैफिक व्यवस्था के लिए ट्रैफिक वार्डन की नियुक्ति की गई है। शहर में 37 ट्रैफिक वार्डन बनाए गए हैं, जिनका बाकायदा परिचय पत्र जारी किया गया है। मंगलवार को एसपी डॉ. एके राघव ने ट्रैफिक वार्डन को परिचय पत्र भी सौंपे।



यह करना होगा ट्रैफिक वार्डन को
- उच्च अधिकारीगण के निर्देशों का जनता में प्रचार प्रसार करना
- यातायात नियमों के प्रति जनता में जागरूकता उत्पन्न करना
- मेला, जुलूस एवं अन्य पर्वों पर ट्रैफिक ड्यूटी करना
- यातयात माह, यातायात के प्रति जागरूकता के दौरान सहयोग करना
- विभिन्न मौकों पर रूट डायवर्जन के बारे में लोगों को जानकारी देना

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

प्रेम में बदनामी के डर से नाबालिग ने खुद को फूंका

शाहजहांपुर में एक नाबालिग लड़की ने बदनामी के डर से आग लगाकर जान दे दी। लड़की के प्रेमी ने लड़की के घर फोन करके दोनों के प्रेम प्रसंग की बात कही। जिसके बाद लड़की ने बदनामी से बचने के लिए ये कदम उठाया।

22 जनवरी 2018