हत्या में पिता-पुत्र समेत चार को उम्रकैद

Shahjahanpur Updated Fri, 08 Jun 2012 12:00 PM IST
शाहजहांपुर। अपर जिला जज अमरजीत वर्मा ने हत्या के मुकदमे में पिता-पुत्र समेत चार आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है।
अभियोजन पक्ष के अनुसार जलालाबाद क्षेत्र के चौक मनोरथपुर निवासी शांति देवी ने पुत्र राकेश की हत्या करने में गांव चौक मनोला निवासी संजू और उनके पिता नरेंद्रपाल सिंह, बाबा और गांव ककराला निवासी रामलड़ैते के विरुद्ध थाना जलालाबाद में रिपोर्ट दर्ज कराई थी।
रिपोर्ट के अनुसार 11 अक्तूबर 2007 की शाम को यह लोग उसके पुत्र राकेश को तालाब की मछली रखाने के लिए घर से बुलाकर ले गए। वह अपने पुत्र की तलाश करता रहा, परंतु उसका पता नहीं चला। 17 अक्तूबर 2007 को उसके पुत्र की लाश बाजरे के खेत से बरामद हुई। घटना रंजिशवश हुई।
अदालत में मुकदमा चलने के दौरान गवाहों के बयानात तथा सरकारी वकील संजय सिंह तोमर के तर्कों को सुनने के बाद जज ने इन आरोपियों को दोषी पाते हुए उन्हें आजीवन कारावास तथा 11-11 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

प्रेम में बदनामी के डर से नाबालिग ने खुद को फूंका

शाहजहांपुर में एक नाबालिग लड़की ने बदनामी के डर से आग लगाकर जान दे दी। लड़की के प्रेमी ने लड़की के घर फोन करके दोनों के प्रेम प्रसंग की बात कही। जिसके बाद लड़की ने बदनामी से बचने के लिए ये कदम उठाया।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls