खलीलाबाद नगर पालिका की बढ़ेगी सीमा, 16 ग्राम पंचायतें होंगी शामिल

Gorakhpur Bureauगोरखपुर ब्यूरो Updated Tue, 03 Dec 2019 11:45 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
खलीलाबाद नगर पालिका की बढ़ेगी सीमा, 16 ग्राम पंचायतें होंगी शामिल
विज्ञापन
कैबिनेट की बैठक में सीमा विस्तार के प्रस्ताव पर लगी मुहर, वर्ष 2016 में भेजा गया था प्रस्ताव
अमर उजाला ब्यूरो
संतकबीरनगर। आखिरकार साढ़े साल से लंबित सीमा विस्तार के प्रस्ताव को मंगलवार को कैबिनेट की बैठक में स्वीकृति मिल गई। नई सीमा में 16 नई ग्राम पंचायतें शामिल होंगी। इससे पालिका क्षेत्र का क्षेत्रफल बढ़ेगा ही, सीमा में आने वाले 16 ग्राम पंचायतों के करीब 45 हजार नागरिकों की सुविधाएं भी बढ़ेंगी। सीमा विस्तार के बाद अधिकारी आगे की प्रक्रिया में जुट गए हैं।
वर्ष 1963 में खलीलाबाद अधिसूचित क्षेत्र घोषित हुआ था। 1981 में खलीलाबाद को नगर पालिका परिषद का दर्जा मिला था। 25 वार्डो में बंटे नगर पालिका क्षेत्र की वर्तमान में आबादी करीब 65 हजार है। सीमा विस्तार के बाद पालिका क्षेत्र की आबादी 1.10 लाख हो जाएगी।
वर्ष 1997 में संतकबीरनगर के नाम से जनपद सृजित हुआ तो खलीलाबाद जनपद मुख्यालय बना। ऐसे में कलेक्ट्रेट, विकास भवन, जिला अस्पताल, बेसिक शिक्षा कार्यालय,डीआईओएस कार्यालय, एआरटीओ कार्यालय ,पुलिस आफिस, पुलिस लाइंस और डीएम- एसपी आवास आदि वर्तमान में नगर की सीमा से बाहर था।
16 जुलाई 2016 को पूर्व डीएम सरोज कुमार की ओर से नगर पालिका खलीलाबाद के सीमा विस्ताव का प्रस्ताव शासन को भेजा गया था। तभी से पत्रावली शासन में लंबित थी और इसके लिए लगातार डीएम और जनप्रतिनिधि के स्तर से पैरवी भी की जा रही थी।
नगर की सीमा में शामिल हुए 16 ग्राम पंचायतें
सीमा विस्तार से सरैया, मिश्रौलिया, नेदुला, पटखौली, सरौली, बड़गों, खटौली, मैलानी, मोहद्दीपुर, बेलवनिया, डीघा, कसैला, गौसपुर, बनियाबारी, सादिकगंज और उस्का खुर्द जुड़ जाएगा। इन स्थानों का विकास तेजी से होगा। यहां बसने वाले लोग शहर के दायरे में आएंगे और शहरी सुविधाएं प्राप्त कर सकेंगे।
नगर पालिका खलीलाबाद के सीमा विस्तार के प्रस्ताव को कैबिनेट की बैठक में मंजूरी मिल गई है। नए क्षेत्र का समुचित विकास होगा। - श्याम सुंदर वर्मा, चेयरमैन
सीमा विस्तार के बाद कलेक्ट्रेट और इसके आसपास के सरकारी कार्यालय भी नगर क्षेत्र में आ जाएंगे। पालिका का बजट बढ़ेगा। इससे विकास को गति मिलेगी। नए क्षेत्र को सुनियोजित ढंग निर्माण कार्य कराए जाएंगे। इससे शहर का स्वरूप भी आकर्षक होगा।
- बीना सिंह, ईओ
फोटो के साथ--
बखिरा में बहेगी विकास की बयार
नई नगर पंचायत बनाने की घोषणा से झूमे लोग
अमर उजाला ब्यूरो
