बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

अफसरों के रात्रि विश्राम का आंखों देखा हाल....

Updated Mon, 05 Jun 2017 10:03 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
सिंधौली (शाहजहांपुर)। हर दिन सूनसान रहने वाली बिलंदपुर से ईंटारोडा गांव को जाने वाली टूटी सड़क में शनिवार को खासी रौनक थी। अधिकारियों की गाड़ियां फर्राटा भर रही थी। मौका था गांव में डीएम समेत गांव के आला अधिकारियों के रात्रि विश्राम कार्यक्रम का। लेकिन विभाग की लाख कोशिशों के बाद भी हर दिन की तरह शनिवार को भी बिजली ने धोखा दे दिया। अफसरों ने भी देखा कि किस तरह गांव के लोग बिना बिजली दुश्वारियां झेलते हैं। हालांकि जनरेटर की व्यवस्था की गई थी, जिसकी रोशनी में जैसे-तैसे अधिकारियों ने जनसमस्याएं सुनी। लेकिन वे रात भर रुकने की हिम्मत नहीं जुटा पाए और रात 11 बजे ही अफसरों की गाड़ियों वहां से रवाना हो गई। इस दौरान सबसे ज्यादा शिकायतें भी बिजली विभाग की ही आई।
विज्ञापन

शनिवार को माहौल किसी बारात से कम नहीं था। टेंट लगा, हलवाई आए गांव की महिलाओं और आमजनों को टेंट में बुलाया गया, ठीक शाम 7:47 बजे डीएम की गाड़ी आकर प्राइमरी स्कूल के पास रुकी गांव के लोगों ने डीएम का स्वागत किसी बारात की तरह किया। डीएम तो आ गए लेकिन अंधेरे में। बिजली विभाग को कई दिन पहले सूचना भी मिल गई थी इसके बाद भी बिजली सप्लाई नहीं आ रही थी। जनरेटर की रोशनी में स्वागत समारोह के बाद समीक्षा का दौर चला। सबसे पहले स्वास्थ्य विभाग का नंबर आया। सीएमओ डॉक्टर कमल कुमार ने माइक थाम विभाग की योजनाओं को गिनाना शुरू किया, इस बीच डीएम नरेंद्र कुमार सिंह ने उनसे कान में कुछ कहा। सीएमओ ने तत्काल गांव की एएनएम को तलब किया। टीकाकारण की स्थिति बताने को कहा। गांव का टीकाकरण पूर्ण निकला। इस दौरान डीएम ने गांव के लोगों से पूछा कि किस-किस के यहां प्राइवेट अस्पताल में डिलीवरी हुई। इस पर पूरे गांव का कोई भी व्यक्ति नहीं बोला। डीपीआरओ ने माइक थामते हुए कहा कि ‘क्या बात है बड़ा शांत गांव है किसी को विभाग से कोई शिकायत ही नहीं है।’ बाल विकास विभाग की समीक्षा के दौरान आंगनबाड़ी कार्यकत्री से आयरन की गोली के बारे में जानकारी ली। इस बीच डीएम ने गांव की किशोरियों को बुला लिया और पूछा कि ‘कौन से रंग की गोली खिलाई जाती है। एक ने बता दिया नीले रंग की।’


0000000
बिजली विभाग के एक्सईएन को फटकार
इसके बाद बिजली विभाग की समीक्षा हुई तो शिकायतों की झड़ी लग गई। शिकायत कर्ताओं की भीड़ देख पीडी को कहना पड़ा कि पहले विभाग की योजनाओं को बता लेने दीजिए बाद में सभी शिकायतों का निस्तारण कर दिया जाएगा। दिलावरपुर गांव में खंभे लगे होने के बाद भी कई माह से बिजली न आने की शिकायत की गई। अधिशासी अभियंता बिजली ने कहा कि काम चल रहा है जल्दी ही इस दिक्कत को हल कर लिया जाएगा। इस पर डीएम ने फटकार लगाते हुए कहा कि बिजली से संबंधित कोई भी शिकायत गांव में नहीं रहनी चाहिए। लो वोल्टेज की समस्या पर निर्देश दिया कि ईंटारोड़ा की बिजली सिंधौली सब स्टेशन से की जाए।

000000
और अधूरा रह गया गांव वालों का सपना
गांव के लोगों में बड़ा कौतूहल था कि देखेंगे कि जिले के अधिकारी कैसे मच्छरदानियों में चारपाई पर सोते हैं। रात में खातिरदारी में जो कमी रह गई थी उसे सुबह पूरा किया जाएगा। अधिकारी भी गांव के लोगों की दिनचर्या देखते। लेकिन उनका सपना पूरा नहीं हो सका। संभवत: बिजली न आने के कारण अधिकारी रात में रुकने की हिम्मत जुटा नहीं पाए। नतीजतन रात्रि विश्राम को आए अफसरों की गाड़ियां रात 11 बजे ही फर्राटा भरती हुई गांव से निकल गई।

0000
यह अधिकारी रहे मौजूद
सीडीओ टीके शिबु, पीडी अभय कुमार, बीडीओ कंचनमाला, एडीओ पंचायत महराज सिंह, प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉक्टर लईक अहमद अंसारी, डॉक्टर कालीचरन, लेखपाल शिवाकांत बाजपेई, डीपीओ विजयश्री, उप निदेशक कृषि प्रभाकर सिंह, ग्राम प्रधान अवधेश सिंह सहित जिले के सभी प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे।

कोट्स
जन समस्याओं का निस्तारण कराने के लिए विभिन्न विभागों के अधिकारियों, कर्मचारियों ने दो दिन पहले से ईटारोड़ा गांव में भ्रमण शुरू कर दिया था। शाम से देर रात तक तमाम ग्रामीणों की समस्याओं की सुनवाई कर उनका निस्तारण कराया गया। बाद में गांव के अन्य लोगों ने पहुंचना बंद कर दिया और ऐसी स्थिति में अधिकारी भी मुख्यालय पर लौट आए।
- टीके शिबु , मुख्य विकास अधिकारी

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us