70 हजार एमटी गेहूं की सुरक्षा दांव पर

Shahjahanpur Updated Mon, 07 May 2012 12:00 PM IST
हाल मूल्य समर्थन योजना के तहत गेहूं खरीद का
- गेहूं खरीद में कहीं स्टोरेज की समस्या, तो कहीं वारदाने की
- प्रशासन 37 हजार एमटी गेहूं का करा सका सुरक्षित भंडारण
- मौसम की बदमिजाजी से बचने को भी नहीं पुख्ता इंतजाम
सिटी रिपोर्टर
शाहजहांपुर। सरकारी गेहूं खरीद तमाम समस्याओं से जूझ रही है। कहीं वारदाना नहीं, तो कहीं गेहूं के भंडारण की समस्या है। अभी तक हुई 1.07 लाख एमटी गेहूं में से मात्र 37 हजार एमटी गेहूं का सुरक्षित भंडारण हो सका है, जबकि 70 हजार एमटी गेहूं की सुरक्षा दांव पर लगी हुई है, जो खरीद केंद्रों पर खुले आसमान के नीचे पड़ा हुआ है। अगर मौसम की बदमिजाजी हुई और बारिश का आगाज हुआ तो करोड़ों का गेहूं बचाना मुश्किल होगा।
मूल्य समर्थन योजना के तहत एक अप्रैल से सरकारी एजेंसियों के विभिन्न खरीद केंद्रों पर शुरू हुई गेहूं खरीद में अब तक 1.07 लाख एमटी गेहूं की खरीद हो चुकी है लेकिन उसके सुरक्षित भंडारण के इंतजाम प्रशासन के पास नही है। भारतीय खाद्य निगम के पास जो गोदाम हैं, वह पहले से ही खाद्यान्न से भरे हैं, हालांकि अब रेलवे रैकों से गोदामों से माल की डिलीवरी की सिलसिला शुरू हुआ है लेकिन उसकी मध्यम गति होना प्रशासन की चिंता का विषय बना हुआ है। प्रशासन ने केंद्रों पर खरीदे गए गेहूं की सुरक्षा के लिए कुछ नए स्टोरेज प्वाइंट तैयार किए हैं, लेकिन वह भी नाकाफी हैं।
गेहूं खरीद में जहां स्टोरेज और अनलोडिंग की समस्या आडे़ आ रही है, वहीं केंद्रों पर वारदाने की समस्या भी बनी हुई है। खरीद केंद्रों पर आवश्यकता अनुसार वारदाना मुहैया नहीं होने के कारण केंद्र प्रभारियों के हाथ-पांव फूले हैं। ऐसे में वारदाने केअभाव में भारी मात्रा में गेहूं खुले आसमान के नीचे ढेर लगा है। ऐसे में अगर बारिश हो जाए तो इस गेहूं की क्या हालत होगी? इसका अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है।


पॉलीथिन की व्यवस्था करने के दिए हैं निर्देश
सरकारी केंद्रोें पर अब तक 1.07 लाख एमटी गेहूं की खरीद हो चुकी है। इसमें से 37 हजार एमटी का भंडारण किया गया है। यदि बारिश होती है तो उसके लिए पॉलीथिन की व्यवस्था करने के निर्देश भी दिए गए हैं। जहां तक वारदाने की समस्या का सवाल है, उसके लिए कोलकाता से रेलवे रैक आने वाली है। उम्मीद है जल्द ही वारदाने की समस्या से निजात मिल जाएगी।
0000 अजीत कुमार त्रिपाठी, डिप्टी आरएमओ।


एफसीआई गोदामों पर लगी ट्रकों की कतारें
एफसीआई के गोदामों पर गेहूं लदे ट्रकों की कई दिनों से कतारें लगी हैं, लेकिन समय से उतार नहीं हो पा रहा है। इससे जहां ट्रांसपोर्टर्स को आर्थिक नुकसान झेलना पड़ रहा है, वहीं केंद्रों से गेहूं की उठान की गति धीमी हो गई है। एफसीआई के अधिकारियों को इस संबंध में प्रशासन की ओर से लगातार पत्राचार किया जा रहा है।

24 घंटे में हो सकता है आंधी-बारिश का सामना
मानसून का दबाव लगातर बढ़ रहा है। ऐसी स्थिति में आंधी और बारिश की संभावना बढ़ गई है। मौसम में गर्मी और आसमान में बादलों का छाना इस बात का संकेत है कि अगले 24 घंटे में आंधी-बारिश का सामना हो सकता है। आज का अधिकतम तापमान 35.5 और न्यूनतम 21.5 डिग्री रिकार्ड किया गया है।
0000 एसपी सिंह, सहायक वैज्ञानिक, गन्ना शोध परिषद

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

प्रेम में बदनामी के डर से नाबालिग ने खुद को फूंका

शाहजहांपुर में एक नाबालिग लड़की ने बदनामी के डर से आग लगाकर जान दे दी। लड़की के प्रेमी ने लड़की के घर फोन करके दोनों के प्रेम प्रसंग की बात कही। जिसके बाद लड़की ने बदनामी से बचने के लिए ये कदम उठाया।

22 जनवरी 2018