बखिरा/ संतकबीरनगर। आखिरकार पांच साल बाद इमामुद्दीन की मेहनत रंग लाई। बुनकर महासभा के जिलाध्यक्ष द्वारा बखिरा को नगर पंचायत का दर्जा दिलाने सितंबर 2014 मेें प्रयास शुरू किया गया था। मंगलवार को कैबिनेट की बैठक में नगर पंचायत बनाने का प्रस्ताव पास भी हो गया। नई नगर पंचायत में 15 अन्य ग्राम पंचायतें भी शामिल होंगी। प्रस्ताव पास होते ही क्षेत्र के लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई।
बखिरा में बर्तन कारोबार, प्रसिद्ध झील व पक्षी विहार समेत अन्य सरकारी व प्राइवेट संस्थानों के बावजूद ग्राम पंचायत होने से इसका विकास बाधित था। लंबे समय से बखिरा को नगर पंचायत बनाने की मांग उठ रही थी। जनप्रतिनिधियों के स्तर से पहल भी की गई थी,लेकिन सफलता हासिल नहीं मिली थी। मेंहदावल विधायक राकेश सिंह बघेल ने कहा कि बखिरा के नगर पंचायत बनने से यहां का ठप पड़ा विकास अब तेजी के साथ होगा। यहां के लोगों को शहरी सुविधाएं मिलेगी। बखिरा को नई नगर पंचायत बनाने पर हीरालाल गुप्त, हरिश्चंद्र (बचान बाबू), सुनील सिंह, दयाशंकर, राजेश गुप्त, ओमप्रकाश सिंह, चंद्रप्रकाश, जयप्रकाश, अवधनरेश कसेरा, नंदलाल, विवेकानंद त्रिपाठी, राजेश गोविल, पप्पू वर्मा, विनोद गुप्ता, सुधाकर मिश्र ने खुशी जताई।
इंसेट
बखिरा नगर पंचायत में शामिल होने वाली ग्राम पंचायतें
बखिरा, तरकुलवा, अमरडोभा, लेडुआ-महुआ, झुंगिया, बूंदीपार, नौरो, सिंहोरवा, मेडरापार, बरईपार, संतोषपुर, शनिचरा, जसवल-भरवलिया, छपिया, तिलाठी, चिलवनखोर।
2015 में चला था हस्ताक्षर अभियान
बुनकर सभा के जिलाध्यक्ष इमामुद्दीन अंसारी ने बखिरा नगर पंचायत की घोषणा पर मुख्यमंत्री आदित्यनाथ व मेंहदावल विधायक राकेश सिंह बघेल को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि बखिरा नगर पंचायत के लिए सितंबर 2014 में तत्कालीन जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया गया था। 2015 में तरकुलवा, अमरडोभा, लेडुआ महुआ, बूंदीपार व मेडरापार में नगर पंचायत गठन के लिए एक हस्ताक्षर अभियान भी चलाया गया था। इसके बाद भी कई बार आंदोलन हुआ था।
विज्ञापन
विज्ञापन

Recommended

आईआईटी से कम नहीं एलपीयू, जानिए कैसे
LPU

आईआईटी से कम नहीं एलपीयू, जानिए कैसे

गुप्त नवरात्रों की नवमी को कामाख्या देवी मंदिर में कराएं दुर्गा सप्तशती पाठ और हवन, मिलेगी हर बाधा से मुक्ति : 3-फरवरी-2020
Astrology Services

गुप्त नवरात्रों की नवमी को कामाख्या देवी मंदिर में कराएं दुर्गा सप्तशती पाठ और हवन, मिलेगी हर बाधा से मुक्ति : 3-फरवरी-2020

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Sant Kabir Nagar

हादसे में बाइक सवार युवक की मौत, दूसरा गंभीर

हादसे में बाइक सवार युवक की मौत, दूसरा गंभीर

29 जनवरी 2020

विज्ञापन

30 जनवरी राशिफल | ऐसा रहेगा आपका दिन, देखिए क्या कहती है आपकी राशि?

यहां देखिए क्या कहता है 30 जनवरी का आपका राशिफल इतना ही नहीं अब हर रोज दिन के हिसाब से जानिए अपना राशिफल।

29 जनवरी 2020

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us