झील में प्रवासी पक्षी बने आकर्षण के केंद्र

Sant kabir nagar Updated Sat, 25 Jan 2014 05:46 AM IST
बखिरा। मौसम अनुकूल होने से इस साल बखिरा पक्षी विहार में विदेशी पक्षियों की आवक में वृद्धि हुई है। इनकी चहचहाहट से झील की रमणीयता बढ़ गई है। दूसरे जनपदों के प्रशासनिक अधिकारी भी यहां सैर करने आने लगे हैं। झील के विकास की तरफ शासन-प्रशासन उदासीन है। झील सिर्फ पिकनिक स्पॉट बन कर गया है। वन विभाग के अधिकारियों की मानें तो इस साल 35,000 पक्षी आए हैं।
ठंडे जलवायु वाले राष्ट्र यूरोप, रूस, साइबेरिया से तीन से पांच हजार किलोमीटर की दूरी तय करके प्रवासी पक्षी बखिरा झील में प्रत्येक वर्ष की भांति इस साल भी आए हैं। झील में तरपल मुरेन, जखाना, ई ग्रेट, पिजनटील, गेगरी, मखानी, जांगिल, लालसर, पटियरा, टिकिया, नीलसर, कामनड्रिल, रेडक्रेस्टेड, रेडक्रेस्टेड प्रोचर्ड, शवाह जैसे प्रवासी पक्षियों की चहचहाहट से समूचा जल क्षेत्र आकर्षण का केंद्र बन गया है। यहां बस्ती मंडल, गोरखपुर मंडल के प्रशासनिक अधिकारी झील में मनोरंजन कर पहुंच रहे हैं। झील के सुंदरीकरण की तरफ शासन-प्रशासन उदासीन है। वन क्षेत्राधिकारी की मानें तो इस साल मौसम के अनुकूल होने से विगत वर्षों की अपेक्षा इस साल अधिक प्रवासी पक्षी आए हैं। इस साल 35,000 पक्षियों के आगमन का अनुमान है। इसमें 250 की संख्या में लालसर पक्षी आए हैं।
क्षेत्र के अनिल कुमार, संजय वर्मा, विवेकानंद त्रिपाठी, सुंदर लाल गुप्ता बताते हैं कि बखिरा झील 28 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है। 1990 में पर्यटक स्थल घोषित होने से क्षेत्र के विकास की संभावना बढ़ी थी। लोगों को रोजगार के अवसर मिलने की उम्मीद थी लेकिन 14 साल बीत जाने के बाद भी पक्षी विहार का विकास नहीं हो पाया। झील में किसानों की जमीन के मुआवजे के लिए करीब 24 करोड़ का प्रस्ताव शासन को गया है लेकिन बजट अभी तक नहीं मिल पाया। झील में पक्षियों का शिकार हो रहा है। झील के आस-पास बसे गांवों के लोग मछली पकड़ने के बहाने पक्षियों का शिकार कर रहे हैं। जिम्मेदार विभाग इस पर रोक नहीं लगा पा रहा है।
दो फारेस्ट चौकी स्थापित करने के लिए शासन को प्रस्ताव भेजा गया था। एक चौकी को स्थापित करने की स्वीकृति मिल गई है। पक्षियों के शिकार पर रोक लगाने का पूरा प्रयास किया जा रहा है। अलग-अलग तिथियों में 10 शिकारियों को पकड़ा गया था। उनसे 65,000 रुपये प्रतिकर वसूले गए थे। शिकार को प्रतिबंधित करने के लिए झील में लोगों का प्रवेश रोकना ही एकमात्र विकल्प है।
- गौरीनाथ, वन क्षेत्राधिकारी

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

स्वास्थ्य कर्मचारियों को मिलेगा दोगुना वेतन, दिल्ली सरकार देने जा रही है तोहफा

सरकार ने इन कर्मचारियों का वेतन दोगुना करने के साथ-साथ हर साल चिकित्सीय अवकाश के तौर पर 15 दिन की छुट्टी देने का फैसला लिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

नए साल पर सीएम आदित्यनाथ ने वनटांगिया समुदाय को दिया ये तोहफा

नए साल पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने महराजगंज जनपद के पनियरा ब्लाक में वनटांगिया समुदाय को सौगात दी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को वनटांगिया समुदाय के 3779 लोगों को आवासीय भूमि का पट्टा प्रदान किया।

2 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper